26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

गिरिडीह : दुष्कर्म के आरोपी शिक्षक का शव पहुंचा घर, गांव में तनाव , पुलिस ने डाला डेरा

गिरिडीह केंद्रीय कारा में आरोपी अर्जुन यादव की तबीयत बिगड़ने से इलाज के दौरान मौत हो गयी थी. अर्जुन पिछले तीन माह से दुष्कर्म के एक मामले में जेल में बंद था.

गिरिडीह : भेलवाघाटी थाना क्षेत्र की हरियाडीह पंचायत के कुश्वर गांव निवासी सहायक अध्यापक अर्जुन कुमार यादव (38 वर्ष) का शव शुक्रवार की तड़के गांव लाया गया. अर्जुन की मौत गुरुवार को जेल में तबीयत बिगड़ने के बाद इलाज के दौरान हो गयी थी. सुबह तीन बजे मृतक का शव गांव पहुंचते ही परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया.

शव पहुंचने के बाद गांव में झड़प, पुलिस कर रही कैंप

इधर, अर्जुन की मौत के बाद कुश्वर गांव के ही दो पक्षों में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गयी. गांव के लोगों के साथ-साथ आसपास के गांव सैकड़ो लोग मौके पर पर जमा हो गये. मामले की गंभीरता को देखते हुए भेलवाघाटी थाना, देवरी थाना व गुनियाथर ओपी के पुलिस पदाधिकारी कुश्वर गांव पहुंचे. तनाव को देखते हुए पुलिस पदाधिकारी गांव में कैंप कर रहे हैं.

महिलाओं के बीच हुई मारपीट

शुक्रवार की सुबह में गांव के दो पक्ष के महिलाओं के बीच झड़प हो गयी. झड़प के दौरान रोड़ेबाजी भी हुई. मुकदमा करने वाले के घर पर पत्थर भी फेंका गया. वहीं बीच बचाव करने पहुंचे पुलिस पदाधिकारियों को विरोध का सामना करना पड़ा. ग्रामीणों ने भेलवाघाटी पुलिस के विरुद्ध नारेबाजी भी की. विरोध जता रहे ग्रामीणों का कहना था कि भेलवाघाटी पुलिस सहायक अध्यापक को गिरफ्तार कर ले गयी और तीन महीने के बाद मृत अवस्था में परिवार को सुपुर्द किया जा रहा है. वहीं, इस मामले में साजिशकर्ताओं को बचाया जा रहा है. इस दौरान पुलिस से नोकझोंक भी हुई. ग्रामीणों ने भेलवाघाटी पुलिस के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की.

मृतक की पत्नी ने थाना में दिया आवेदन

अर्जुन यादव की पत्नी नीलम देवी ने भेलवाघाटी थाना में आवेदन देकर गांव के पूर्व में केस करने वाले परिवार पर हत्या का आरोप लगाया है. आवेदन में कहा गया है कि उक्त लोगों ने साजिश के तहत झूठा मुकदमा कर जेल भेजवाया, मुकदमा के पहले मेरे पति की हत्या करने की साजिश रची गयी थी.

घटना के बाद फरार हुए पूर्व में केस करने वाला परिवार

इधर सहायक अध्यापक अर्जुन कुमार यादव की मौत होने के बाद उसके विरुद्ध केस करने वाला परिवार ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए गांव छोड़कर चला गया. शुक्रवार को घर में ताला लटक मिला.

साजिश रचकर हत्या करवाने की आशंका जतायी

मृतक सहायक अध्यापक अर्जुन कुमार यादव के परिवार के सदस्यों का कहना था कि साजिश के तहत गिरिडीह के केंद्रीय कारा में उसकी हत्या हुई है. इस मामले में पहले उसे दुष्कर्म के झूठा मुकदमा में फंसाया गया, इसके बाद उसे फंसाने वाले पक्ष ने साजिश रचकर जेल में उसकी हत्या करवा दी. कहा कि मृतक की पत्नी के आवेदन में जिनका नाम है, उनकी गिरफ्तारी होने तक अंतिम संस्कार नहीं किया जायेगा. इस दौरान मौजूद गावां अंचल के इंस्पेक्टर पास्कल टोप्पो, भेलवाघाटी के थाना प्रभारी ब्रजेश कुमार, एएसआई धर्मेंद्र सिंह, इस्माइल मरांडी, पूर्व जिप सदस्य मीरा तिवारी, माले नेता रामकिशुन यादव, अजीत शर्मा, प्रदीप हाजरा, मुखिया बाबूमणि सिंह, समाजसेवी जागेश्वर प्रसाद यादव के समझाने पर ग्रामीण शांत हुए. इसके बाद पूर्वाह्न ग्यारह बजे शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया.

14 मार्च को जेल गया था अर्जुन

भेलवाघाटी थाना क्षेत्र के कुश्वर गांव सहायक अध्यापक के विरुद्ध गांव की ही एक महिला ने 11 मार्च को दुष्कर्म का आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज करवाया गया था. मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस ने 14 मार्च को अर्जुन को गिरफ्तार कर जेल भेजा दिया था. तब से वह केंद्रीय कारा गिरिडीह में बंद था. गुरुवार (27 जून) को संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गयी.

सहायक अध्यापक संघ ने दी परिवार को सांत्वना

सहायक अध्यापक अर्जुन कुमार यादव की मौत की घटना की सूचना पर सहायक अध्यापक संघ के जिला महासचिव सुखदेव हाजरा, प्रखंड सचिव उमेश कुमार सहित मनोज यादव, राजकिशोर शर्मा, जागेश्वर प्रसाद यादव, सलीम अंसारी, भीम पासवान, विजय हाजरा, तिलकधारी हाजरा, खगेश्वर हाजरा, उमेश हाजरा, अर्जुन प्रसाद यादव आदि कुश्वर गांव पहुंचे और पीड़ित परिवार को सांत्वना दी. संघ के सदस्यों ने घटना की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है.

Also Read : Jharkhand Cyber Crime: गिरिडीह से चार साइबर अपराधी गिरफ्तार, फर्जी बैंक अधिकारी बनकर गर्भवती महिलाओं से करते थे ठगी

Also Read : Jharkhand Cabinet: 200 यूनिट फ्री बिजली पर लगी मुहर, चंपाई सोरेन कैबिनेट ने 38 प्रस्तावों को दी मंजूरी

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें