25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

BBMKU प्रशासन ने धनबाद-बोकारो से संबद्ध 19 डिग्री कॉलेजों का रोक दिया अनुदान, जानें क्या है मामला

दूसरी ओर अनुदान के अभाव में कई संबद्ध डिग्री कॉलेजों में शिक्षक व शिक्षकेतर कर्मियों को छह माह से वेतन नहीं मिला है. इन कॉलेजों में सरकारी अनुदान मिलने के बाद ही शिक्षक व शिक्षकेतर कर्मियों को पूरे वर्ष का वेतन एक साथ दिया जाता है.

बिनोद बिहारी महतो कोयलांचल विश्वविद्यालय प्रशासन ने धनबाद व बोकारो के 19 संबद्ध डिग्री कॉलेजों को एकेडमिक वर्ष 2022-23 के लिए मिलने सरकारी अनुदान रोक दिया है. इस संबंध में कुलपति प्रो शुकदेव भोइ ने बताया : विवि के पास संबद्ध कॉलेजों के अनुदान की राशि अप्रैल माह में आ गयी है. लेकिन अभी इन कॉलेजों को अनुदान नहीं जारी किया जायेगा. इसे जून के पहले सप्ताह में रिलीज किया जाएगा. उन्होंने यह भी कहा कि पूरा अनुदान केवल उसी कॉलेज को दिया जाएगा, जहां सभी शिक्षक नियमित कक्षाएं लेते हैं. जिन कॉलेजों में शिक्षक नियमित कक्षाएं नहीं लेते हैं, उन्हें पूरा अनुदान नहीं दिया जायेगा. साथ ही उन कॉलेजों के खिलाफ राज्य सरकार को रिपोर्ट भी भेजी जाएगी.

अभी सभी संबद्ध डिग्री कॉलेजों में अंगीभूत कॉलेजों के तर्ज पर मॉनिटरिंग की जा रही है. यह मॉनिटरिंग वह खुद कर रहे हैं. वह प्रतिदिन हर कॉलेज के प्रिंसिपल को वीडियो कॉल से शिक्षकों की उपस्थिति की जानकारी ले रहे हैं. उन्होंने बताया कि अब यह नियमित रूप से इसकी मॉनिटरिंग करेंगे.

छह माह से वेतन नहीं

दूसरी ओर अनुदान के अभाव में कई संबद्ध डिग्री कॉलेजों में शिक्षक व शिक्षकेतर कर्मियों को छह माह से वेतन नहीं मिला है. इन कॉलेजों में सरकारी अनुदान मिलने के बाद ही शिक्षक व शिक्षकेतर कर्मियों को पूरे वर्ष का वेतन एक साथ दिया जाता है. अनुदान नहीं मिलने से इन कॉलेजों में काम करने वाले शिक्षकेतर कर्मियों की स्थिति काफी दयनीय हो गयी है. कई अपना इलाज भी नहीं करा पा रहे हैं.

जल्द तैयार होंगे निर्माणाधीन तीनों कॉलेज

धनबाद. बीबीएमकेयू के अधीन धनबाद में जामाडोबा व टुंडी और बोकारो के गोमिया में नये सरकारी कॉलेजों में एक साथ 2352 विद्यार्थी बैठ कर पढ़ाई कर सकते हैं. हर कॉलेज में तीन छात्रों की क्षमता वाले 784 बेंच व डेस्क लगाये गये हैं. कॉलेजों की फर्निशिंग का काम भी पूरा हो गया है. हालांकि तीनों कॉलेजों में अब तक केवल टुंडी डिग्री कॉलेज के भवन का निर्माण पूरा हो गया है. वहीं झरिया में जामाडोबा स्थित आरएसपी – 2 का अभी तक 98 प्रतिशत और गोमिया डिग्री का 95 प्रतिशत निर्माण पूरा हो चुका है. शेष काम जून तक पूरा लिया जायेगा.

Also Read: अपने शहर में रहकर भी बना सकते हैं बेहतर करियर, बस इतने रुपये करने होंगे खर्च, जानें यहां
बिजली कनेक्शन के बाद विवि करेगा टेकओवर

तीनों डिग्री कॉलेजों को विवि बिजली कनेक्शन मिलने के बाद ही टेकओवर करेगा. विवि की ओर से निर्माण एजेंसी को जल्द से जल्द ट्रांसफॉर्मर लगाने के लिए कहा गया है. ट्रांसफॉर्मर लगने के बाद ही विवि बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन देगा. कनेक्शन मिलने के बाद इन्हें विवि अपने अधीन लेगा.

बीबीएमकेयू में यूजी में नामांकन के लिए कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट (सीयूइटी) की परीक्षाएं पांच जून से शुरू हो रही हैं. इसके लिए नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा परीक्षा केंद्रों की सूची जारी की गयी हैं. इसके साथ ही विवाद शुरू हो गया है. बड़ी संख्या में धनबाद के छात्रों का परीक्षा केंद्र 300 से 400 किमी दूर दरभंगा, मुजफ्फरपुर व कोलकाता जैसे शहरों में दिया गया है. इससे छात्र परेशान हैं.

आजसू छात्र संघ ने किया विरोध

सीयूइटी के लिए धनबाद के छात्रों का सेंटर सैंकड़ों किमी दूर देने के विरोध में आजसू छात्र संघ ने बुधवार को रणधीर वर्मा चौक पर मुख्यमंत्री का पुतला जलाया. मौके पर संघ के विश्वविद्यालय अध्यक्ष विशाल महतो, विकास कुमार, दिनेश दास, विवेक महतो, विक्की कुमार, सचिन दास थे.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें