...तो क्या अब तक नहीं बंटे हैं हेमंत सोरेन सरकार के मंत्रियों के विभाग!

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची : हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण समारोह के ठीक एक महीने बाद 29 जनवरी, 2020 को उनके कैबिनेट के मंत्रियों को विभाग मिलने की एक अधिसूचना आज सोशल मीडिया पर जारी हुई. राजभवन के नाम से जारी इस अधिसूचना को अब फर्जी बताया जा रहा है. जिन WhatsApp ग्रुप्स में कथित तौर पर राजभवन से जारी सूची वायरल हुई थी, उन्हीं ग्रुप्स में अब कहा जा रहा है कि विभागों का बंटवारा नहीं हुआ है.

मुख्यमंत्री कार्यालय की टीम पीआरडी के नाम से जारी दो लाइन की सूचना में कहा गया है कि मंत्रिमंडल के सदस्यों के विभाग के आवंटन संबंधी अधिसूचना की प्रतीक्षा करें. जारी होते ही आप सब तक आधिकारिक सूचना निर्गत की जायेगी. प्रभातखबर.कॉम (prabhatkhabar.com) किसी भी सूचना की पुष्टि नहीं करता है. लेकिन, जो सूचना वायरल हुई थी, उसमें कहा गया था कि हेमंत सोरेन की सरकार ने अपने मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया है.

सोशल मीडिया में वायरल सूचना के मुताबिक, हेमंत सोरेन की कैबिनेट में कांग्रेस के तीन और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के एकमात्र विधायक को भी जगह दी गयी है. हेमंत सोरेन की सरकार में एकमात्र महिला मंत्री जोबा मांझी होंगी. उन्हें समाज कल्याण तथा महिला एवं बाल विकास विभाग का मंत्री बनाया गया है. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव को वित्त एवं वाणिज्य कर मंत्री बनाया गया है.

हेमंत सोरेन की कैबिनेट में मुख्यमंत्री समेत 11 मंत्री होंगे. कांग्रेस के कोटे से डॉ रामेश्वर उरांव के अलावा आलमगीर आलम और बन्ना गुप्ता भी मंत्री बनाये गये हैं. कार्मिक एवं प्रशासनिक सुधार तथा राजभाषा, गृह (कारा सहित), मंत्रिमंडल सचिवालय एवं समन्वय विभाग (संसदीय कार्य रहित) के अलावा वे तमाम विभाग, जो किसी मंत्री को आवंटित नहीं किये गये हैं, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के पास रहेंगे.

कांग्रेस के आलमगीर आलम को ग्रामीण विकास, ग्रामीण कार्य, पंचायती राज एवं एनआरइपी (विशेष प्रमंडल) विभाग का मंत्री बनाया गया है. डॉ रामेश्वर उरांव को योजना सह वित्त, वाणिज्य कर विभाग, खाद्य, सार्वजनिक वितरण तथा उपभोक्ता मामलों का मंत्री बनाया गया है.

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधायक सत्यानंद भोक्ता को श्रम, नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग का मंत्री बनाया गया है. झामुमो के वरिष्ठ नेता चम्पाई सोरेन को अनुसूचित जनजाति, अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण (अल्पसंख्यक कल्याण छोड़कर) एवं परिवहन विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गयी है.

झामुमो की वरिष्ठ विधायक जोबा मांझी को समाज कल्याण तथा महिला एवं बाल विकास विभाग का मंत्री बनाया गया है. हाजी हुसैन अंसारी को अल्पसंख्यक कल्याण एवं निबंधन का मंत्रालय दिया गया है, जबकि जगरनाथ महतो को स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के साथ-साथ उत्पाद एवं मद्य निषेध विभाग का मंत्री बनाया गया है.

बादल को कृषि, पशुपालन, सहकारिता एवं मत्स्य विभाग का मंत्री बनाया गया है, तो गढ़वा से पहली बार विधायक चुने गये मिथिलेश कुमार ठाकुर को पेयजल एवं स्वच्छता विभाग का मंत्री बनाया गया है.

उल्लेखनीय है कि हेमंत सोरेन सरकार के मंत्रिमंडल का 29 दिनों के बाद मंगलवार (28 जनवरी, 2020) को विस्तार हुआ था. भाजपा की रघुवर दास की सरकार में मंत्रिमंडल का विस्तार 53 दिनों के बाद हुआ था. रघुवर दास की कैबिनेट में 11 मंत्री ही थे. हेमंत सोरेन की सरकार में भी फिलहाल 11 मंत्री हैं. एक पद अभी रिक्त है. जल्द ही 12वें मंत्री को भी शपथ दिलायी जायेगी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें