रामगढ़ के सुपरस्पेशियलिटी हॉस्पिटल पर बच्चों की खरीद-बिक्री का आरोप, दो बच्चे बरामद

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची : झारखंड की राजधानी रांची से सटे रामगढ़ जिला के वृंदावन सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर एंड मेडिकल साइंस पर बच्चों की खरीद-बिक्री का आरोप लगा है. गुप्त सूचना के आधार पर अस्पताल से दो बच्चे बरामद हुए हैं. इनकी उम्र 6 से 7 महीने बतायी जाती है. इसमें एक बालक और एक बालिका है. गुप्त सूचना के आधार पर रामगढ़ पुलिस और चाइल्ड वेलफेयर कमेटी (सीडब्ल्यूसी) ने बुधवार देर रात छापामारी कर शिशुओं को बरामद किया.

दोनों शिशुओं को चाइल्डलाइन में रखा गया है. रामगढ़ के एसपी प्रभात कुमार ने बताया कि बच्चों की खरीद-बिक्री की गुप्त सूचना मिली थी. इसी सूचना के आधार पर कार्रवाई की गयी और अस्पताल से दो शिशुओं को बरामद किया गया. इस मामले में अब तक प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है. मामले की जांच की जा रही है. जांच के बाद ही स्पष्ट रूप से कुछ कहा जा सकेगा.

उधर, वृंदावन अस्पताल एंड रिसर्च सेंटर ने इस संबंध में अब तक अपना पक्ष नहीं रखा है. prabhatkhabar.com ने अस्पताल के प्रबंधन से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन हॉस्पिटल की वेबसाइट पर उपलब्ध उनके सभी फोन या तो स्विच ऑफ थे या उन पर सेवाएं उपलब्ध नहीं थीं. वेबसाइट के मुताबिक, वृंदावन सुपर स्पेशियलिटी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल झारखंड के ग्रामीण इलाके का 1,000 बेड वाला अस्पताल है.

ज्ञात हो कि स्वास्थ्य, शिक्षा और ग्रामीण विकास के क्षेत्र में काम करने वाला गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) मैत्री (MAITRI) इस अस्पताल का संचालन करता है. डॉ मालती चार रामगढ़ रोड स्थित इस सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल की संस्थापक और अध्यक्ष हैं. मैत्री एनजीओ की वेबसाइट पर डॉ मालती के दो मोबाइल नंबर (09199342254,07209671916) दिये गये हैं. दोनों स्विच ऑफ थे.

मैत्री के संस्थापक और सचिव के रवि कुमार के भी दो फोन नंबर ( 09031079796 ,09835170767) वेबसाइट पर उपलब्ध हैं, लेकिन किसी नंबर पर संपर्क नहीं हो सका.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें