17.1 C
Ranchi
Tuesday, March 5, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

दुमका : पथ निर्माण विभाग ने उपराजधानी में विकास के लिए तैयाार किया डीपीआर

रिंग रोड के साउथ-वेस्ट सर्किल के रूप में चुटोनाथ, चिगलपहाड़ी, हवाई अड्डा होते दुमका-रामपुरहाट में मिलेगी सड़क. गोबिंदपुर-साहिबगंज पथ में विजयपुर से गुहियाजोरी तक बायपास का भी निर्माण है प्रस्तावित. कमारदुधानी से हिजला मेला परिसर तक 3.2 किमी का कनेक्टिंग रोड बनवाने का भी प्रस्ताव तैयार.

दुमका : पथ निर्माण विभाग ने उपराजधानी के लिए चार ऐसी प्रमुख पथ परियोजनाओं का डीपीआर तैयार किया है, जिसके धरातल पर उतरते ही छोटे से शहर का दायरा बढ़ जायेगा. दुमका के विकास को पंख लग जायेंगे. दरअसल, विभाग ने रिंग रोड के साउथ-वेस्ट सर्कल, एडीबी संपोषित गोबिंदपुर-साहिबगंज पथ से हिजला एप्रोच, इसी पथ पर कमारदुधानी से मुंडमाला तक बायपास का डीपीआर बनाया है. इन सभी परियोजनाओं का लाभ शहर को मिलना तय है. आसपास के इलाके में भी तेजी से शहरीकरण का प्रभाव दिखेगा. सड़कें जब गुजरेंगी, तो बाजार विकसित होगा. व्यवसाय फलेगा-फूलेगा. रोजगार के अवसर सृजित होंगे. अभी रिंग रोड के रूप में दुमका के श्रीअमड़ा से रामपुर तक का ही हिस्सा बना था. एक हिस्से में गोबिंदपुर साहिबगंज के विजयपुर से श्रीअमड़ा तक की सड़क उपयोग में आ रही थी, जो गोबिंदपुर-धनबाद, जामताड़ा के अलावा बिहार के भागलपुर-बांका, जमुई-देवघर जैसे जिले से आनेवाली गाड़ियों को शहर के बाहर-बाहर ही पाकुड़, साहिबगंज, वीरभूम, बर्धमान, कोलकाता के लिए निकालती थी. अब रिंग रोड के जिस हिस्से का प्रस्ताव बना है, उस साउथ-वेस्ट सर्किल के रूप में चुटोनाथ के पास से चिगलपहाड़ी, चोरकट्टा, हवाई अड्डा होते हुए सड़क दुमका-रामपुरहाट एनएच 114 ए में मिलेगी. यह सड़क फोर लेन होगी. इसका लगभग 235 करोड़ रुपये की डीपीआर बन चुकी है. प्रशासनिक स्वीकृति की प्रत्याशा में पथ निर्माण विभाग है. वहीं गोबिंदपुर-साहिबगंज सड़क को फोरलेन में तब्दील करने का निर्णय सरकार पहले ही ले चुकी है. इसके सेक्टर-दो के हिस्से में निश्चितपुर से अमड़ापाड़ा तक की भी सड़क फोरलेन होगी, तो आवागमन की सुविधा काफी बेहतर हो जायेगी. इसी रोड को लेकर बायपास रोड का प्रस्ताव विजयपुर से गुहियाजोरी तक का है. यह सड़क बिल्कुल नयी बनेगी. यानी यह ग्रीन फिल्ड रोड होगी. इस सड़क को बनवाने के लिए भू-अर्जन की भी आवश्यकता होगी. सड़क के बन जाने से गुहियाजोरी तक के लिए वैकल्पिक मार्ग होगा.

धनबाद व जामताड़ा की गाड़ियां सीधे मुड़माला के पास निकलेगी

गोबिंदपुर, जामताड़ा की ओर से आनेवाली गाड़ियां जिसे देवघर या भागलपुर की ओर जाना होता है, उसे अब आनेवाले समय में न तो दुधानी, न ही पुसारो जाना पड़ेगा. ये वाहन कमारदुधानी के पास से ही बनने वाले बायपास से सीधे मुड़माला के पास एनएच-114 ए में निकलेंगी. इससे दुधानी और महारो मोड़ में ट्रैफिक का दबाव बेहद घट जायेगा. दूरी भी कम हो जायेगी. आठ किमी के लगभग के इस बायपास की लागत लगभग 24 करोड़ रुपये की होगी. वहीं हिजला तक पहुंचने के लिए शहर से जो सड़क गुजरती है, वह बेहद संकीर्ण है. बसों या कोई बड़े वाहन की आवाजाही सुगमता से संभव नहीं होती. इस समस्या के निदान के लिए विभाग ने कमारदुधानी से हिजला मेला परिसर तक 3.2 किमी का कनेक्टिंग रोड बनाने का प्रस्ताव तैयार किया है, जिसकी तकनीकी स्वीकृति हो चुकी है. 41 करोड़ रुपये की इस परियोजना के तहत भू-अर्जन के कार्य में आधी राशि खर्च होगी. इससे हिजला मेला स्थल तक बड़े वाहन आराम से आ-जा सकेंगे.

कमारदुधानी जाने का रास्ता हो जायेगा शॉर्ट

शहर से भी कमारदुधानी जाने का शाॅर्ट रास्ता उपलब्ध होगा. यानी, कमारदुधानी स्टेडियम, तीरंदाजी अकादमी आने-जाने के लिए दुधानी-विजयपुर होते हुए लंबी दूरी तय नहीं करनी होगी. कुल मिलाकर ये योजनाएं धरातल पर उतारी गयीं, तो आनेवाले एक-दो दशक में छोटा सा शहर दुमका बड़े शहर के रूप में दिखेगा. विभाग का प्रयास डीसी चौक से एयरपोर्ट के रास्ते को भी फोर लेन करने की है, ताकि अभी ही सड़कों को वह आकार दिया जा सके, जिसकी जरूरत आनेवाले दिनों में होगी. अभी सड़कें चौड़ी हो जायेंगी, तो सड़क के किनारे बसे लोग भी ज्यादा प्रभावित नहीं होंगे.

Also Read: दुमका पहुंचे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, आज पुलिस लाइन में करेंगे झंडोत्तोलन

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें