1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. lohardaga
  5. fear of naxalites has started appearing again in lohardaga district levy is being sought from businessmen and contractors srn

लोहरदगा जिले में फिर दिखने लगा है नक्सलियों का खौफ, व्यवसायियों व ठेकेदारों से मांगी जा रही लेवी

जिले में एक बार फिर से नक्सलियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराने का काम शुरू किया है. बीते दिनों कई स्थानों पर नक्सलियों ने पोस्टर चिपका कर अपनी उपस्थिति दर्ज करायी है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
लोहरदगा जिले में फिर दिखने लगा है नक्सलियों का खौफ,
लोहरदगा जिले में फिर दिखने लगा है नक्सलियों का खौफ,
फाइल फोटो

जिले में एक बार फिर से नक्सलियों ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराने का काम शुरू किया है. बीते दिनों कई स्थानों पर नक्सलियों ने पोस्टर चिपका कर अपनी उपस्थिति दर्ज करायी है. वहीं शांति से जीवन-यापन कर रहे जिले वासियों को एक बार फिर से अशांत करने का असफल प्रयास किया जा रहा है. नक्सली संगठन ने एक बार फिर से व्यवसायियों, ठेकेदारों व अन्य समृद्ध लोगों को फोन कर लेवी की मांग की जा रही है. ऐसे में व्यवसाय करनेवाले लोगों में भय का माहौल देखा जा रहा है.

जिले के सेन्हा थाना के अलावा अन्य कई इलाकों में भी नक्सलियों ने पोस्टर चिपका कर अपनी उपस्थिति का अहसास कराया है. नक्सली एक बार फिर से इस इलाके में सक्रिय होने लगे हैं. पिछले कुछ समय से लोहरदगा का इलाका नक्सल मामले में काफी शांत माना जा रहा था, लेकिन अब एक बार फिर से नक्सली अपनी उपस्थिति दर्ज करा कर इस इलाके को अशांत करना चाहते हैं. उग्रवाद प्रभावित इलाकों में विकास कार्य नक्सलियों की गतिविधियों के कारण धीमी पड़ गयी है या फिर कई निर्माण कार्य बंद कर दिये गये हैं. उग्रवादी लगभग हर निर्माण कार्य में लेवी की मांग करने लगे हैं.

इधर, पुलिस द्वारा लगातार उग्रवाद प्रभावित इलाकों में गश्ती की जा रही है. नक्सलियों के संबंध में लोगों को जानकारी दी जा रही है तथा बताया जा रहा है यदि कोई भी व्यक्ति नक्सलियों के संबंध में सूचना देगा, उन्हें इनाम दिया जायेगा. साथ ही उनका नाम पता गुप्त रखा जायेगा. एक तरफ पुलिस नक्सलियों की तलाश कर रही है वहीं दूसरी ओर नक्सली उसी इलाके में पहुंच कर पोस्टर चिपका कर चूहा-बिल्ली का खेल खेल रहे हैं. ऐसे में लोहरदगा में एक बार फिर से पहाड़ी इलाकों में विकास की गति धीमी होगी. लोग सुदूरवर्ती इलाकों में जाने से परहेज कर रहे हैं. व्यवसाय पर इसका बुरा प्रभाव पड़ रहा है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें