1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. lohardaga
  5. in this forest of lohardaga the police is continuously running a campaign against the naxalites srn

लोहरदगा के इस जंगल में नक्सलियों के खिलाफ पुलिस लगातार चला रही है अभियान, गांव के लोगों में है डर का महौल

जिले के पेशरार थाना क्षेत्र के अति नक्सल प्रभावित इलाका बुलबुल के जंगलों में लगातार पांचवें दिन भी पुलिस का सर्च ऑपरेशन जारी रहा. ऑपरेशन में अबतक सीआरपीएफ के तीन जवान आइइडी बम ब्लास्ट से घायल हुए है

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
नक्सलियों के खिलाफ पुलिस लगातार चला रही है अभियान
नक्सलियों के खिलाफ पुलिस लगातार चला रही है अभियान
Symbolic Pic

लोहरदगा. जिले के पेशरार थाना क्षेत्र के अति नक्सल प्रभावित इलाका बुलबुल के जंगलों में लगातार पांचवें दिन भी पुलिस का सर्च ऑपरेशन जारी रहा. ऑपरेशन में अबतक सीआरपीएफ के तीन जवान आइइडी बम ब्लास्ट से घायल हुए है, जिनका इलाज रांची के मेडिका अस्पताल में चल रहा है. इसके बावजूद जवानों का हौसला बुलंद है.

पुलिस के वरीय पदाधिकारी पेशरार इलाके में पहुंचकर मॉक ड्रिल अभ्यास करा जवानों का मनोबल बढ़ा रहे हैं. अभियान में सीआरपीएफ, जगुआरव जिला पुलिस बल के लगभग 450 जवान जंगलों में उग्रवादियों की टोह में जुटे हैं. उग्रवादियों की घेराबंदी पुलिस द्वारा की गयी है, ताकि उग्रवादी बुलबुल जंगल से लातेहार या गुमला की सीमा की ओर भाग न सके. सर्च ऑपरेशन में पुलिस को सफलता मिली है.

उग्रवादियों का बंकर पुलिस जवानों द्वारा उड़ा दिया गया है. साथ ही उग्रवादियों द्वारा प्रयोग किया जाने वाला डेटोनेटर, पिट्ठू, नक्सली साहित्य व नक्सलियों के रहने खाने का सामान बरामद किया गया है. इधर, रविवार की सुबह भी बुलबुल नाला के पास पुलिस व नक्सलियों में गोलीबारी हुई है. पुलिस को भारी पड़ता देख नक्सली पीछे हट गये.

पुलिस व उग्रवादी के जंगल में जमा होने से स्थानीय लोग भयभीत है. इस इलाके में लोग अपने घरों में रहने को विवश हैं. हालांकि बुलबुल जंगल में चप्पे-चप्पे पर पुलिस जवान तैनात है. अभियान में डॉग स्कवायड की भी सहायता ली जा रही है. नक्सलियों द्वारा जंगल में लगाये गये आइइडी बम की तलाश डॉग स्कवायड के माध्यम से की जा रही है.

इधर, रविवार की सुबह बीएस कॉलेज के स्टेडियम में बनाया गया अस्थायी हेलीपैड में हेलीकॉप्टर लैंडिंग हुआ. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि रात में भी जरूरत पड़ने पर हेलीकॉप्टर अभियान स्थल के लिए रवाना किया जायेगा. पुलिस अधिकारियों के पहुंचने के बाद अभियान में जुटे पुलिस जवानों का मनोबल बढ़ा है.

कभी नक्सलियों का गढ़ माना जाने वाला पेशरार इलाका में उग्रवादी कमजोर पड़ चुके थे. आखिरी सांस गिन रहे नक्सली एक बार फिर सर उठाने की फिराक में जुटे, लेकिन पुलिस की सक्रियता के कारण उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ा. जैसे बुलबुल जंगल में इनामी नक्सली रवींद्र गंझू के सक्रिय होने की सूचना मिली पुलिस प्रशासन अभियान चला कर इनके मनसूबों पर पानी फेर दिया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें