1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. bokaro
  5. jharkhand school reopen after 31st january education minister jagarnath mahto indicated smj

झारखंड में स्कूल खोलने को लेकर शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने दिए संकेत, छात्रों को मिल सकती है खुशखबरी

झारखंड में 31 जनवरी के बाद स्कूलों को खोलने के संकेत शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने दिये हैं. इसके लिए स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की ओर से आपदा प्रबंधन प्राधिकार को प्रस्ताव भेजने की बात कही है. हालांकि, अंतिम निर्णय सीएम की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में लेने की बात कही है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: बोकारो के चंद्रपुरा में एक समारोह को संबोधित करते शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो.
Jharkhand news: बोकारो के चंद्रपुरा में एक समारोह को संबोधित करते शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो.
प्रभात खबर.

Jharkhand School Reopen News : कोरोना वायरस संक्रमण के कारण झारखंड में बंद सभी स्कूल आगामी 31 जनवरी के बाद खुल सकते हैं. ऐसा संकेत राज्य के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने दी है. बंद पड़े स्कूलों को खोलने के लिए स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की ओर से आपदा प्रबंधन प्राधिकार (Disaster Management Authority- DMA) को प्रस्ताव भेजा जायेगा.

स्कूल खोलने को लेकर आपदा प्रबंधन प्राधिकार को भेजा जायेगा प्रस्ताव

बोकारो के चंद्रपुरा प्रखंड स्थित तारानारी पंचायत में सबस्टेशन उदघाटन समारोह को संबोधित करते हुए राज्य के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने कहा कि राज्य में कोरोना की रफ्तार धीरे-धीरे कम हो रही है. वहीं, स्कूलों के बंद रहने से विद्यार्थियों की शिक्षा प्रभावित हाे रही है. इसी को ध्यान में रखते हुए आगामी 31 जनवरी के बाद राज्य में सभी स्कूलों को खोलने संबंधी प्रस्ताव स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग की ओर से आपदा प्रबंधन प्राधिकार को भेजी जायेगी. हालांकि, कहा कि राज्य में स्कूल खोलने का अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री की अध्यक्षता वाली आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक में ही लिया जायेगा.

बच्चों के भविष्य को देखकर लिया जायेगा निर्णय

इस कार्यक्रम के दौरान समारोह स्थल पर आसपास स्कूली बच्चे खेल रहे थे. यह देखकर शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने कहा कि आगामी 31 जनवरी के बाद राज्य के सभी स्कूल-कॉलेज को खोला जायेगा. स्कूल खुलने के बाद राज्य के विभिन्न जगहों के स्कूल जाकर निरीक्षण किया जायेगा. स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति देखी जायेगी. बच्चों के भविष्य को देखकर ही स्कूल को खोलने का निर्णय लिया जायेगा.

नेतरहाट की तर्ज पर बालिका आवासीय उच्च विद्यालय की होगी स्थापना

उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत प्रत्येक पंचायत में एक अंग्रेजी स्कूल, प्रखंड एवं जिला स्तर पर मॉडर्न स्कूल खोला जायेगा, ताकि गरीब के बच्चे भी अंग्रेजी पढ़ सकें. राज्य में शिक्षा विभाग को नंबर एक स्थान पर लाने का काम किया जायेगा. कहा कि चंद्रपुरा प्रखंड के नर्रा एवं नावाडीह प्रखंड के लहिया पंचायत में नेतरहाट की तर्ज पर बालिका आवासीय उच्च विद्यालय की स्थापना की जायेगी.

बच्चों की पढ़ाई हो रही प्रभावित

शिक्षा मंत्री श्री महतो ने कहा कि स्कूलों के बंद होने से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है. हालांकि, बच्चों के स्वास्थ्य का ख्याल रखना भी सरकार की जिम्मेवारी है. इसी के तहत स्कूल समेत अन्य शिक्षण संस्थानों को बंद रखा गया है. लेकिन, अब कोरोना संक्रमण की रफ्तार में कमी को देखते हुए राज्य के स्कूलों को खोल देना चाहिए.

शिक्षा मंत्री ने किया तारानारी विद्युत सबस्टेशन का उद्घाटन

शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने सोमवार को तारानारी में नवनिर्मित विद्युत सब स्टेशन का उद्घाटन फीता काटकर किया़ जेवीएनएल के 33/11 केवी क्षमता वाले इस स्टेशन से इस क्षेत्र के दर्जनों गांवों को विद्युतिपूर्ति होगा. उक्त सब स्टेशन नावाडीह एवं दुगदा ग्रीड से जुड़ा है. श्री महतो ने उदघाटन के बाद कहा कि उक्त सब स्टेशन का रख-रखाव बिजली विभाग को सही ढंग से करना है. यहां चोरी की कई घटनाएं हुई है यह ठीक नहीं है. पुलिस को चोरों का पता लगाना चाहिए.

मंत्री वापस जाओ के नारे भी लगे

तारानारी में आयोजित जनसभा में एक समय ऐसा आया जब मंत्री वापस जाओ के नारे लगे. मंत्री के मंच पर पहुंचते ही नावाडीह से आये लोगों ने भोजपुरी और मगही भाषा को दर्जा देने का विरोधस्वरूप उक्त नारे लगाये. बाद में नेतृत्व कर रही नावाडीह प्रखंड प्रधान पूनम देवी को बुलाकर मंत्री ने पूरी जानकारी ली. प्रधान ने बताया कि सरकार के इस निर्णय से स्थानीय लोग एवं मूलवासियों में आक्रोश है. बाद में अपने संबोधन में मंत्री श्री महतो ने कहा कि इस मामले में खुद वे इसका विरोध मुख्यमंत्री के समक्ष कर चुके हैं. उन्होंने कहा कि जिस तरह राज्य से भोजपुरी व मगही को हटाया गया है, वैसे ही बोकारो और धनबाद से भी इस भाषा को हटाया जायेगा.

इनकी रही उपस्थिति

उदघाटन में विभाग के जीएम के अलावा एसडीओ पप्पु, कार्यपालक अभियंता समीर कुमार सहित डीएसपी एससी झा, चंद्रपुरा सीओ संदीप कुमार मधेशिया, बेरमो सीओ मनोज कुमार, गोमिया बीडीओ कपिल कुमार, चंदनकियारी सीओ रामा रविदास सहित थानेदार दुलर चौडत्रे, दुगदा थाना प्रभारी राजेश रंजन, सीआई रवींद्र कुमार के अलावा झामुमो के जिला अध्यक्ष हीरालाल मांझी, जयनारायण महतो, राजू कुमार, लोकेष्वर महतो, जदू महतो, सुभाष महतो, बालमुकुंद महतो, मो समीद, खुर्शीद आलम आदि थे.

नियमावली से खुश सहायक अध्यापकों ने मंत्री को किया सम्मानित

वहीं, दूसरी ओर तारानारी में सहायक अध्यापकों (पारा शिक्षक) ने शिक्षा मंत्री का स्वागत पुष्पगुच्छ देकर किया. इस क्रम में उन्हें शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया. मौके पर डोमन महतो, नकुल महतो, महेश महतो, गणेश महतो, श्रीकांत मंडल, बैजनाथ महतो, सत्येंद्र महतो लोकनारायण प्रेमी, अशोक कुमार महतो, त्रिलोकी गिरी, झरना देवी, राजेश कुमार आदि थे. स्वागत से प्रफुल्लित मंत्री ने कहा कि सरकार ने अपने कहे अनुसार पारा शिक्षकों के समस्याओं का समाधान कर दिया है.

रिपोर्ट : राकेश वर्मा, बेरमो, बोकारो.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें