1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. appreciation of home delivery of fresh vegetables through aajeevika farm fresh rural development secretary gave many instructions smj

आजीविका फार्म फ्रेश के जरिये ताजी सब्जियों की होम डिलिवरी की सराहना, ग्रामीण विकास सचिव ने दिये कई निर्देश

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
JSLPS की समीक्षा बैठक में झारखंड के ग्रामीण विकास विभाग सचिव डॉ मनीष रंजन ने दिये कई निर्देश.
JSLPS की समीक्षा बैठक में झारखंड के ग्रामीण विकास विभाग सचिव डॉ मनीष रंजन ने दिये कई निर्देश.
आजीविका.

Jharkhand News (रांची) : राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन अंतर्गत रांची में संचालित आजीविका फार्म फ्रेश के जरिये ताजी सब्जियों की होम डिलिवरी सर्विस की झारखंड ग्रामीण विकास सचिव डाॅ मनीष रंजन ने सराहना की है. साथ ही इसे अन्य जिलों में शुरू करने एवं पलाश उत्पादों को भी उसमें जोड़ने का निर्देश दिया है. इसके अलावा राज्य में जैविक खेती को बड़े स्तर पर बढ़ाने की जरूरत पर बल दिया.

ग्रामीण विकास विभाग के अधीन संचालित झारखंड स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी (JSLPS) द्वारा क्रियान्वित विभिन्न योजनाओं की प्रगति की ग्रामीण विकास सचिव डॉ मनीष रंजन ने रांची के हेहल स्थित JSLPS राज्य कार्यालय में समीक्षा की. इस मौके पर उन्होंने आजीविका फार्म फ्रेश मॉडल को अन्य जिलों में विस्तार करने के साथ-साथ सर्टिफिकेशन कराना भी सुनिश्चित करने पर जोर दिया, ताकि किसानों को उत्पादों की और अच्छी कीमत मिल सके.

जोहार परियोजना अंतर्गत उत्पादक कंपनियों के टर्न ओवर बढ़ायें

जोहार परियोजना के क्रियान्वयन में अपेक्षित गति लाने का निर्देश देते हुए डॉ मनीष रंजन ने कहा कि जोहार एक समयबद्ध परियोजना है जिसके लक्ष्यों को ससमय पाने के लिए मॉनिटरिंग पर ध्यान देने की जरूरत है. उन्होंने जोहार परियोजना द्वारा गठित उत्पादक कंपनियों की संख्या जरूरत मुताबिक बढ़ाने पर बल दिया एवं उत्पादक कंपनियों के टर्न ओवर पर चिंता जतायी.

जोहार अंतर्गत उत्पादों की बिक्री के ज्यादा अवसर किसानों को उपलब्ध कराने के लिए आवश्यक कार्रवाई करने का निदेश दिया. वहीं, जोहार अंतर्गत गठित उत्पादक कंपनियों के टर्न ओवर को परियोजना लक्ष्य मुताबिक 100 करोड़ तक ले जाने के लिए कार्य करने का निर्देश भी दिया.

ग्रामीण विकास सचिव ने जोहार परियोजना अंतर्गत उच्च मूल्य कृषि की गतिविधियों को धरातल पर उतारने के लिए मास्टर ट्रेनर की संख्या बढ़ाने एवं प्रशिक्षण की गुणवत्ता सुनिश्चित कर उसे और प्रभावी बनाने का निदेश दिया. जोहार अंतर्गत लिफ्ट सिंचाई परियोजना के क्रियान्वयन पर असंतोष जाहिर करते हुए उन्होंने लक्ष्य अनुरूप सिंचाई परियोजनाओं का लाभ ग्रामीण परिवारों तक पहुंचाना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया. सिंचाई यूनिट के रखरखाव के लिए स्थानीय उत्पादक समूहों को जागरूक करने की जरूरत पर कार्य करने की बात कही.

FFP भवन में दीदी कैंटीन खोलने पर जोर

डॉ रंजन ने कहा कि सखी मंडल की दीदियों को आर्थिक सबल बनाने के लिए क्रेडिट लिंकेज पर और ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है. वहीं, FFP भवन स्थित ग्रामीण विकास विभाग के कार्यालय में दीदी कैंटीन खोलने के लिए अवश्यक कदम उठाने का निर्देश भी दिया. इधर, समीक्षा बैठक में JSLPS CEO नैन्सी सहाय के अलावा NRLM, जोहार, महिला किसान सशक्तीकरण परियोजना एवं टपक सिंचाई परियोजना के क्रियान्वयन से जुड़े विभिन्न अधिकारियों से प्रगति पर सीधी चर्चा की गयी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें