1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. jharkhand cyber crime news cyber criminals cheated tmh doctors and nurses of lakhs rupees in different ways learn how it was done smj

Jharkhand Cyber Crime News : जमशेदपुर के TMH के डॉक्टर और नर्स से साइबर क्रिमिनल ने अलग- अलग तरीके से की लाखों की ठगी, जानें कैसे दिया अंजाम

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : जमशेदपुर के TMH के डॉक्टर और नर्स से साइबर क्रिमिनल ने की लाखों की ठगी.
Jharkhand news : जमशेदपुर के TMH के डॉक्टर और नर्स से साइबर क्रिमिनल ने की लाखों की ठगी.
प्रतीकात्मक तस्वीर.

Jharkhand Cyber Crime News (जमशेदपुर) : झारखंड के जमशेदपुर में साइबर क्रिमिनल ने टाटा मैन हॉस्पिटल (TMH) के डॉक्टर धर्मेंद्र कुमार और नर्स विलासी कौर को ठगी का शिकार बनाया है. साइबर क्रिमिनल ने प्लेन का टिकट कैंसिल कराने के नाम पर डॉक्टर के अकाउंट से एक लाख 12 हजार रुपये उड़ाये, तो पासबुक अपडेट के बाद नर्स के अकाउंट से 70 हजार रुपये की निकासी का पता चला. इस संबंध में बिष्टुपुर साइबर थाना में मामला दर्ज कराया गया है.

कैसे हुई ठगी

इस संबंध में TMH के वरिष्ठ सलाहकार डॉ धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि वे बिष्टुपुर के CH एरिया रोड नंबर 3 के रहने वाले है और मूल रूप से न्यू दिल्ली में रहते हैं. फिलहाल TMH में वरिष्ठ सलाहकार के पद पर हैं. उन्होंने 4 मई को एयरलाइन टिकट बुक किया था. टिकट कैंसल करने के बाद रिफंड के लिए गूगल पर गूगल पे का नंबर सर्च किया. नंबर सर्च करने पर गूगल पर 9939121829 नंबर मिला.

नंबर पर फोन करने पर ठग ने कहा कि एनी डेस्क डाउनलोड करने से रिफंड आ जायेगा. एनी डेस्क डाउनलोड करने के बाद ठग ने पासवर्ड मांगा और एक रुपए का पेमेंट करने को कहा. पेमेंट करते ही उसके खाते से 48 हजार कट गया. उन्हें लगा कि यह रुपये फोन पे के ऐप से कटा है.

उन्होंने गूगल से फोन पे का कस्टमर केयर नंबर निकला, तो गूगल से 9832796170 और 9083086988 नंबर मिला. फोन करने पर ठग ने कहा की पैसा रिफंड हो जायेगा और एक लिंक भेजा. लिंक पर क्लिक करते ही उसमें पर्सनल डिटेल्स भरने के बाद रुपये कट गया. खाते से कुल 1,12,742 रुपये की अवैध निकासी हो गयी.

वहीं, दूसरी ओर नर्स विलासी कौर को ठगी होने का तब पता चला जब उन्होंने अपना पासबुक अपडेट कराया. नर्स विलासी कौर ने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण काम अधिक होने की वजह से पासबुक अपडेट नहीं करा पा रही थी. इस दौरान कई बार खुद के काम के लिए पैसे भी निकाले, पासबुक अपडेट नहीं करा पायी थी. इधर, समय मिलने पर 4 जून, 2021 को SBI कदमा ब्रांच में जाकर अपना पासबुक अपडेट कराया, तो इसमें 70 हजार रुपये की निकासी दिखायी दी.

नर्स विलासी कौर के मुताबिक, फिलहाल इतनी रकम नहीं निकाली, इसके बावजूद उसके अकाउंट से 70 हजार की निकासी होने पर उन्हें ठगी का एहसास हुआ. इस संबंध नर्स ने कहा कि कभी भी ऑनलाइन पेमेंट या UPI का उपयाेग नहीं किया. इसके बावजूद साइबर क्रिमिनल ने उसके अकाउंट से 70 हजार रुपये की निकासी कर ली.

साथ ही नर्स विलासी कौर ने कहा कि मैंने अपना पुराना मोबाइल बेचा था. शायद उसी मोबाइल के आधार पर साइबर क्रिमिनल ने मेरे बैंक डिटेल्स की जानकारी प्राप्त की और मेरे अकाउंट से 70 हजार रुपये की अवैध निकासी कर ली. नर्स ने तत्काल बिष्टुपुर साइबर थाना में मामला दर्ज कराया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें