26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

गोविंदपुर वास्तु विहार के युवक की दामोदरपुर में गोली मारकर हत्या

लाॅ कॉलेज मैदान में घायल पड़ा था अमरदीप भगत उर्फ राहुल, गले में सटाकर मारी गयीं दो गोलियां

वरीय संवाददाता, धनबाद,

गोविंदपुर स्थित वास्तु विहार में रहनेवाले 21 वर्षीय अमरदीप भगत उर्फ राहुल की गोली मारकर हत्या कर दी गयी. शुक्रवार की अलसुबह दामोदरपुर स्थित लाॅ कॉलेज मैदान में स्थानीय लोगों ने राहुल को घायल अवस्था में पड़ा देखा. राहुल के मोबाइल से लोगों ने उसके घरवालों को जानकारी दी. उसके पिता जयप्रकाश भगत लोगों की मदद से उसे एसएनएमएमसीएच में भर्ती कराये, जहां इलाज के दौरान मौत हो गयी. शुक्रवार की दोपहर पोस्टमार्टम के बाद धनबाद थाना पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया. चिकित्सकों के अनुसार, राहुल के गले में दो गोली मारी गयी थी. गले में सटाकर गोली मारी गयी, इस कारण दोनों गोली सिर के पीछे से निकल गयी थीं. चिकित्सकों ने राहुल का विसरा प्रिजर्व कर लिया है. परिजनों ने बताया कि धनसार थाना क्षेत्र के मनईटांड़ झारखंड कार्यालय के पास उनका पुश्तैनी मकान है. घर में जगह कम होने के कारण कुछ माह से अमरदीप अपनी मां सोनी देवी के साथ गोविंदपुर के वास्तु विहार में किराये के मकान में रह रहा था. उसके पिता जयप्रकाश भगत पुश्तैनी मकान में ही रहते हैं.

दो दोस्तों संग रात आठ बजे घर से निकला था राहुल :

राहुल की मां सोनी देवी ने पुलिस को बताया कि उनके पैर में हमेशा झनझनाहट की शिकायत रहती है. वह अमरदीप के साथ गुरुवार को बाइक से बोकारो के एक अस्पताल में गयी थी. लौटने के क्रम में तेलमच्चो ब्रिज के पास बोकारो के एक दोस्त ने राहुल को फोन किया. राहुल ने बताया कि वह बोकारो से धनबाद लौट रहा है. इस पर दोस्त ने कहा कि वह भी धनबाद आ रहा है. शाम करीब 5.30 बजे बिरसा मुंडा पार्क के पास वे पानी पीने के लिए रुके. इसी दौरान उसका दोस्त इशारा करते हुए आगे बढ़ा. बाइक के पीछे एक युवती बैठी हुई थी. रात लगभग साढ़े सात बजे मां-बेटा अपने वास्तु विहार स्थित घर लौटे. इसके कुछ देर के बाद दोस्तों से मिलकर लौटने की बात कह राहुल स्कूटी की चाबी लेकर चला गया. इसके बाद घर नहीं लौटा. मां के बयान के बाद पुलिस हत्याकांड को प्रेम प्रसंग से जोड़कर मामले की जांच कर रही है.

रात दो बजे पिता के मोबाइल पर किया था फोन :

जयप्रकाश भगत ने पुलिस को बताया कि गुरुवार की रात लगभग दो बजे राहुल ने उनके मोबाइल पर कॉल किया था. मनईटांड़ के झारखंड कार्यालय स्थित मकान में दादी का कमरा खाली है या नहीं इसके बारे में उसने पूछा था. बात करते-करते कॉल कट गया था. इसके बाद उसका मोबाइल बंद आने लगा.

कोट

मामले की जांच चल रही है. अमरदीप दो दोस्तों के साथ घर से निकला था. पुलिस दोनों दोस्तों की पहचान में जुटी हुई है. किस वजह से हत्या हुई और किसने की है, जल्द खुलासा हो जायेगा. दीपक कुमार, डीएसपी, लॉ एंड ऑर्डर

यह भी पढ़ें

इकलौती संतान था अमरदीप, शव पहुंचते ही घर में पसरा मातम

धनसार.

मनईटांड़ झारखंड ऑफिस के राहुल उर्फ अमरदीप भगत अपने माता-पिता का इकलौती संतान था. उसका शव पहुंचते ही घर पर मातम पसर गया. परिजन दहाड़ मारकर रोने लगे. अपने बेटे के शव से लिपटकर मां सोनी देवी बार-बार बेसुध हो रही थी. उसके पिता उन्हें संभाल रहे थे, लेकिन वह भी अपने आंसू रोक नहीं पा रहे थे. राहुल की मौसी उर्मिला कुमारी ने बताया कि राहुल अपने माता-पिता का इकलौता चिराग था. उसकी मौत ने पूरा परिवार को झकझोर कर रख दिया है. राहुल की मां गोविंदपुर व पिता जयप्रकाश भगत मनईटांड़ झारखंड ऑफिस में अलग अलग रहते थे. राहुल अपनी मां का इलाज कराने के लिए आशा विहार जैनामोड़ में इलाज कराने के लिए ले गया था. घटना के बाद अगर समय पर राहुल को अस्पताल लाया जाता और चिकित्सक लापरवाही नहीं करते हैं, तो उसकी जान बच सकती थी. राहुल के पास मौजूद उसका पर्स अंगूठी व मोबाइल भी गायब है. हत्यारे इस कांड को छिनतई व लूट की ओर इंगित करना चाहते हैं. रात में एक युवक ने राहुल और एक लड़की के बीच बहस होते देखा है. परिवार वालों ने घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगालने की मांग जिला प्रशासन से की है. राहुल ने बलियापुर काॅलेज से इंटर की पढ़ाई पूरी की थी. उसके पिता जय प्रकाश भगत पुराना बाजार में सब्जी का व्यवसाय करते हैं. मां सोनी देवी गृहिणी हैं.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें