रियल स्टेट के धंधे में पिलपिल व हाफीज गुट भिड़े

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

जमशेदपुर: मानगो आजादनगर रोड नंबर एक के इमारते सरिया के नीचे रियल स्टेट के कारोबार को लेकर दो अपराधी गिरोह रविवार की सुबह एक बार फिर भिड़ गये.

इसके बाद एक गुट ने विवादित भूमि पर बने एक कमरे का ताला तोड़कर सामानों को बाहर फेंक दिया. सूचना पाकर मानगो पुलिस पहुंची तथा कमरे में ताला बंद कर दिया. मानगो थाना प्रभारी लक्ष्मण प्रसाद के मुताबिक इस संबंध में कोई लिखित शिकायत दर्ज नहीं करायी गयी है, लेकिन दोनों गुटों के बीच झड़क की आशंका को देखते हुए पुलिस ने अपने स्तर से कार्रवाई की है. विवाद पिलपिल पप्पू, बबलू ग्रुप और हाफिज तथा जफर ग्रुप के बीच हुआ था.

दोनों गिरोह कर रहे हैं दावा

पुलिस सूत्रों के मुताबिक आजादनगर रोड नंबर एक में छह बीघा जमीन है. यहां चार-पांच कट्ठा रैयती जमीन है, बाकी की जमीन बिहार सरकार के नाम से है. जमीन पर एक गुट से पिलपिल पप्पू और दूसरे से हाफिज और जफर ने कब्जा किया है. जमीन पर दो कमरे हाफिज ने बनाये हैं, जिसमें कुछ सामान रखा हुआ था. दोनों गुट के बीच रुपये के लेनदेन का विवाद चल रहा है. रविवार की सुबह बबलू और पिलपिल पप्पू अपने साथियों के साथ पहुंचा और कमरे का ताला तोड़ कर सामान बाहर फेंक दिया. हाफिज ने इसका विरोध किया, लेकिन वे लोग नहीं माने. इसके बाद हाफिज ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस को सूचना देने के बाद दोबारा रोड नंबर दो में हाफिज को घेरकर धमकी दी. घटना के बाद से दोनों ग्रुप के बीच में हिंसक झड़प की आशंका बढ़ गयी है.

दोनों गुटों का है आपराधिक रिकार्ड

पिलपिल पप्पू और बबलू का आपराधिक रिकार्ड रहा है. पिलपिल पप्पू बादशाह हत्याकांड, हासिम हत्याकांड समेत लगभग एक दर्जन मामलों में पूर्व में जेल जा चुका है. पुलिस सूत्रों के अनुसार हाफिज पूर्व में आजाद नगर थाना पर पथराव के मामले में जेल जा चुका है. हाफिज का नाम चेपापुल के नजदीक जमीन के एक बड़े प्लॉट की घेराबंदी के मामले में भी आया था.

विवादित कमरे में ताला लगा

‘सूचना मिली थी कि हाफिज के बनाये गये कमरे में बबलू और पप्पू दोनों ने ताला तोड़कर सामान को फेंक दिया है. पुलिस टीम ने विवादित कमरे में ताला बंद कर दिया है. मामले की जांच की जा रही है. पुलिस को हाफिज ने लिखित आवेदन नहीं दिया है. पैसा लेन-देन को लेकर घटना हुई है. -लक्ष्मण प्रसाद, थाना प्रभारी मानगो.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें