1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. lohardaga
  5. lohardaga farmers story farmers of kairo are becoming self sufficient by farming they are not migrating to other states srn

खेती कर आत्मनिर्भर हो रहे हैं कैरो के किसान, दूसरे राज्यों की तरफ नहीं कर रहे हैं पलायान

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
खेती कर आत्मनिर्भर हो रहे हैं कैरो के किसान
खेती कर आत्मनिर्भर हो रहे हैं कैरो के किसान
प्रभात खबर.

jharkhand news, lohardaga news लोहरदगा : कैरो प्रखंड के अधिकतर किसान खेती बारी कर अपना जीवन यापन करते हैं. कैरो प्रखंड क्षेत्र में 14388.83 हेक्टेयर भूमि है, जिसमें कृषि योग्य भूमि 8100.24 हेक्टेयर है. इसमें नहर से सिंचित भूमि 4891.99 हेक्टेयर है. कैरो पंचायत की बात करें तो 1089.42 हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि है.

इसमें 592.73 हेक्टेयर भूमि सिंचित होती है. अभी के समय में कैरो, उतका, बिराजपुर व जमुंटोली के किसान कैरो व भंडरा प्रखंड क्षेत्र की सीमा पर स्थित नंदनी जलाशय से निकली तीन नहर के सहारे किसान 80 प्रतिशत भूमि में गेहूं की फसल लगाये हैं. नंदनी जलाशय से निकलने वाली नहर किसानों के लिए वरदान साबित हो रही है. नहर के वजह से किसानों को गेंहू की फसल की पटवन में कम खर्च आती है.

कैरो पंचायत के अलावा नरौली, बंडा, नगड़ा, एडादोन, सुकरहुटु के किसान भी काफी मात्रा में नहर किनारे गेहूं की फसल लगाये है. किसानों का कहना है नहर में पानी नियमित रूप से समय पर मिलने से किसान आज आत्मनिर्भर बन रहे हैं. उतका, बिराजपुर के किसानों को नहर में पानी मिलने से आज लोग रोजी रोजगार के लिए दूसरे राज्य जाना छोड़ कर घर पर ही खेती कर आत्मनिर्भर बन रहें हैं.

Posted By : sameer Oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें