1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. bokaro
  5. birni police hostage for three hours in the in laws of the young man who punched the police station

थानेदार को मुक्का मार भागने वाले युवक की ससुराल में बिरनी पुलिस तीन घंटे बंधक

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
प्रतीकात्मक तस्वीर

बिरनी : बिरनी थाना प्रभारी सुरेश मंडल को मुक्का मार कर फरार होने वाले रवींद्र कुमार यादव को बुधवार को गिरफ्तार करने मुरैना स्थित उसकी ससुराल गयी पुलिस को ग्रामीणों ने तीन घंटे तक बंधक बनाये रखा. ग्रामीण रवींद्र के ससुराल वालों की बेरहमी से की गयी पिटाई से नाराज थे. आरोप है कि पिटाई से रवींद्र यादव की सास कौशल्या देवी, साला रामप्रवेश यादव, उसकी पत्नी व बेटी घायल हो गये.

परिजनों ने बताया कि पुलिस ने दबिश देकर रवींद्र को सौंपने की बात कही. उनलोगों ने कुछ कहना चाहा, तो बेरहमी से पिटाई शुरू कर दी. पिटाई की घटना से उत्तेजित ग्रामीणों ने नारेबाजी शुरू कर दी और छापेमारी करने पहुंचे थानेदार सुरेश कुमार मंडल समेत पांच जवानों को बंधक बना लिया. पुलिस अधिकारी व जवान पूर्वाह्न 11 बजे से लेकर दोपहर दो बजे (लगभग तीन घंटे) तक बंधक बने रहे. लोग पुलिसवालों से माफी मांगने और प्राथमिकी दर्ज करने की मांग कर रहे थे.

जानकारी मिलने पर बिरनी सीओ संदीप मद्धेशिया और बगोदर-सरिया के पुलिस निरीक्षक आरएन चौधरी मुरैना गांव पहुंचे. अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझाकर शांत कराया. भाकपा माले नेता व पूर्व प्रमुख सीताराम सिंह समेत कई जनप्रतिनिधि भी घटनास्थल पर पहुंच गये.

महिलाओं को गालियां देने का आरोप : कौशल्या देवी ने दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध पुलिस निरीक्षक आरएन चौधरी को शिकायत पत्र दिया. उसने कहा कि बुधवार को 11 बजे बिरनी पुलिस घर में घुस आयी और भद्दी-भद्दी गाली देने लगी. उसके पुत्र रामेश्वर यादव ने विरोध किया तो लाठी से बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया. वे लोग बचाने गये तो उसे, उसकी बेटी और पोती को भी पीटा गया.

पारा चौकीदार छोटू बैठा व अन्य पुलिस कर्मियों ने उसकी साड़ी खींच दी. हो-हल्ला सुनकर ग्रामीण दौड़े और वरीय पुलिस अधिकारियों को सूचना दी गयी. पुलिस निरीक्षक के आने पर उन लोगों की जान बची. वहां मौजूद सीताराम सिंह ने कहा कि थाना प्रभारी सुरेश कुमार मंडल नाटक रचकर अस्पताल में भर्ती हो जाते हैं, जो कानून का सीधा दुरुपयोग है. पूरे मामले से बगोदर विधायक विनोद कुमार सिंह व गिरिडीह एसपी को अवगत करा दिया गया है. एसपी ने कार्रवाई का भरोसा दिलाया है.

कानून को हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है. अगर हम भी गलती करते हैं तो कानून मुझे भी सजा देता है. कौशल्या देवी ने थाना प्रभारी व अन्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आवेदन दिया है. हर पहलू की जांच की जायेगी. जो साक्ष्य निकलकर आयेगा, आरक्षी अधीक्षक को लिखित रूप से अवगत करा दिया जायेगा.

आरएन चौधरी, पुलिस निरीक्षक

मुरैना के ग्रामीणों ने काफी धैर्य का परिचय दिया. पुलिस प्रशासन को जनता के साथ समन्वय बनाने की जरूरत है. समन्वय बनाकर ही कार्रवाई करने की जरूरत है.

संदीप मद्धेशिया, सीओ

कहना क्या है, सभी तरह का आरोप लगाया ही गया है. जो सच है आप सामने देख ही रहे हैं.

सुरेश कुमार मंडल, थाना प्रभारी, बिरनी

Post by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें