1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. lohardaga
  5. world health day 2021 the elders of the district who did not allow the age to dominate them keep this fit even in the last stage of the age srn

World Health Day 2021 : जिले के ऐसे बुजुर्ग, जिन्होंने अपने ऊपर उम्र को हावी नहीं होने दिया, उम्र के आखिरी पड़ाव में भी इस रखते हैं फिट

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
World Health Day 2021
World Health Day 2021
Prabhat Khabar

Jharkhand News, Lohardaga News लोहरदगा : सादा जीवन उच्च विचार और सात्विक भोजन की बदौलत आज 85 वर्ष की उम्र पार कर गये लोग भी स्वस्थ जीवन जी रहे हैं. इसके पीछे है उनकी सकारात्मक सोच एवं नियमित दिनचर्या. आज के युवा वर्ग के लिए ऐसे लोग उदाहरण बने हुए है. लोहरदगा शहरी क्षेत्र के पावरगंज चौक निवासी विजय गोपाल दत्ता की उम्र 85 वर्ष है. श्री दत्ता अभी भी प्रतिदिन सुबह 4:30 बजे उठकर नित्य क्रिया से निबट कर साइकिल से पांच किलोमीटर घूमते हैं. साथ होता है उनका पोता. घूम कर लौटने के बाद वह हल्का नाश्ता करते हैं.

विजय गोपाल दत्ता आज किसी पहचान के मोहताज नही है. गोपाल स्टोर दवा दुकान लोहरदगा के अलावा आस पास के जिलो में भी जाना जाता है. नाश्ते के बाद श्री दत्ता दवा की अपनी दुकान गोपाल स्टोर पहुंचकर काम में लग जाते हैं. इनका कहना है कि जिंदगी भगवान की दी एक नेमत है.

इसे अपने हिसाब से जीना चाहिए. यदि आप खुश रहेंगे, तो आपके शरीर में फुर्ती रहेगी. यदि चिंतित रहेंगे, तो सुस्त रहेंगे. होगा वही जो होना है, तो हम बेकार की चिंता क्यों करें. उन्होंने कहा कि वह अपनी रूटीन में कोई बदलाव नहीं करते. जाड़ा, गर्मी व बरसात में भी दिनचर्या यही रहती है. नियमित योग भी करता हुं. अपने परिवार के साथ वक्त गुजारता हुं और प्रभु का स्मरण करते हुए लोगों की सेवा करता हूं.

सकारात्मक सोच, सात्विक भोजन व सदाचार से ऊर्जा

सादा जीवन व उच्च विचार तथा नर सेवा ही नारायण सेवा है, 83 वर्षीय सीताराम शर्मा के जीवन का यही मापदंड है. श्री शर्मा 55-60 वर्षों से सामाजिक, धार्मिक, राजनीतिक, व्यावसायिक व शैक्षणिक क्षेत्र में समाज के लिए समर्पित हैं. यही वजह है कि उन्हें हर जाति व धर्म के लोग पूरा सम्मान देते हैं. सीताराम जी के अनुसार सकारात्मक सोच, सात्विक भोजन व सदाचार संगत के कारण ही ऊर्जा मिलती है. इसी से स्वस्थ व तंदुरुस्त रहकर समाज की सेवा करता हूं. बाबा प्रतिदिन सुबह पांच बजे उठकर नित्य कर्म कर योग व साइकलिंग करते हैं. फिर आठ बजे हल्का नाश्ता करते हैं. पूरी जिंदगी कुटिया नुमा घर में बिता देने वाले सीताराम कहते हैं कि राष्ट्र सेवा से बड़ी कोई सेवा नहीं है.

नियमित व्यायाम करते हैं 83 वर्षीय राधा रमण

लोहरदगा नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष राधा रमण प्रसाद आज भी खुद कार चलाकर कॉलेज रोड से पावरगंज चौक स्थित अपने नोवेल्टी होटल आते है. इनकी उम्र 83 वर्ष है. दिन भर में वह सुबह का नाश्ता और एक वक्त का शाकाहारी भोजन करते हैं. वहीं नियमित रूप से व्यायाम करते हैं और ध्यान लगाते हैं. इनका कहना है कि सुबह जागने से शरीर में स्फूर्ति आती है. हर इंसान को सुबह उठकर योग, व्यायाम व ध्यान करना चाहिए. सकारात्मक सोच हमें आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करता है. जीवन अनमोल है और इसे हमें अपने तरीके से जीना चाहिए. चिंता करने से कुछ हासिल नहीं होता.

अहले सुबह उठते हैं 90 वर्षीय गोपाल

मिशन चौक निवासी श्री गोपाल गुप्ता की उम्र 90 वर्ष है. ये अभी भी बरवाटोली स्थित अपनी दवा दुकान गुंजन मेडिकल में बैठते हैं. इनकी दिनचर्या भी अहले सुबह से शुरू होती है. शाकाहारी भोजन और परिवार के साथ समय गुजारना भी इनकी सेहत का राज है. गोपाल जी पैदल चलना पसंद है. कोरोना संक्रमण काल में भी इनकी दिनचर्या में कोई बदलाव नही आया. यह हमेशा अपने को फिट रखने का प्रयास करते हैं. नियमित स्वास्थ्य जांच कराते हैं और अपने परिवार के साथ खुशनुमा माहौल में समय गुजारते हैं. इनका कहना है कि परिवार से बड़ी दौलत कुछ भी नहीं है. यदि इंसान स्वस्थ है, तो वह खुश रहेगा. सोच सकारात्मक होनी चाहिए. उम्र तो बढ़ती ही रहेगी.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें