1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. operation chakravyuh naxalites was closed in gumla now preparations are being made for another big operation smj

नक्सलियों के खिलाफ गुमला में एक सप्ताह तक चला 'ऑपरेशन चक्रव्यूह' हुआ बंद, अब एक और बड़े ऑपरेशन की हो रही तैयारी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News : गुमला के जंगलों में चले ऑपरेशन चक्रव्यूह में शामिल जवान.
Jharkhand News : गुमला के जंगलों में चले ऑपरेशन चक्रव्यूह में शामिल जवान.
प्रभात खबर.

Jharkhand Naxal News (दुर्जय पासवान, गुमला) : झारखंड के गुमला जिला से 80 किमी दूर कुरूमगढ़ थाना क्षेत्र के जंगली व पहाड़ी इलाकों में भाकपा माओवादी के खिलाफ एक सप्ताह तक चले ऑपरेशन चक्रव्यूह रविवार को बंद कर दिया गया. सुरक्षा बल कोचागानी, केरागानी, मरवा व रोरेद जंगल से निकल कर अपने कैंप पहुंच गये हैं. हालांकि, गुमला पुलिस 2 दिन के बाद भाकपा माओवादी के खिलाफ दूसरा ऑपरेशन लॉन्च करने की तैयारी में है. इसके लिए रणनीति बन रही है.

इस रणनीति के तहत पुलिस के टारगेट में इस बार 10 लाख रुपये का इनामी जोनल कमांडर रवींद्र गंझू, 5 लाख का इनामी रंथु उरांव और 2 लाख का इनामी लजीम अंसारी है. इन नक्सलियों को जंगल में घुसकर पकड़ने व मुठभेड़ में मार गिराने के लिए गुमला पुलिस ने रणनीति बनाना शुरू कर दी है. 2 दिन के बाद कभी भी इन नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन शुरू किया जायेगा.

बता दें कि कुरूमगढ़ थाना के कोचागानी, केरागानी, मरवा व रोरेद जंगल में भाकपा माओवादी के 15 लाख के इनामी नक्सली बुद्धेश्वर उरांव के अपने दस्ते के साथ छिपे होने की सूचना के बाद CRPF, कोबरा, झारखंड जगुआर व गुमला पुलिस ने संयुक्त रूप से ऑपरेशन चक्रव्यूह चलाया था. जिसका परिणाम था कि पुलिस को बड़ी सफलता मिली और बुद्धेश्वर उरांव कोचागानी जंगल में मारा गया.

इस प्रकार रहा ऑपरेशन चक्रव्यूह

12 जुलाई 2021 : गुमला पुलिस को जैसे ही सूचना मिली कि बुद्धेश्वर उरांव जंगल में छिपा है. लेकिन, ऑपरेशन चक्रव्यूह शुरू की गयी और सुरक्षा बल जंगल में घुस गये.
13 जुलाई 2021 : केरागानी जंगल में IED ब्लास्ट में जवान विश्वजीत कुंभकार घायल हो गया था, जबकि खोजी कुत्ता शहीद हो गया था. शाम को नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हुई थी.
14 जुलाई 2021 : केरागानी जंगल में IED ब्लास्ट में ग्रामीण रामदेव मुंडा की मौत हो गयी थी, जबकि 2 ग्रामीण घायल हो गये थे. ये लोग पुलिस को रास्ता दिखाने का काम कर रहे थे.
15 जुलाई 2021 : कोचागानी जंगल में छिपकर बैठे बुद्धेश्वर उरांव तक सुरक्षा बल पहुंच गये और मुठभेड़ में कोबरा के जवानों ने बुद्धेश्वर को मार गिराया था. AK- 47, इंसास सहित विस्फोटक मिला था.
16 जुलाई 2021 : कोचागानी जंगल में सुरक्षा बलों ने सर्च ऑपरेशन चलाया. नक्सलियों का अस्थायी मिनी कैंप को ध्वस्त किया गया. इंसास रायफल सहित कई सामान जंगल से मिला था.
17 जुलाई 2021 : कोचागानी व केरागानी जंगल से सुरक्षा बलों ने 3 IED बम बरामद किया था. बम जमीन में गाड़ा हुआ था. सुरक्षा बलों ने इन बमों को जंगल में ही नष्ट कर दिया था.
18 जुलाई 2021 : कोचागानी व केरागानी जंगल में पुलिस को मिली बड़ी सफलता व बचे हुए नक्सलियों के भागने के बाद पुलिस ने ऑपरेशन चक्रव्यूह बंद कर दिया और जंगल से जवान निकल कैंप पहुंच गये.

नक्सलियों के खिलाफ जल्द ऑपरेशन होगा शुरू : एसपी

इस संबंध में गुमला एसपी एचपी जनार्दनन ने कहा कि ऑपरेशन चक्रव्यूह अभी बंद कर दिया गया है. लेकिन, दो दिन बाद नक्सलियों के खिलाफ दूसरे नाम से ऑपरेशन शुरू किया जायेगा. इसबार गुमला से माओवादियों को खत्म करने के लिए बड़ा ऑपरेशन चलेगा. इसकी तैयारी चल रही है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें