26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

पतगच्छा जंगल से हिरण का सिर कटा धड़ बरामद

वन विभाग की टीम ने पूछताछ के लिए दो लोगों को लिया है हिरासत में

वन विभाग की टीम ने पूछताछ के लिए दो लोगों को लिया है हिरासत में घटना स्थल से एकत्रित किये गये हिरण के बाल व खून का सैंपल सैंपल को फॉरेंसिक जांच के लिए देहरादून भेजने की चल रही तैयारी गुमला. गुमला प्रखंड के पतगच्छा से वन विभाग गुमला की टीम ने हिरण का सिर कटा शव (धड़) बरामद किया है. हालांकि घटना स्थल व आसपास के इलाकों में हिरण के सिर को खोजने का काफी प्रयास किया गया, परंतु सिर कहीं नहीं मिला. वन विभाग की टीम को घटनास्थल से हिरण के बाल व खून मिले हैं, जिसे वन विभाग की टीम ने सैंपल के तौर पर एकत्रित किया है. अब उक्त सैंपल को फॉरेंसिक जांच के लिए देहरादून भेजने की तैयारी चल रही है. घटना के संबंध में वन विभाग की टीम ने पुलिस के सहयोग से पूछताछ के लिए गांव के लोगों को हिरासत में लिया है. जानकारी के अनुसार गुमला वनपाल राजेश कुजूर को सोमवार की शाम लगभग 6.30 बजे गुप्त सूचना मिली थी कि पतगच्छा जंगल में जंगली जानवरों का शिकार किया जा रहा है. सूचना के आलोक में वनपाल राजेश कुजूर ने वरीय पदाधिकारियों को सूचना देते हुए एक टीम का गठन किया. टीम में वनरक्षी अकील अहमद, वनरक्षी प्रवीण तिर्की व वनरक्षी रजत किरण डुंगडुंग व होमगार्ड के जवान शामिल थे. इसके बाद टीम पतगच्छा पहुंच पतगच्छा वन समिति व किता वन समिति के अध्यक्ष व सचिव से समन्वय स्थापित कर पतगच्छा में मामले की जांच करने लगी. इस बीच टीम व दोनों वन समितियों के लोगों को गांव में एक जगह पर खून गिरा दिखा. वहीं पास किसी जानवर का मुंडन किया हुआ बाल भी मिला. आसपास गहनता से जांच करने पर टीम को कथित हिरण का सिर कटा हुआ धड़ मिला. वहां हिरण का सिर नहीं था और हिरण का पूरी तरह से मुंडन किया हुआ था. टीम द्वारा पूछताछ करने के बाद गांव के कुछ लोगों का नाम सामने आया. जिन लोगों का नाम सामने आया, उन्हें पूछताछ के लिए हिरासत में लेने की आवश्यकता पड़ने पर वनपाल राजेश कुजूर ने इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी सुरेंद्र कुमार सिंह से संपर्क किया. इसके बाद थानेदार श्री सिंह के निर्देश पर कोटाम पुलिस पिकेट की पुलिस के सहयोग से वन विभाग की टीम ने घटना के संबंध में पूछताछ करने के लिए गांव के दो लोगों को हिरासत में लिया. उक्त दोनों लोगों से पूछताछ की जा रही है. वन विभाग की टीम ने घटनास्थल से हिरण का बिना सिर के धड़ को जब्त किया और उसके बाल व खून का सैंपल भी एकत्रित कर अपने साथ ले आयी. वनपाल ने कहा: वनपाल राजेश कुजूर ने बताया कि सोमवार को पतगचछा जंगल में जंगली जानवरों का शिकार करने की सूचना मिली थी. सूचना के आलोक में टीम का गठन कर मामले की जांच की गयी, तो पाया गया कि जंगल से एक हिरण का शिकार किया गया है और उसका मीट बनाने की तैयारी की जा रही थी. घटनास्थल से मुंडन किया हुआ हिरण का बिना सिर का धड़ बरामद हुआ है. साथ ही वहां से हिरण का बाल व जमीन पर गिरा हुआ खून मिला है. हिरण के धड़ को जब्त किये हैं और बाल व खून का सैंपल लिया गया है. सैंपल की जांच के लिए देहरादून भेजने की प्रक्रिया चल रही है. वनपाल ने बताया कि हिरण ो सिर को खोजा जा रहा है. जानवर के शिकार मामले में चल रही है कार्रवाई : डीएफओ डीएफओ अहमद बेलाल अनवर ने बताया कि जंगली जानवर का शिकार करने के मामले में गांव के कुछ लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. उनलोगों से पूछताछ की जा रही है. साथ ही आगे की भी कार्रवाई भी चल रही है. डीएफओ ने लोगों से अपील की कि जंगल व जंगल में रहने वाले प्राणियों की सुरक्षा करें, न की उसका शिकार करें. जंगलों में रहने वाले जानवर हमारे धरोहर की तरह हैं. उनकी सुरक्षा व संरक्षण हम सभी की जिम्मेवारी है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें