1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. garhwa
  5. jharkhand news 8000 beneficiaries of primitive tribal family are not getting rice 2 lakh 50 thousand poor beneficiaries of garhwa also have hanging ration smj

आदिम जनजाति परिवार के 8000 लाभुकों को नहीं मिल रहा चावल, गढ़वा के ढाई लाख गरीब लाभुकों का भी लटका राशन

गढ़वा में PTG डाकिया योजना फेल हो गयी है. इससे जिले के 15 प्रखंडों के आदिम जनजाति परिवार के करीब 8000 लाभुकों को चावल नहीं मिल पा रहा है. पिछले तीन महीने से PGT परिवार को चावल नहीं मिलने से सदस्य काफी परेशान हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
गढ़वा में आदिम जनजाति परिवारों को नहीं मिल रहा चावल.
गढ़वा में आदिम जनजाति परिवारों को नहीं मिल रहा चावल.
सोशल मीडिया.

Jharkhand News (विनोद पाठक/मुकेश तिवारी, गढ़वा) : खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत इन दिनों गढ़वा जिले में राज्य सरकार की गरीबों तक राशन पहुंचाने की व्यवस्था चरमरा गयी है. विभागीय लापरवाही के कारण राज्य खाद्य एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा NIC पोर्टल पर SIO सृजन नहीं होने तथा आवंटन के अभाव में राशन वितरण व्यवस्था ठप हो गयी है. विशेष रूप से आदिम जनजाति (PTG) परिवारों के लिए राज्य सरकार की ओर से शुरू की गयी PTG डाकिया योजना भी गढ़वा जिले में फेल हो गयी है. इससे 15 प्रखंडों में रहने वाले आदिम जनजाति परिवार के करीब 8000 हजार लाभुकों को राज्य सरकार की ओर से वितरण किया जाने वाला चावल नहीं मिल पा रहा है.

जानकारी के अनुसार, पीटीजी डाकिया योजना के तहत पिछले अगस्त, सितंबर व अक्तूबर माह का चावल आदिम जनजाति परिवारों के बीच नहीं बांटा गया है. PTG लाभुकों तक राशन पहुंचाने के लिए SIO सृजन किये जाने को लेकर संबंधित प्रखंडों के प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारियों (Block Supply Officers) ने जिला आपूर्ति विभाग (District Supply Department) को पत्र भेज कर मामलों से अवगत कराते हुए SIO सृजन कराने का आग्रह किया है, ताकि आदिम जनजाति परिवार के लाभुकों तक ससमय राशन पहुंचाया जा सके.

पत्र में कहा गया है कि SIO सृजन नहीं होने से PTG लाभुक सितंबर महीने के राशन से भी वंचित रह गये हैं. इधर, अक्तूबर में भी राशन नहीं मिला, तो आदिम जनजाति परिवार के लोग आंदोलन के मूड में हैं. ऐसी स्थिति में विधि- व्यवस्था की समस्या उत्पन्न हो सकती है.

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2019 में भी इसी तरह की समस्या हुई थी. इसके कारण PTG डाकिया योजना के लाभुकों को दो महीने का राशन नहीं मिल पाया था. मालूम हो कि पूरे जिले में 226114 PH कार्डधारक, 30251 अंत्योदय कार्डधारक तथा 8169 PTG कार्डधारक हैं.

सितंबर में 2.65 लाख लाभुकों को भी राशन नहीं मिला

इधर, गढ़वा जिले के 2.65 लाख अंत्योदय व PH कार्डधारकों के लिए आवंटन के अभाव में सितंबर महीने का चावल जिले के जन वितरण प्रणाली (PDS) के दुकानदारों तक नहीं भेजा गया. इनमें 20 प्रखंडों के 2.26 लाख PH कार्डधारक, 30 हजार अंत्योदय कार्डधारक व इस कारण आवंटन में राशन की कटौती की गयी. आवंटन के अभाव में अंत्योदय परिवारों को अगस्त महीने का चावल भी नहीं मिला है.

इस तरह राशन वितरण व्यवस्था के चरमरा जाने से जनवितरण प्रणाली के दुकानदार सहित लाभुक भी परेशान हैं. जानकारी के अनुसार, खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत PH लाभुकों को प्रति सदस्य तीन किलो चावल व दो किलो गेहूं वितरण किया जाता है. वहीं, अंत्योदय लाभुकों को 21 किलो चावल व 14 किलो गेहूं वितरण किया जाता है.

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का मिला लाभ

विभागीय जानकारी के अनुसार, गढ़वा जिले के इन अंत्योदय लाभुक, PTG डाकिया योजना व PH राशन लाभुकों को सिर्फ प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का राशन ही वितरण किया गया है, जो राज्य सरकार से मिलने वाले राशन के अतिरिक्त है. सितंबर महीने में भी इसी योजना का चावल इन लाभुकों के बीच वितरण किया गया है. जबकि राज्य सरकार की ओर से मिलने वाला राशन लंबित है. ऐसे में जनवितरण प्रणाली के दुकानदार सहित राशन लाभुकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

आवंटन कम होने से समय पर राशन वितरण नहीं : DSO

इस संबंध में पूछे जाने पर जिला आपूर्ति पदाधिकारी विजयेंद्र कुमार ने कहा कि आवंटन कम आने की वजह से PTG लाभुकों को समय पर राशन नहीं मिल पाया है. लेकिन, आवंटन के हिसाब से राशन वितरण किया जा रहा है. उन्होंने स्वीकार किया कि आवंटन के अभाव में सितंबर महीने का चावल PH व अंत्योदय लाभुकों को नहीं मिल पाया है. उन्होंने कहा कि चावल उपलब्ध होते ही वितरण कराया जायेगा.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें