1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. kodarma
  5. minor life saved a middle aged from up reached koderma to get married the police detained many including the groom smj

बच गयी नाबालिग की जिंदगी, शादी करने यूपी से एक अधेड़ पहुंचा कोडरमा, पुलिस ने दूल्हा समेत कई को हिरासत में लिया

कोडरमा के नवलशाही थाना क्षेत्र में समय रहते एक नाबालिग की जिंदगी बच गयी. यूपी के एक अधेड़ कोडरमा में 13 वर्षीय नाबालिग से शादी करने पहुंचा था, लेकिन पुलिस के हस्तक्षेप के बाद शादी रूका. इस मामले में कथित दूल्हा सहित कई को पुलिस ने हिरासत में लिया है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: पुलिस हिरासत में नाबालिग से शादी करने कोडरमा पहुंचा यूपी का राकेश यादव.
Jharkhand news: पुलिस हिरासत में नाबालिग से शादी करने कोडरमा पहुंचा यूपी का राकेश यादव.
प्रभात खबर.

Jharkhand news: कोडरमा जिला अंतर्गत नवलशाही पुलिस ने रविवार की देर शाम नवलशाही स्टेशन के पास स्थित तुरिया टोला में 13 वर्षीय नाबालिग लड़की की शादी एक अधेड़ से होने से बचा लिया. नाबालिग की शादी उसके परिजनों द्वारा यूपी के बहरौली गांव निवासी राकेश यादव (40 वर्ष) के साथ की जा रही थी.

क्या है मामला

शादी में राकेश के साथ पहुंचे उसके मित्र मुकेश ने बताया कि नाबालिग का चचेरे बहनोई गिरिडीह जिला अंतर्गत कूबरी के खेतो निवासी हुलास तूरी अपने बच्चे के इलाज के लिए गाजियाबाद पहुंचा था. यहां राकेश एवं लड़की के चचेरे बहनोई में जान पहचान हुई. फिर नाबालिग की फोटो मंगाकर शादी की बात पक्की हुई. लड़के के द्वारा लड़की पक्ष को शादी के खर्च के लिए 50 हजार रुपये देने की भी बात पक्की हुई.

शनिवार की रात नाबालिग के घर लड़की के चचेरे बहनोई के साथ राकेश अपने मित्र मुकेश के साथ पहुंचा और रविवार की रात शादी रचाने की तैयारी चल रही थी. इसी दौरान इसकी भनक ग्रामीणों की मिली, तो ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दिया. सूचना मिलते ही थाना प्रभारी इकबाल हुसैन मौके पर पहुंचे और युवक समेत उसके मित्र तथा शादी में शामिल सभी लोगों को लेकर थाना आ गये.

पुलिस ने इसकी सूचना चाइल्ड लाइन को दी. सूचना मिलने पर चाइल्ड लाइन के दीपक कुमार, नूतन कुमारी और ज्योति कुमारी थाना पहुंचे तथा नाबालिग को लेकर चाइल्ड लाइन, कोडरमा आ गये. वहीं, शादी करने आये राकेश यादव, उसके मित्र मुकेश और शादी में शामिल अन्य लोगों से पुलिस थाने में पूछताछ कर रही है.

इधर, चाइल्ड लाइन की टीम ने बालिका को उचित संरक्षण प्रदान करने के लिए सोमवार को उसे बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया गया. जिला प्रशासन द्वारा बालिका के पुनर्वास की व्यवस्था की जा रही है. बाल कल्याण समिति द्वारा दिये गये निर्देश के बाद जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी नरेंद्र कुमार सिंह पुनर्वास की व्यवस्था में लगे हैं.

Posted By: Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें