भाजपा ने की कांग्रेस उम्मीदवार के पिता और पूर्व सांसद को जिला एवं राज्य से बाहर करने की मांग

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस विधायक के पिता और पूर्व सांसद फुरकान अंसारी को जामताड़ा जिला और झारखंड राज्य से बाहर करने की मांग की है. पार्टी ने चुनाव आयोग को लिखे एक पत्र में कहा है कि जामताड़ा से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे इरफान अंसारी के पिता फुरकान अंसारी को झारखंड विधानसभा चुनाव के मद्देनजर 20 दिसंबर से पहले जिला और राज्य से बाहर कर दिया जाये.

भाजपा का आरोप है कि झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 के मतदान के आखिरी चरण के प्रचार के आखिरी दिन 18.12.2019 को जामताड़ा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी इरफान अंसारी के पिता फुरकान अंसारी (पूर्व सांसद) ने जामताड़ा ग्रामीण प्रखंड के गेड़ापाथर ग्राम में मतदाताओं को अपने पुत्र इरफान अंसारी के पक्ष में मतदान करने के लिए अवैध रूप से पैसा एवं शराब का वितरण किया. साथ ही अपने समर्थकों से भी पैसे और शराब बांटने के लिए कहा.

भाजपा ने कहा कि गेड़ापाथर गांव के लोगों को यह अच्छा नहीं लगा और उन्होंने फुरकान अंसारी एवं उनके समर्थकों को रंगे हाथ पैसा एवं शराब बांटते पकड़ लिया. पार्टी ने कहा है कि फुरकान अंसारी के खिलाफ पहले भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं. अभी हाल ही में उन्होंने किसी अन्य राज्य में वायरल वीडियो पोस्ट कर लोगों की भावनाएं भड़काने की कोशिश की थी. इस मामले में जामताड़ा नगर थाना में फुरकान अंसारी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था.

भाजपा ने चुनाव आयोग को जो शिकायत की है, उसमें कहा है कि 20 दिसंबर को जामताड़ा विधानसभा क्षेत्र में चुनाव होना है. चुनाव से पहले मतदाताओं को पैसे और शराब बांटने जैसा जुर्म फुरकान अंसारी खुलेआम कर रहे हैं. वह लोकतंत्र के सारे नियम-कानून को चुनौती दे रहे हैं. इसलिए उन्हें न सिर्फ 20 दिसंबर से पहले जिला बदर बल्कि राज्य बदर भी कर दिया जाना चाहिए, ताकि चुनाव में कोई विघ्न न पड़े.

भाजपा ने कहा है कि फुरकान अंसारी बाहुबली नेता हैं और उनके खिलाफ बोलने की क्षमता सबमें नहीं है. इसलिए स्वच्छ, शांतिपूर्व एवं भयमुक्त वातावरण में चुनाव संपन्न हो, इसके लिए जरूरी है कि फुरकान अंसारी जिला और राज्य से बाहर रहें. भाजपा ने इस मामले में इरफान अंसारी को भी आरोपित करने की मांग की है. कहा है कि फुरकान ने जो भी काम किये हैं, उसका लाफ सीधे तौर पर इरफान को मिलना है और उन्होंने गैरलोकतांत्रिक कार्यों का विरोध नहीं किया.

झारखंड प्रदेश भाजपा के चुनाव आयोग संपर्क विभाग ने झारखंड के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मिलकर उन्हें एक ज्ञापन सौंपा और मांग की कि फुरकान अंसारी, इरफान अंसारी एवं उनके समर्थकों के खिलाफ तत्काल विधिसम्मत कार्रवाई की जाये. उनके खिलाफ मामला दर्ज कर मामले का स्पीडी ट्रायल कराने का आदेश जारी करने की भी निर्वाचन आयोग से अपील की.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें