1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. chaibasa
  5. neighbor sold only son of old man after religious conversion in chaibasa boy is locked up in pune insane for three years mtj

पड़ोसी के इकलौते बेटे का धर्मांतरण कराकर बेच दिया, पुणे के पागलखाने में बंद है चाईबासा का लड़का

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
सरकारी अधिकारियों को दिये गये आवेदन दिखाते युवक के पिता कड़ेया हांसदा.
सरकारी अधिकारियों को दिये गये आवेदन दिखाते युवक के पिता कड़ेया हांसदा.
Abhishek Piyush

चाईबासा (अभिषेक पीयूष) : पश्चिम सिंहभूम जिले के टोंटो थाना क्षेत्र अंतर्गत बड़ाझींकपानी पंचायत के तालाबुरू गांव निवासी कड़ेया हांसदा का इकलौता पुत्र 21 वर्षीय सुखलाल हांसदा विगत तीन वर्ष से लापता है. इसे लेकर कड़ेया हांसदा ने अपने पुत्र का धर्मांतरण कराकर उसे बेचने का आरोप अपने पड़ोसी बड़ाझींकपानी पंचायत के टोला गुट्टूसाई के ग्राम तालाबुरू निवासी पांडु हांसदा उर्फ पुलिस हांसदा पर लगाया है.

इस संबंध में कड़ेया हांसदा ने तीन वर्ष पहले 10 अक्टूबर, 2017 को टोंटो थाना प्रभारी को लिखित रूप में पूरे मामले से अवगत कराया था. इतना ही नहीं, टोंटो थाना के द्वारा मामले पर संज्ञान नहीं लेने पर विगत 8 नवंबर, 2019 को कड़ेया हांसदा द्वारा जिले के उपायुक्त अरवा राजकमल को भी पत्र लिखकर अपने पुत्र को खोज निकालने की फरियाद लगायी गयी थी, लेकिन पुत्र के लापता होने के मामले में उसे उपायुक्त कार्यालय से भी निराशा ही हाथ लगी.

दरअसल, टोंटो थाना प्रभारी समेत उपयुक्त को लिखे शिकायत पत्र में कड़ेया हांसदा ने बताया कि उसके इकलौते पुत्र सुखलाल हांसदा (19) को ईसाई धर्मावलंबी पांडु हांसदा उर्फ पुलिस हांसदा जबरन अपने साथ नवंबर, 2017 में धनबाद बाइबल स्कूल में पढ़ाने की बात कहकर घर से ले गया था. इसके 10 दिन बाद पांडु हांसदा अपने साथी (ग्लैडसन बास्के बाइबल स्कूल धनबाद) के साथ कड़ेया हांसदा के घर पहुंचा और उनके पुत्र सुखलाल हांसदा के अचानक स्कूल से गायब हो जाने की बात कही.

इसके साथ ही विद्यालय प्रबंधन के द्वारा कड़ेया हांसदा के पुत्र की खोजबीन के बहाने उसके आधार कार्ड की छाया प्रति व पासपोर्ट साइज फोटो भी अपने साथ ले गये, लेकिन इसके 10 माह बीत जाने के बाद भी विद्यालय प्रबंधन की ओर से सुखलाल हांसदा के परिजनों से कोई संपर्क नहीं किया गया. इसके बाद कड़ेया हांसदा द्वारा कई बार विद्यालय प्रबंधन से फोन पर संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन उसे फोन का भी कोई जवाब नहीं मिला.

इस पर लापता सुखलाल हांसदा के पिता के द्वारा पांडु हांसदा पर दबाव बनाने पर उसके द्वारा हर बार व्यस्त होने की बात कही गयी. पिता ने बताया की पांडु कहता था, घबराओ मत तुम्हारा लड़का घर आ जायेगा, लेकिन पुत्र के वियोग में उसकी मां का रो-रोकर बुरा हाल है. ऐसे में पुलिस प्रशासन उसके पुत्र की खोज कर उसे वापस लाने में मदद करे.

दो साल से सुखलाल पुणे के पागलखाने में है भर्ती

12 मार्च, 2020 को पुणे के यरवदा स्थित रीजनल मेंटल हॉस्पिटल के अधीक्षक द्वारा टोंटो थाना प्रभारी को पत्र लिखकर सुखलाल हांसदा (21) के अपने पागलखाने में भर्ती होने की बात बतायी गयी है. पत्र में पागलखाने के अधीक्षक द्वारा टोंटो थाना प्रभारी को बताया गया कि दो वर्ष पूर्व विगत 10 जनवरी, 2018 को सुखलाल हांसदा (मरीज) को स्थानीय पुलिस के द्वारा अस्पताल में लाकर भर्ती कराया गया था.

इसे लेकर सुखलाल हांसदा के माता-पिता समेत परिजनों की खोजबीन करके लिखित तौर पर सूचना देने को कहा गया है. इसमें बताया गया है कि अस्पताल प्रबंधक मरीज के परिजनों की खोजबीन करके थक चुका है. वहीं, मरीज व स्थानीय भाषा में तालमेल न बैठ पाने के कारण उन्हें आगे की कार्रवाई में भी काफी कठिनाई हो रही है. बताया गया कि मरीज दवाइयों से ठीक हो गया है. ऐसे में मरीज के परिजनों की खोजकर जल्द से जल्द लिखित रूप में सूचना दें, ताकि मरीज को पागलखाने से डिस्चार्ज किया जा सके.

लापता बच्चे को घर लाने का नहीं हो रहा प्रयास : ग्रामीण मुंडा

तालाबुरू गांव के ग्रामीण मुंडा मथुरा दोराईबुरू ने बताया कि पिछले कई वर्षों से कड़ेया हांसदा का पुत्र सुखलाल हांसदा घर से गायब है. इस संबंध में कड़ेया हांसदा रोज उनसे गुहार लगाता है. इस संबंध में हमने पूर्व में टोंटो थाना प्रभारी समेत डीसी के यहां भी आवेदन दिया था, लेकिन दोनों जगह से अभी तक मामले में कोई सुनवाई नहीं हुई है. बताया कि अभी सात माह पहले सुखलाल हांसदा के मिल जाने संबंधित पुणे के पागलखाने से पत्र आया है. इस पर पांडु हांसदा को हमलोगों ने बचाकर लाने के लिए कहा, तो कहा कि लॉकडाउन के बाद बच्चे को ले आयेंगे.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें