1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. 4 accomplices arrested including 1 accused in double murder case police released photo of 2 absconding master mind smj

डबल मर्डर मामले में एक आरोपी समेत 4 सहयोगी गिरफ्तार, 2 फरार मास्टर माइंड की पुलिस ने जारी की तस्वीर

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : भाई-बहन हत्याकांड मामले में एक आरोपी समेत उसके सहयोगी को पुलिस ने किया गिरफ्तार. 2 फरार मास्टर माइंड की पुलिस ने जारी की तस्वीर.
Jharkhand news : भाई-बहन हत्याकांड मामले में एक आरोपी समेत उसके सहयोगी को पुलिस ने किया गिरफ्तार. 2 फरार मास्टर माइंड की पुलिस ने जारी की तस्वीर.
प्रभात खबर.

Jharkhand news, Gumla news : गुमला (दुर्जय पासवान) : गुमला जिला अंतर्गत घाघरा थाना के चर्चित भाई- बहन हत्याकांड का गुमला पुलिस ने उद्भेदन कर लिया है. पुलिस ने हत्याकांड में शामिल एक आरोपी घाघरा निवासी कुलदीप कुमार जायसवाल को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि कुलदीप के साथ रहकर क्राइम करने वाले अन्य 3 आर्म्स एक्ट के आरोपियों को पकड़ा गया है. इनमें नितेश जायसवाल, कुणाल वर्मा व मणी कुमार साहू है. इनलोगों के पास से एक पिस्टल, एक रिवॉल्वर, 3 देसी पिस्टल, एक दावली, एक भुजाली, 2 पीस चिलम एवं घटना में प्रयुक्त मोबाइल बरामद हुई है, जबकि हत्या में शामिल 2 अन्य आरोपी फरार है. जिनमें घाघरा के आनंद तिग्गा एवं विवेक मिश्रा है. दोनों आरोपी भाई-बहन हत्याकांड का मास्टर माइंड है. गुमला पुलिस ने आनंद एवं विवेक का फोटो जारी कर लोगों से इनदोनों की सूचना देने की अपील की है.

एसपी हृदीप पी जनार्दनन ने बताया कि घाघरा थाना स्थित कोटामाटी गांव के समीप सगे भाई- बहन ममता खाखा (20 वर्ष) एवं उसके बड़े भाई संजीव रंजन भगत (27 वर्ष) की हत्या कर दी गयी है. बड़ी बेरहमी से चेहरा को कुचला गया था. इस हत्याकांड के बाद एसडीओ मनीष चंद्र लाल के नेतृत्व में एसआईटी (स्पेशल इंवेस्टीगेशन टीम) का गठन किया गया. इसके बाद पुलिस हर पहलुओं पर बारीकी से जांच करते हुए आगे बढ़ी.

उन्होंने बताया कि पुलिस ने कई संदिग्ध लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया. इसी दौरान कुलदीप जायसवाल से पूछताछ किया गया. कुलदीप ने हत्याकांड का राज उगला. घाघरा थाना के हाई स्कूल मैदान के समीप विनोद महली का घर है. यह घर खाली रहता है. साथ ही सुनसान जगह पर है. जहां वह अपने कुछ साथियों के साथ खाना- पीना करता है. घाघरा में कहां क्राइम करना है. इसकी रणनीति भी विनोद के घर पर ही बनायी जाती थी. भाई- बहन की हत्या के दिन भी आरोपियों ने विनोद महली के घर पर ही आकर सोया था और हथियार को छिपा दिया था.

हत्या के वक्त नशे में था आरोपी

एसपी ने बताया कि पुलिस ने भाई- बहन हत्याकांड में बारीकी से जांच की है. 25 अक्तूबर, 2020 को जब भाई- बहन की हत्या की गयी. उस समय आरोपी नशे में थे. वे लूटपाट कर रहे थे. शातिर अपराधी आनंद तिग्गा एवं विवेक मिश्रा ने सबसे पहले कोटामाटी के समीप पाकरटोली पुल के पास बलेनो कार पर बैठे भाई-बहन को अपने कब्जे में लिया. गाड़ी के साथ भाई- बहन को कब्जे में करने के बाद आनंद ने अपने दोस्तों को फोन किया. इसके बाद कई युवक बाइक पर सवार होकर पाकरटोली पुल के पास पहुंचे. इसके बाद भाई बहन की निर्मम हत्या कर दी. हत्या करने के बाद बलेनो गाड़ी को रूकी रोड के पास छोड़कर भाग गये.

हत्याकांड के बाद सभी आरोपी विनोद महली के घर पहुंचे. जहां गांजा पीने के बाद सो गये. दूसरे दिन सुबह विवेक मिश्रा का भाई अभिषेक मिश्रा पहुंचा. अभिषेक ने विवेक एवं आनंद को बाइक में बैठाकर लोहरदगा छोड़ दिया. इसके बाद से विवेक एवं आनंद फरार है. एसपी ने यह भी बताया कि घाघरा में कुछ दिन पूर्व बाजार में एक युवक को बाइक के साथ जिंदा जलाकर मार दिया गया था. उस समय भी खाने- पीने को लेकर विवाद हुआ था. इसमें भी यही सभी आरोपी शामिल थे.

किस कारण हुई हत्या

जब विवेक एवं आनंद ने भाई- बहन को पकड़ा, तो आरोपियों ने दोनों को प्रेमी- प्रेमिका समझ लिया. इसलिए उस समय बकझक हुई. भाई-बहन उन्हें छोड़ने के लिए कहते रहे, लेकिन आरोपी नशे में इतना धुत था कि उसके मन में सिर्फ क्राइम करना ही चल रहा था. इसलिए विवेक एवं आनंद ने अपने साथियों से मिलकर दोनों भाई- बहन की हत्या कर दिया.

सूचना देने पर मिलेगा इनाम

विवेक मिश्रा व आनंद तिग्गा शातिर अपराधी है. इन दोनों ने अपने साथियों से मिलकर कई घटनाओं को अंजाम दिया है. गुमला पुलिस ने दोनों आरोपियों का पोस्टर एवं फोटो जारी किया है. एसपी ने दोनों आरोपियों की सूचना देने की अपील जनता से की है. सूचना देने वाले व्यक्ति का नाम गुप्त रखा जायेगा. साथ ही उन्हें इनाम भी दिया जायेगा.

एसआईटी के सदस्य

भाई- बहन हत्याकांड के उद्भेदन के लिए गुमला एसपी ने एसआईटी टीम का गठन किया था. जिसमें गुमला एसडीपीओ मनीष चंद्र लाल, इंस्पेक्टर मनोज कुमार, बिशुनपुर थानेदार मोहन कुमार, घाघरा के पुअनि बुलेट गोराई, पुअनि हेमराज कुमार, पुअनि नितेश टोपनो, बिशुनपुर थाना के पुअनि दशरथ कुमार दास, सअनि अजीत कुमार राय सहित पुलिस बल थी.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें