झारखंड: फरार विधायक ढुलू महतो को पकड़ने के लिए छापेमारी तेज, इन जगहों पर होने के लगाये जा रहे हैं कयास

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

Search of dhulu mahtoकतरास : गिरफ्तारी के डर से फरार बाघमारा विधायक ढुलू महतो के करीबियों को उठाने के लिए बाघमारा अनुमंडल पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है. वहीं विधायक की तलाश भी सरगर्मी से चल रही है. बुधवार की रात पुलिस ने पंजाबी मुहल्ला स्थित चुनचुन गुप्ता के आवास में दबिश दी, पर वह नहीं मिला. पुलिस सूत्रों के अनुसार, कुछ अन्य समर्थकों के यहां भी दबिश की सूचना है.

दूसरी तरफ विधायक के बेहद करीबी रहे और जेल भेजे गये भाजयुमो नेता धर्मेंद्र गुप्ता की स्काॅर्पियो और बुलेट को असामाजिक तत्वों ने क्षतिग्रस्त कर दिया. दोनों वाहन नदी किनारे खड़े थे. इस बीच साइबर सेल के डीएसपी सह बाघमारा के प्रभारी डीएसपी सुमित लकड़ा कतरास थाना पहुंचे और अब तक की प्रगति के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली. उन्होंने कतरास थानेदार को कई दिशा-निर्देश दिये. थानेदार विनोद उरांव ने बताया कि कतरास पुलिस ने कहीं कोई छापेमारी नहीं की है.

बुधवार की कार्रवाई के बाद भूमिगत बाघमारा विधायक ढुलू महतो के बारे में तरह-तरह की चर्चा है. कोई उनके रांची में होने, तो कोई बोकारो और गिरिडीह अपने मामा घर में छुपे होने की बात कह रहा है. हालांकि पुलिस विधायक को अब तक ट्रेस नहीं कर पायी है. उनके मोबाइल को सर्विलांस पर लगाया गया है. कहा जा रहा है कि विधायक घोर उग्रवाद प्रभावित गिरिडीह जिले के पीरटांड़ के पोखरना गांव में अपने मामा घर में छिपे हैं. उन्हें पकड़ने के लिए गिरिडीह पुलिस से मदद मांगने की बात कही जा रही है.

राजेश गुप्ता पकड़ाया, छूटा : धनबाद. ढुलू महतो के खासमखास राजेश गुप्ता को पुलिस ने पूछताछ के बाद गुरुवार की रात छोड़ दिया. राजेश को बुधवार की रात कल्याणेश्वरी के एक होटल से पकड़ा गया था. पुलिस ने राजेश से ढुलू के बारे में जानकारी ली. हालांकि पुलिस को विधायक के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली. याद रहे कि 12 मई 2013 को राजेश को पुलिस कस्टडी से भगाने के मामले में ही ढुलू महतो को 18 माह की सजा हुई है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें