1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. ajay agarwal flown in an open drain in pandara at ranchi not yet been traced ndrf team engaged in efforts smj

रांची के पंडरा में खुले नाले में बहे अजय अग्रवाल का अब तक नहीं चला पता, प्रयास में जुटी NDRF की टीम

झारखंड की राजधानी रांची में दो साल के अंदर खुले नाले में बहने की तीसरी घटना सामने आयी है. बुधवार को पंडरा के खुले नाले में सब्जी विक्रेता अजय अग्रवाल बह गये. अजय की खोजबीन में NDRF की टीम लगातार प्रयास कर रही है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
खुले नाले में बहे सब्जी विक्रेता अजय अग्रवाल की तलाश करती NDRF की टीम व स्थानीय लोग.
खुले नाले में बहे सब्जी विक्रेता अजय अग्रवाल की तलाश करती NDRF की टीम व स्थानीय लोग.
सोशल मीडिया.

Jharkhand News (रांची) : झारखंड की राजधानी रांची के पंडरा स्थित पंचशील नगर में खुले नाले में बहे सब्जी विक्रेता अजय प्रसाद अग्रवाल (55 वर्ष) का अब तक पता नहीं चला है. NDRF की टीम उसे निकालने के प्रयास में जुटी है. घटना बुधवार की रात करीब साढ़े 8 बजे की है. नाले के पास से अजय की साइकिल और चप्पल मिले हैं.

रामगढ़ के रहने वाले अजय प्रसाद रांची के सहदेव नगर में रहते हैं. बताया गया कि सब्जी विक्रेता अजय अग्रवाल साइकिल से सहदेव नगर जा रहे थे. इसी दौरान संतुलन बिगड़ने के कारण अजय खुले नाले में गिर गये. पिछले तीन दिनों से लगातार बारिश के कारण नाले में काफी पानी भर गया था. अजय के नाले में गिरने पर स्थानीय लोगों ने अपने स्तर पर तलाश शुरू की, लेकिन कहीं पता नहीं चला.

घटना की जानकारी स्थानीय लोगों ने पंडरा पुलिस और लापता अजय अग्रवाल के पुत्र ध्रुव को दी. जानकारी मिलते ही पंडरा थाने की पुलिस और अजय के परिजन घटनास्थल पर पहुंचे. इस दौरान स्थानीय लोगों के सहारे खोजबीन शुरू की, लेकिन सफलता नहीं मिली. इसके बाद NDRF को इसकी सूचना दी गयी.

गुरुवार की सुबह NDRF की टीम जमशेदपुर से रांची पहुंची. इसके बाद से लगातार खोजने के प्रयास हो रहे हैं. गुुरुवार दोपहर तक लापता अजय अग्रवाल का कोई पता नहीं चल पाया. बता दें कि पंचशील नगर के इस नाले का पानी कांके डैम में जाकर मिलता है.

दो साल के अंदर नाले में बहने की तीसरी घटना

रांची में नाले में बहने की यह कोई तीसरी घटना नहीं है. पिछले साल 6 सितंबर को कोकर के खोरहाटोली में भी नाले में बहने से एक युवक की मौत हो गयी थी. वहीं, दो साल पहले हिंदपीढ़ी के नाले में भी एक बच्ची बह गयी थी.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें