27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

विभूतिपुर सहित चार बीईओ पर होगी कार्रवाई

समस्तीपुर : शिक्षा विभाग इन दिनों लापरवाह अधिकारी व कर्मियों पर लगातार माॅनिटरिंग कर कार्रवाई करने के लिए चर्चा में है.

समस्तीपुर : शिक्षा विभाग इन दिनों लापरवाह अधिकारी व कर्मियों पर लगातार माॅनिटरिंग कर कार्रवाई करने के लिए चर्चा में है. शिक्षा विभाग के कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से फोन करने पर फोन नहीं उठाने वाले जिले के चार बीईओ को चिह्नित कर कार्रवाई का निर्देश जारी किया गया है. ये ऐसे बीईओ हैं जिन्हें कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से फोन करने पर कोई रिप्लाई नहीं देते और न ही कॉल बैक करके अपनी स्थिति की जानकारी देते हैं. इस लापरवाही के चलते इनको चिह्नित कर कार्रवाई करने का निर्देश जारी हुआ है. जिले में सरकारी स्कूलों और शिक्षा की व्यवस्था की मॉनिटरिंग को लेकर शिक्षा विभाग में बने कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से सभी प्रखंड के शिक्षा पदाधिकारी, कार्यक्रम पदाधिकारी और जिला शिक्षा पदाधिकारी और जिले के कार्यक्रम पदाधिकारी को फोन किया जा रहा है. लेकिन काफी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ऐसे हैं जो कमांड कंट्रोल सेंटर से फोन जाने पर उठाते नहीं हैं. ना ही बाद में कॉल बैक करते हैं. इस मामले को गंभीरतापूर्वक लिया गया है. जिले के विभूतिपुर, मोहिउद्दीननगर, सिंघिया व उजियारपुर प्रखंड में पदस्थापित बीईओ ने काॅल रिसीव नहीं किया. डीईओ को प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी की सूची उपलब्ध कराई है और कहा है कि उनके जिले में इनमें से जितने शामिल हैं, उन पर कार्रवाई की जाये. प्राथमिक शिक्षा निदेशक की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि विभागीय कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से लगातार इन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के दूरभाष पर संपर्क किया जाता है तो उनके द्वारा फोन रिसीव नहीं किया जाता है. यह बेहद ही खेदजनक और स्वेच्छाचारिता का द्योतक है. वेतन भुगतान पर रोक लगाते हुए उनसे स्पष्टीकरण प्राप्त किया जाये. प्राथमिक शिक्षा निदेशक ने डीईओ को कहा है कि जिन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों का पूर्व से ही वेतन भुगतान स्थगित है उनके विरुद्ध आरोप पत्र गठित करके उपलब्ध कराया जाये. जो प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी पूर्व से ही निलंबित हैं या जिन पर पूर्व से ही आरोप पत्र गठित है, उनके विरुद्ध पूरक अरोप पत्र गठित करते हुए कठोर अनुशासनिक कार्रवाई की अनुशंसा की कही गयी है. क्या है ””””कमांड एंड कंट्रोल”””” सेंटर

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने पूरे बिहार के शिक्षा विभाग से जुड़े अधिकारियों और छात्रों के अलावा शिक्षकों पर निगाह रखने के लिए विशेष सेंटर का गठन किया है. ये कमांड एंड कंट्रोल सेंटर पटना सचिवालय के शिक्षा विभाग में मौजूद है. इसका उद्देश्य है कि शिक्षा विभाग और शिक्षकों के अलावा स्कूल से जुड़ी किसी भी शिकायत को आप यहां फोन करके दर्ज करा सकते हैं. विभाग की ओर से टोल फ्री नंबर जारी किए गए हैं. ये नंबर हैं 14417 और 18003454417. शैक्षणिक कुव्यवस्था की शिकायत इन नंबरों पर कॉल करके कर सकते हैं. जब से ये नंबर जारी हुआ है तो ग्रामीण इलाकों से लगातार फोन आता रहा. शिक्षकों की सभी गतिविधियों और शिक्षा पदाधिकारियों की एक-एक कार्यशैली को केके पाठक के कमांड एंड कंट्रोल सेंटर में दर्ज किया जाता है. बिहार के अलग-अलग इलाके से आने वाली शिकायतों को केके पाठक की 34 महिला पुरुष सदस्यों वाली टीम सुनती है. एसी रूम में बैठे ये 34 महिला-पुरुष सभी शिकायतों को नोट करते हैं. उसके बाद उसे आगे भेजा जाता है. ये एक शिकायत निवारण कक्ष की तरह एक्टिव रहता है. इसमें रोजाना करीब ढाई सौ से ज्यादा लोग फोन करके शिकायत करते हैं. उन शिकायतों की वकायदा संचिका बनती है और उस पर समीक्षा कर कार्रवाई की जाती है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें