1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. jharkhand news mountains are being broken away from the lease area crops are also being damaged opposition srn

लीज एरिया से हटकर तोड़ा जा रहा पहाड़, फसलों को भी नुकसान हो रहा है नुकसान, विरोध

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
लीज एरिया से हटकर तोड़ा जा रहा पहाड़
लीज एरिया से हटकर तोड़ा जा रहा पहाड़
सांकेतिक तस्वीर

Gumla news, dumri news : डुमरी (गुमला). डुमरी प्रखंड में कई जगह अवैध तरीके से पहाड़ों को तोड़ा जा रहा है. यह धंधा चोरी छिपे हो रहा है. ऐसा ही एक मामला प्रखंड के ऊपर कुटलू गांव का है. यहां लीज एरिया से हट कर पहाड़ तोड़ा जा रहा है, जिससे इस क्षेत्र के पेड़-पौधे मर रहे हैं. फसलों को भी नुकसान पहुंच रहा है. समीप के गांव के लोगों के स्वास्थ्य पर भी असर पड़ने लगा है. ग्रामीणों की शिकायत है कि गैरमजरूआ जमीन से भी पहाड़ को तोड़ा जा रहा है. ग्रामीणों ने पहाड़ तोड़ने का विरोध किया है. साथ ही खनन विभाग गुमला से मांग की है कि लीज से हट कर पत्थर तोड़ने पर रोक लगायी जाये.

पत्थर तोड़ने से मना किया गया है :

ग्रामीण अशोक सिंह ने कहा कि हमारी गैरमजरूआ जमीन से पत्थर तोड़ा जा रहा है. यह गलत है. इसपर रोक लगे. जहां तक लीज की जमीन है, वहां तक काम करें. उन्होंने कहा कि लीजधारक से बात करने पर कहा जाता है कि जमीन लीज पर ली है, जबकि कोई लीज नहीं ली गयी है. शनिवार को गांव में बैठक कर पत्थर को तोड़ने से मना किया गया है. कजरू कुम्हार ने कहा कि प्लांट लगने से कोई फायदा नहीं है.

प्लांट के नीचे धान लगाया था. प्लांट से करीब 200 किलो धान को नुकसान हुआ है. गांव को क्षति पहुंच रही है. लीजधारक बक्स (गैरमजरूआ) जमीन का पत्थर तोड़ कर बेच रहा है. प्लांट में गांव के दो-तीन लोग नाइट ड्यूटी करते हैं. लीजधारक ने बाहर से मजदूर मंगाया है. वीरेंद्र खेरवार ने कहा कि प्लांट लगाने से गांव वालों को फायदा नहीं हो रहा है. गांव के पढ़े-लिखे बच्चों को काम नहीं मिल रहा है. शनिवार को गांव के लोगों ने अपनी जमीन से पत्थर तोड़ने से मना किया है. गांव के वहीं रवींद्र तिवारी ने बताया जिस जगह पत्थर टूट रहा है, वह मेरी जमीन है. प्लांट लगाने के लिए पांच एकड़ से अधिक जमीन 10 साल के लिए लीज पर दी गयी है.

एक साल पहले लीज दिया गया : खनन विभाग गुमला से मिली जानकारी के अनुसार, सीताराम प्रसाद के नाम से ऊपर कुटलू गांव में जमीन लीज पर दी गयी है. लीज का एक साल हुआ है. अगर लीज से हट कर पहाड़ तोड़ा गया है, तो जांच की जायेगी. अगर ग्रामीण विरोध कर रहे हैं, तो इसकी भी जांच करा कर कार्रवाई की जायेगी.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें