26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

शहर में आवारा पशुओं का आतंक, नगर निगम की आपात बैठक आज

बुजुर्ग महिला की मौत के बाद तेलीपाड़ा के लोग नगर निगम पहुंचे, मृतका के परिजनों को पांच लाख रुपये मुआवजा देने की मांग की

मुख्य संवाददाता, धनबाद.

शहर में आवारा पशुओं के आतंक से लोग परेशान हैं. सोमवार को तेलीपाड़ा (हीरापुर) में आवारा सांड ने एक वृद्ध महिला जगनी महताे को पटक-पटक कर मार डाला था. इसके बाद मंगलवार को तेलीपाड़ा के लोगों ने नगर निगम में प्रदर्शन किया. इस दौरान सहायक नगर आयुक्त से मिलकर आश्रित को पांच लाख रुपये मुआवजा देने की मांग की. वहीं दो दिन का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अगर शहर को आवारा सांड से निजात नहीं मिली तो नगर निगम के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दायर किया जायेगा. नेतृत्व कर रहे भाजपा नेता जगत महतो ने कहा कि आवारा सांड ने अब तक अनेक लोगों को मारा है. इसमें झरी महतो (तेलीपाड़ा), लक्ष्मी साव (शिमलडीह), जगनी महताे (तेलीपाड़ा) समेत 15 लोगों को मौत हो चुकी है. वहीं मुंदरी महताे, गजानन महतो सहित दर्जनों लोग घायल हैं. मृत लोगों के आश्रितों को नगर निगम पांच-पांच लाख रुपये मुआवजा दे.

नगर निगम ने बुधवार को बुलाई है बैठक :

नगर निगम ने बुधवार को आपात बैठक बुलायी है. इसमें एसडीओ, पशुपालन पदाधिकारी व गौशाला संचालक को शामिल होने का आग्रह किया है. सहायक नगर आयुक्त प्रकाश कुमार ने बताया कि आवारा मवेशियों के कारण आये दिन राहगीरों के चोटिल होने एवं अत्यधिक घायल करने से मृत्यु होने की सूचना मिल रही है. आवारा मवेशियों को पकड़कर उन्हें सुरक्षित स्थान पर रखने के लिए बुधवार को बैठक बुलायी गयी है.

हर दिन घट रही है घटनाएं, बाहुबली से व्यवसायी परेशान :

शहर की सड़कों पर आवारा पशुओं के कारण हर दिन दुर्घटनाएं घट रही हैं. रात में भी आवारा पशु सड़क व डिवाइडर पर बैठे रहते हैं. ऐसे में दो पहिया व चार पहिया वाहन उनसे टकराकर दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं. दूसरी ओर हीरापुर में एक सांड ””बाहुबली”” का आतंक है. उसके सड़क से गुजरने पर व्यवसायी दुकानें बंद कर देते हैं. आवारा पशुओं को पकड़ने की जिम्मेवारी नगर निगम की है, लेकिन निगम कोई पहल नहीं कर रहा है. खानापूर्ति के नाम पर तीन माह पहले (सितंबर 2023) आवारा पशुओं को पकड़ने के लिए एकल अभियान के साथ करार हुआ था. इसके तहत दस आवारा पशुओं को पकड़कर गोशाला को सौंपा भी गया था. आठ अक्तूबर 2023 को स्टील गेट में आवारा पशुओं को पकड़ने के क्रम में विवाद होने के बाद से आवारा पशुओं को पकड़ा नहीं गया है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें