1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. the truck strike in all over bihar may increase the prices of these goods including price hike of foods in skt

सोमवार से पूरे बिहार में ट्रकों का चक्का जाम, अनिश्चितकालीन हड़ताल से बढ़ सकते हैं इन सामानों के दाम...

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो
Social media

पटना: सोमवार सुबह छह बजे से पूरे प्रदेश में ट्रकों का चक्का जाम हो जायेगा. बिहार ट्रक ओनर्स एसोसिएशन ने 14 सितंबर से अपनी 21 सूत्री मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा कर दी.शनिवार को प्रेसवार्ता में एसोसिएशन के अध्यक्ष भानु शेखर प्रसाद सिंह ने कहा कि सरकार के बार-बार आश्वासन के बावजूद उनकी समस्याओं के निदान के लिए कोई प्रयास नहीं किया गया और न ही उनकी मांगें मानीं. लिहाजा अब ट्रक चालकों का हड़ताल पर जाना तय है.

फलों, सब्जियों और अन्य खाद्य पदार्थों की कीमतों के बढ़ने की आशंका

वहीं, एसोसिएशन के पटना जिलाध्यक्ष धनंजय कुमार सिंह ने कहा कि इससे आम लोगों को होने वाली असुविधा के लिए सरकार दोषी होगी. एसोसिएशन के महासचिव राजेश कुमार ने परिवहन विभाग को लिखे अपने पत्र का हवाला देते हुए कहा कि यह हड़ताल दमनकारी नीति के खिलाफ है. ट्रकों की हड़ताल यदि लंबे समय तक जारी रही तो फलों, सब्जियों और अन्य खाद्य पदार्थों की कीमतों के और भी बढ़ने की आशंका है जिससे आम लोगों की परेशानी बढ़ेगी.

ट्रक मालिकों की मांग

- जेपी सेतु, राजेंद्र सेतु और राज्य के अन्य बंद पड़े पुल को खाली ट्रकों के परिचालन के लिए खोलना

- संशोधित मोटरवाहन अधिनियम को पूरी तरह वापस लेते हुए पुराने मोटर वाहन अधिनियम, 1988 को लागू करना

- भोजपुर डीटीओ के भ्रष्ट क्रियाकलापों के खिलाफ कार्रवाई

- राज्य के सभी बालू खदानों से निर्धारित मूल्य पर बालू की आपूर्ति सुनिश्चित करना

- राज्य में एनएच व अन्य जगहों पर लगे अनावश्यक नो इंट्री को समाप्त करना

- फिटनेस, परमिट, बीमा और लाइसेंस सहित अन्य कागजातों की वैधता 31 मार्च 2021 तक बढ़ाना

- चालू वित्तीय वर्ष का रोड टैक्स पूरी तरह माफ करने, डीजल पर लगे राज्य उपकरों को समाप्त करके उसकी कीमत को कम करना

- ट्रक व्यवसाय को उद्योग का दर्जा देते हुए उसे अनुदान और प्रोत्साहन राशि देना

- एसोसिएशन के कार्यालय के लिए 5000 वर्ग फीट की जगह ट्रांसपोर्ट नगर में देना

Posted by : Thakur Shaktilochan Shandilya

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें