झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 : नेता कर रहे थे इलेक्शन डिबेट, बीजेपी और जेवीएम के कार्यकर्ता भिड़े, एक घायल

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
मारपीट पर उतारू हुए समर्थक
बीजेपी और जेवीएम के कार्यकर्ता भिड़े, एक घायल
रांची : सर्कुलर रोड स्थित न्यूक्लियस मॉल में स्थानीय न्यूज चैनल के इलेक्शन डिबेट में रविवार को भाजपा और झाविमो के समर्थक आपस में भिड़ गये.मामला तब और बिगड़ गया, जब दाेनों दल के समर्थक मारपीट पर उतर आये. मारपीट के दौरान झाविमो के जितेंद्र वर्मा और सत्येंद्र वर्मा को चोट लगी हैं. आनन-फानन में जितेंद्र वर्मा को ऑर्किड अस्पताल में भरती कराया गया है. जबकि सत्येंद्र वर्मा को आंख में चोट लगी है. डिबेट में भाजपा प्रत्याशी सीपी सिंह, जेएमएम प्रत्याशी महुआ माजी, निर्दलीय प्रत्याशी पवन शर्मा, जेवीएम प्रत्याशी सुनील गुप्ता उपस्थित थे.
नारे लगने के बाद शुरू हो गयी मारपीट : डिबेट चल ही रहा था, इसी दौरान दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट होने लगी. इसके पहले भाजपा समर्थक अपने प्रत्याशी सीपी सिंह के समर्थन में नारे लगाने लगे. इसी बीच झाविमो के प्रत्याशी सुनील गुप्ता ने इसका विरोध किया. कहा कि इस प्रकार नारे लगाये जायेंगे, तो हमारे भी कार्यकर्ता नारे लगाने लगेंगे. इसके बाद विवाद बढ़ता गया और हो-हंगामा होने लगा.
समर्थक एक-दूसरे से उलझ गये. विवाद को बढ़ता देख प्रत्याशियों के समर्थक वहां से खिसकने लगे. हालांकि प्रत्याशियों और समर्थकों को शांत कराने की कोशिश की गयी. मामले को शांत कराने में पुलिसकर्मी भी असफल हो गये. मामले की सूचना मिलने के बाद लालपुर पुलिस पूरे दल-बल के साथ न्यूक्लियस मॉल पहुंची. इसके बाद घायल जितेंद्र वर्मा से मिलने ऑर्किड अस्पताल पहुंची. अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि घायल को पीठ में चाेट लगी है. खतरे से बाहर है.
स्थानीय न्यूज चैनल का चल रहा था इलेक्शन डिबेट
इस तरह के कार्यक्रमों में लोगों को संयम रखना चाहिए. हर किसी को अपनी बात रखने का अधिकार है. एक-एक करके हर किसी की बातें सुननी चाहिए.
सीपी सिंह, भाजपा प्रत्याशी, रांची विधानसभा क्षेत्र.
घायल से मिलने झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी अस्पताल पहुंचे
झाविमो के अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी घायल से मिलने ऑर्किड अस्पताल पहुंचे और डॉक्टरों से घायल के बारे में जानकारी ली. श्री मरांडी ने कहा कि अब उनको अहसास होने लगा है कि वे बुरी तरह से हार रहेहैं. जहां इस प्रकार भीड़ होती है. मारपीट होती है, वह भी नेता की उपस्थिति में, यह गलत है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग लाठी के बल पर भय का माहौल बनाना चाहते हैं. श्री मरांडी ने मारपीट करनेवालों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें