1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. sushant singh rajput death case bihar dgp gupteshwar pandey tweet and responds to shiv sena abuse me but sushant singh rajput needs justice

Sushant Singh Rajput Death Case : बिहार के डीजीपी बोले, मुझे जितनी भी गाली दो, लेकिन सुशांत को न्याय चाहिए

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bihar DGP Gupteshwar Pandey
Bihar DGP Gupteshwar Pandey
FILE PIC

Sushant Singh Rajput Death Case Bihar News Update पटना : बॉलीवुड अभिनेता सुशात सिंह राजपूत के आत्महत्या मामले की जांच पर लगातार उठाते सवाल के बीच शिवसेना सांसद संजय राउत ने पार्टी मुखपत्र सामना में कई आरोप लगाये हैं. जिसके बाद बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने इस मामले पर अपनी अपनी बात को ट्वीट कर कहने की कोशिश की है. गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि जीवन भर निष्पक्ष रहकर निष्ठा पूर्वक आम जनता की सेवा की है. मुझ पर बहुत तथ्यहीन अनर्गल आरोप लगाये जा रहे, जिसका जवाब देना उचित नहीं. हिफाजत हर किसी की मालिक बहुत खूबी से करता है. हवा भी चलती रहती है, दीया भी जलता रहता है. मुझे जितनी भी गाली दो, लेकिन सुशांत को न्याय चाहिए.

गौर हो कि शिवसेना नेता संजय राउत ने रविवार को दावा किया कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ‘‘दबाव की तरकीब'' का इस्तेमाल किया जा रहा है. साथ ही, महाराष्ट्र के खिलाफ साजिश के तहत इस मुद्दे का राजनीतिकरण किया जा रहा है. राउत ने शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना' में अपने साप्ताहिक स्तंभ ‘‘रोखठोक'' में कहा कि अभिनेता की दुर्भाग्यपूर्ण आत्महत्या को राजनीतिक दृष्टिकोण से देखना गलत है. सुशांत सिंह राजपूत का शव 14 जून को उपनगरीय बांद्रा स्थित उनके अपार्टमेंट में फंदे से लटका हुआ मिला था.

सीबीआई ने पटना पुलिस की प्राथमिकी के आधार पर हाल ही में इस मामले की जांच अपने हाथ में ले ली है. बिहार सरकार ने मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी. इस प्राथमिकी में सुशांत सिंह राजपूत की महिला मित्र एवं अदाकारा रिया चक्रवर्ती पर कथित आपराधिक साजिश रचने और अभिनेता को आत्महत्या के लिये उकसाने का आरोप लगाया गया है.

राउत ने कहा कि बिहार सरकार की राजनीतिक, फिल्म और व्यापारिक हस्तियों के साथ कथित संलिप्तता है और उसने दावा किया कि मुंबई पुलिस मामले की उचित जांच नहीं करेगी. उन्होंने इसे एक राज्य की स्वायत्तता पर सीधा हमला करार देते हुए कहा, ‘‘उस सरकार ने सीबीआई जांच की मांग की, जिसे 24 घंटे के अंदर स्वीकार कर लिया गया. सॉलीसीटर जनरल तुषार मेहता ने उच्चतम न्यायालय से कहा कि केंद्र ने जांच सीबीआई को सौंपने का निर्णय किया है.''

उन्होंने दावा किया कि एक चैनल को बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय का महाराष्ट्र के खिलाफ साक्षात्कार दिया जाना पुलिस अनुशासन का उल्लंघन है. उन्होंने दावा किया कि गुप्तेश्वर पांडेय बिहार के बक्सर से 2009 का विधानसभा चुनाव लड़ना चाहते थे, लेकिन जब वहां से भाजपा उम्मीदवार ने उनके खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर मैदान में उतरने की धमकी दी तो उनकी योजना नाकाम हो गयी थी. उन्होंने दावा किया, ‘‘यह कहा जा रहा है कि पांडेय अब शाहपुर सीट से बिहार चुनाव लड़ सकते हैं.''

Upload By Samir Kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें