समारोह था पुनर्मिलन का, भाजपा नेता बरसे हेमंत सोरेन सरकार पर, आज भाजपा कार्यालय जायेंगे बाबूलाल मरांडी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रघुवर ने कहा- बदले की भावना से काम कर रही सरकार, वी विल कम बैक सून
रांची : राज्य के पहले मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के भाजपा में वापसी को लेकर सोमवार को रांची के प्रभात तारा मैदान में पुनर्मिलन समारोह का आयोजन किया गया.
समारोह के बहाने भाजपा नेताओं ने लगभग डेढ़ माह पुरानी हेमंत सोरेन सरकार को निशाने पर लिया. नेताओं ने अपने भाषण में वर्तमान हेमंत सरकार को कटघरे में खड़ा किया.पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि वर्तमान हेमंत सोरेन सरकार बदले की भावना से काम कर रही है. इस सरकार का एक ही काम है. कैसे पूर्ववर्ती सरकार को बदनाम किया जाये, लेकिन इसमें उन्हें सफलता नहीं मिलेगी. वी विल कम बैक सून (हम लोग जल्द वापस लौटेंगे). श्री दास सोमवार को धुर्वा स्थित जगन्नाथ मैदान में झाविमो के भाजपा में विलय कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि पिछले पांच साल में दलाल व बिचौलियों का सफाया हो चुका था.
आज सत्ता के गलियारों में दलालों, बिचैलियों का जमावड़ा लगने लगा है. पूर्ववर्ती सरकार की अच्छी योजनाओं को बढ़ाने की बजाये, उसे बंद किया जा रहा है. पिछली सरकार ने महिलाओं के सशक्तीकरण को लेकर कदम उठाया और एक रुपये में जमीन व संपत्ति के निबंधन की व्यवस्था करायी थी. किसानों के लिए मुख्यमंत्री कृषि सम्मान योजना के तहत पांच हजार रुपये प्रति एकड़ सहायता की योजना शुरू की. दो किस्तों का भुगतान भी कर दिया गया.
लेकिन अब इसे बंद किया जा रहा है. उन्होंने बुरुगुलीकेरा में सात आदिवासियों के नरसंहार मामले की जांच एनआइए से कराने की मांग की, साथ ही लोहरदगा में सीएए समर्थकों पर पथराव की घटना पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य में विधि व्यवस्था की स्थिति चौपट हो गयी है. उन्होंने कहा कि बाबूलाल मरांडी की पुनर्वापसी से पार्टी को मजबूती मिलेगी. वर्ष 2000 की भाजपा टीम का 2020 में पुनर्मिलन है.
भाजपा की ओर से आयोजित मिलन समारोह में झारखंड के सांसदों ने केंद्रीय गृह मंत्री को ज्ञापन सौंप कर चाईबासा नरसंहार मामले की एनआइ जांच कराने का आग्रह किया. इस मामले को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने समिति का गठन किया था.
चाईबासा नरसंहार की एनआइए जांच को लेकर शाह को सौंपा ज्ञापन
केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा बोले
वैचारिक आंदोलन के साथ देश को मजबूत बनाने की कोशिश
केंद्रीय मंत्री सह पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि पार्टी अपने वैचारिक आंदोलन के माध्यम से देश को शक्तिशाली, समृद्ध व मजबूत बनाने की कोशिश में जुटी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह के नेतृत्व में देश की कई बड़ी समस्याओं का समाधान हुआ है. राष्ट्र प्रगति के मार्ग पर आगे बढ़ रहा है. गृह मंत्री अमित शाह के नेतृत्व में त्रिपुरा रहनेवाले आदिवासियों की समस्याओं का समाधान हुआ और मिजोरम में उनकी पुनर्वापसी संभव हुई.
उन्होंने कहा कि असम में लंबे समय से बोड़ो क्षेत्र की समस्या का समाधान नहीं हो रहा था. लगातार लोगों को मुश्किलों से जूझना पड़ रहा था, लेकिन जब इस समस्या का समाधान हुआ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्षेत्र में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे, तो लाखों की संख्या में लोगों ने उनका अभिवादन किया. लोगों के चेहरे की खुशी देखते बनती थी. उन्होंने कहा कि बाबूलाल मरांडी पुराने भाजपाई हैं. इनकी वापसी से पार्टी और मजबूत होगी.
प्रदेश अध्यक्ष गिलुवा बोले
नयी सरकार में हो रहा आदिवासियों का नरसंहार
लक्ष्मण गिलुवा ने चाईबासा नरसंहार मामले को उठाते हुए कहा कि नयी सरकार बनने के बाद कानून व्यवस्था चरमरा गयी है. नक्सलियों का मनोबल बढ़ गया है. आदिवासियों का नरसंहार हो रहा है.
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन घटनास्थल पर जा कर कहते हैं मरनेवाले भी अपने हैं और मारनेवाले भी अपने. उन्होंने चाईबासा नरसंहार मामले की एनआइए जांच की मांग की. कार्यक्रम का संचालन प्रदेश महामंत्री दीपक प्रकाश व धन्यवाद ज्ञापन प्रदेश उपाध्यक्ष आदित्य साहू ने किया.
शाह के स्वागत में उमड़े नेता-कार्यकर्ता
गृह मंत्री अमित शाह का एयरपोर्ट में भाजपा के पदाधिकारियों की अोर से स्वागत किया गया . एयरपोर्ट में उनके स्वागत के लिए प्रदेश प्रभारी अोम माथुर, पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास, प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा, पूर्व सांसद कड़िया मुंडा, सांसद संजय सेठ, सांसद अर्जुन मुंडा, राज्यसभा सांसद समीर उरांव व महेश पोद्दार, विधायक सीपी सिंह, विधायक नवीन जायसवाल, महापौर आशा लकड़ा, दीपक प्रकाश, मनोज मिश्रा, गुरविंदर सिंह सेठी सहित अन्य शामिल थे.
श्री शाह ने इनलोगों से मुलाकात कर दिन के सवा एक बजे सभास्थल के लिए रवाना हो गये. इससे पूर्व उनके आगमन को लेकर एयरपोर्ट में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी थी. गृह मंत्री के काफिला के जाने व आने के समय यातायात को 10 से 15 मिनट के लिए रोक दिया गया था. इसके अलावा सभी कट प्वाइंट को बंद कर दिया गया था.
एक साथ मंच पर पहुंचे शाह व मरांडी
अमित शाह व बाबूलाल दिन के लगभग 1.30 बजे धुर्वा स्थित जगन्नाथ मैदान पहुंचे. भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम प्रकाश माथुर, प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा, केंद्रीय मंत्री सह पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा व पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास भी इनके साथ थे. लगभग तीन बजे श्री शाह कार्यक्रम स्थल से बिरसा मुंडा एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए.
आज भाजपा कार्यालय जायेंगे बाबूलाल : भाजपा का दामन थामने वाले बाबूलाल मरांडी लंबे अंतराल के बाद भाजपा कार्यालय जायेंगे़ श्री मरांडी दिन के 12 बजे भाजपा कार्यालय पहुंचेंगे़ वह पार्टी नेताओं से मिलेंगे़ पार्टी के पदाधिकारी श्री मरांडी का कार्यालय में अभिनंदन करेंगे़
अमित शाह ने पूर्व की रघुवर सरकार की तारीफ की
मोदी की योजना को जन जन तक पहुंचाया था
रांची : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पूर्ववर्ती रघुवर दास सरकार की तारीफ की़ श्री शाह ने कहा कि रघुवर दास ने पांच साल तक सरकार चलायी
मैंने उस सरकार को नजदीक से देखा था़ नरेंद्र मोदी जी के एक-एक कार्यक्रम को गांव-गांव तक जन-जन तक पहुंचाने का काम किया़ आदिवासी, दलित, पिछड़ा कोई नहीं छूटा़ सबके लिए योजनाएं चलायी गयी़ हर गांव के अंदर सड़क, बिजली, शौचालय दिया गया़
रघुवर सरकार ने सबके लिए योजनाओं को नीचे तक पहुंचाया़ अब नरेंद्र मोदी सरकार की दूसरी पारी है़ देश के हर घर में 2024 तक शुद्ध पीने का पानी पहुंचाया जायेगा़ श्री शाह ने कहा कि हम झारखंड के जनादेश का सम्मान करते है़ं लेकिन सरकार विकास विरोधी काम करेगी, तो संघर्ष होगा़ विकास और केंद्रीय योजनाओं पर आगे काम करेगी, तो समर्थन दिया जायेगा.
भाजपा-झाविमो के झंडे से पटा था समारोह स्थल़
ढोल-ताशे के साथ पहुंचे थे दोनों दलों के कार्यकर्ता.
1.9 में मंच पर पहुंचे बाबूलाल मरांडी.
1.31 में मंच पर पहुंचे केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह.
अमित शाह ने माला पहना कर बाबूलाल काे पार्टी में शामिल किया.
बाबूलाल को अमित शाह ने जैसे ही माला पहनाया, लोग तालियां बजाने लगे.
बाबूलाल भाषण देने आये, तो उमड़ी भीड़ ने तालियां बजा कर स्वागत किया़
बाबूलाल मरांडी ने अपने भाषण में सहयोगी सुनील तिवारी का नाम लिया़
बड़ी संख्या में आदिवासी कार्यकर्ता-समर्थक जुटे थे़
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें