1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. jharkhand news jamshedpurs taranpreet murder mastermind jojo murdered in manila at philippines smj

Jharkhand News: फिलीपींस की राजधानी मनीला में जमशेदपुर के तरनप्रीत हत्यकांड का मास्टरमाइंड जोजो की हुई हत्या

जमशेदपुर से व्यापार करने फिलीपींस की राजधानी मनीला गये तरनजीत सिंह सम्मी उर्फ सैम की हत्या की साजिश रचने वाला जोजो की भी हत्या हो गयी. अपराधियों ने जोजो के सिर पर पांच गोली मारकर हत्या कर दी. तरनजीत के साथ जोगिंदर जोजो की प्रतिद्वंदिता थी. इस कारण जोजो ने उसे रास्ते से हटाया था.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
जमशेदपुर के युवा व्यवसायी तरनप्रीत की हत्या की साजिश रचनेवाला जोजो की मनीला में हुई हत्या.
जमशेदपुर के युवा व्यवसायी तरनप्रीत की हत्या की साजिश रचनेवाला जोजो की मनीला में हुई हत्या.
प्रभात खबर.

Jharkhand Crime News (जमशेदपुर, पूर्वी सिंहभूम) : फिलीपींस की राजधानी मनीला के ताईताई इलाके में मंगलवार को एक और सिख व्यापारी जोगिंदर सिंह उर्फ जोजो नामक व्यापारी की हत्या कर दी गयी. फिलीपींस समय के अनुसार तकरीबन डेढ़ बजे अज्ञात अपराधियों ने जोजो को उस वक्त गोली मारी जब वह बाजार टाइल्स खरीदने गया था और गाड़ी पार्क कर रहा था. हत्यारों ने उसे संभलने का मौका नहीं दिया और उसके सर पर पिस्टल सटाकर लगातार पांच गोलियां मार दी.

मां जसबीर कौर के साथ जमशेदपुर के युवा व्यवसायी मृतक तरनजीत सिंह सम्मी उर्फ सैम.
मां जसबीर कौर के साथ जमशेदपुर के युवा व्यवसायी मृतक तरनजीत सिंह सम्मी उर्फ सैम.
फाइल फोटो.

बता दें कि जोगिंदर सिंह उर्फ जोजो वही व्यापारी है, जिसकी व्यापारिक प्रतिद्वंदिता जमशेदपुर से मनीला व्यापार करने गये तरनजीत सिंह सम्मी उर्फ सैम से थी. जिसकी हत्या गत 11 जुलाई, 2021 को फिलीपींस के समय अनुसार डेढ़ बजे कर दी गयी, जब वह अपने रेस्टोरेंट में बैठकर भोजन कर रहा था. रेस्टोरेंट की महिला मैनेजर माइला और जीरा ने बचाने की कोशिश की थी, तो हत्यारों ने कहा था कि वे सैम की हत्या करने आये हैं और उसे मार कर ही जायेंगे.

सम्मी हत्याकांड की जांच कर रही फिलीपींस पुलिस के समक्ष सीतारामडेरा निवासी सम्मी के मामा कुलदीप सिंह ने जोगिंदर सिंह जोजो पर हत्या की सुपारी देने का शक जताया था. तब पुलिस का तर्क था कि सबूत के अभाव में और मात्र शंका के आधार पर ना तो गिरफ्तार किया जा सकता है और ना ही पूछताछ की जा सकती है.

सम्मी एवं जोजो की हत्याकांड में है काफी समानताएं

सम्मी के सर और छाती से पिस्टल सटाकर पांच गोलियां मारी गयी थी. वहीं, जोजो के सर में भी पांच गोलियां मारी गयी. संभावना है कि हत्यारों ने सम्मी की हत्या के लिए जिस गिरोह से सौदा किया था, जोजो के पूरा नहीं करने पर उसे भी ठिकाने लगा दिया गया.

तरनजीत के मामा कुलदीप सिंह के अनुसार, जोजो की तीन दुकानें थी, लेकिन सम्मी ने 4 साल में 6 दुकानें कर ली थी. उनके अधीन करीब 25 स्टाफ काम करते थे. व्यापार में पिछड़ने के बाद जोजो ने गत 9 जुलाई, 2021 को सम्मी को परिणाम भुगतने की चेतावनी भी दी थी.

इधर, मंगलवार को जब तरनजीत के मामा कुलदीप सिंह, गुरदीप सिंह पप्पू और मां जसबीर कौर को यह जानकारी मिली कि जोजो को भी मार दिया गया तो वे निःशब्द रह गये. गुरदीप सिंह पप्पू के अनुसार, वाहेगुरु से यही अरदास करते थे कि हमारे साथ न्याय करो. हमारे सम्मी ने किसी का क्या बिगाड़ा था जो उसे मार दिया गया. इधर, सम्मी की मां जसवीर कौर को मलाल है कि वह फिलीपींस नहीं जा सकी और जोजो से यह भी नहीं पूछ सकी कि उसके बेटे के साथ ऐसा सलूक क्यों किया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें