मौसम में अभी उतार-चढ़ाव रहेगा जारी, 16 के बाद बढ़ सकती है ठंड

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
राजधानी समेत विभिन्न इलाकों में हल्की बूंदाबांदी हुई
रांची : रांची व आसपास के इलाके में अगले एक हफ्ते तक मौसम में उतार-चढ़ाव होता रहेगा. आकाश में बादल छाये रहेंगे. शुक्रवार की शाम राजधानी समेत अन्य इलाकों में हल्की बूंदाबांदी भी हुई. आगे भी हल्की बारिश का अनुमान है. 15 दिसंबर से कुहासा रहने की संभावना बढ़ गयी है. वहीं 16 दिसंबर से ठंड बढ़ सकती है़ 19 दिसंबर से बादल के छंटने अौर मौसम खुलने की उम्मीद है. ठंडी हवा भी चल सकती है. इससे न्यूनतम तापमान में भारी कमी आने की संभावना व्यक्त की गयी है.
मौसम विभाग के अनुसार, उत्तर भारत में भारी हिमपात के कारण झारखंड के इलाके में इसका असर पड़ रहा है. इससे न्यूनतम तापमान में कमी आ सकती है. वहीं पश्चिमी विक्षोभ के कारण आकाश में बादल छाये हुए हैं. रांची में शुक्रवार को अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 15.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. कांके का अधिकतम तापमान 31.2 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 15.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.
आकाश में बादल छाये रहेंगे, कुहासा रहने की भी संभावना

दिसंबर माह में किस साल कितना रहा न्यूनतम तापमान
मौसम विभाग के अनुसार, दिसंबर माह में न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस तक पहुंच चुका है. रिकॉर्ड के अनुसार वर्ष 2014 में 29 दिसंबर को न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया था. वहीं वर्ष 2009 में 27 दिसंबर को 07.4 डिग्री सेल्सियस, वर्ष 2010 में 22 दिसंबर को 05.6 डिग्री सेल्सियस, वर्ष 2011 में 18 दिसंबर को 05.8 डिग्री सेल्सियस, वर्ष 2012 में 28 दिसंबर को 05.9 डिग्री सेल्सियस, वर्ष 2013 में दो दिसंबर को 07.1 डिग्री सेल्सियस, वर्ष 2014 में 29 दिसंबर को 04.0 डिग्री सेल्सियस, वर्ष 2015 में 26 दिसंबर को 05.3 डिग्री सेल्सियस, वर्ष 2016 में 22 दिसंबर को 08.0 डिग्री सेल्सियस, वर्ष 2017 में 18 दिसंबर को 08.0 डिग्री सेल्सियस अौर वर्ष 2018 में 30 दिसंबर को न्यूनतम तापमान 4.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया.
खराब मौसम के कारण इंडिगो के विमान को कोलकाता भेजा गया
रांची : शुक्रवार की सुबह खराब मौसम रहने के कारण मुंबई-रांची इंडिगो विमान को डायवर्ट कर कोलकाता भेजा गया. बाद में मौसम सामान्य होने के बाद यह विमान रांची आया और फिर अपने गंतव्य की ओर उड़ान भरा. इस संबंध में एयरपोर्ट के अधिकारी ने बताया कि इंडिगो के इस विमान के अलावा अन्य विमानों का परिचालन सामान्य रहा.
रबी फसल पर सकारात्मक व सब्जी की खेती पर नकारात्मक असर पड़ेगा
रांची : मौसम में आये इस बदलाव का असर खेतों में लगी फसलों व सब्जियों पर भी पड़ेगा. कृषि सह मौसम वैज्ञानिक डॉ ए वदूद के अनुसार, हल्की बारिश होने से खेतों में नमी आयेगी. इससे रबी फसल पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा. मिट्टी में नमी रहने पर सिंचाई की आवश्यकता कम पड़ेगी.
वहीं आकाश में बादल छाये रहने व कुहासा रहने तथा न्यूनतम तापमान में भारी कमी होने की स्थिति में सब्जियों की खेती पर थोड़ा नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा. सब्जियों में कीड़े पड़ने की आशंका बढ़ सकती है. बादल छाये रहने व कुहासा का सबसे बुरा प्रभाव सरसों की खेती पर पड़ता है. इस पर लाही लगने का खतरा बढ़ सकता है. हालांकि झारखंड में अभी सरसों की बुआई ही हो रही है. डॉ वदूद ने बताया कि सुबह में कुहासा ज्यादा रहने की संभावना है. 16 दसंबर के बाद ठंड और बढ़ सकती है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें