1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. death rains in bihar 37 people died due to lightning during dhanropani many injured

Bihar Weather, Latest Update : बिहार में भारी बारिश और वज्रपात से 46 लोगों की जान गई, पढ़ें मौसम अपडेट

By Kaushal Kishor
Updated Date
गोपालगंज सदर अस्पताल में रोते-बिलखते परिजन
गोपालगंज सदर अस्पताल में रोते-बिलखते परिजन
प्रभात खबर

weather News Patna, Gopalganj, Siwan, Darbhanga, Madhubani Latest Updates : (पटना) बिहार में गुरुवार को हुई आसमान से मौत की बारिश में अब तक 46 लोगों की मौत की सूचना है. सबसे ज्यादा 13 मौतें गोपालगंज और दरभंगा में चार मौतें वज्रपात से हुई हैं. बताया जाता है कि गुरुवार की सुबह धनरोपनी में लगे होने के कारण लोग ठनके की चपेट में आ गये और उनकी मौत हो गयी. वहीं, दरभंगा में भैंस चराने के दौरान ठनके की चपेट में आने से दो बच्चों की मौत हो गयी.

गोपालगंज में वज्रपात से 12 लोगों की मौत, 13 लोग झुलसे

गोपालगंज में गुरुवार की सुबह बारिश के साथ वज्रपात होने से चार महिला समेत 12 किसानों की मौत हो गयी. वहीं, 13 किसान झुलस कर गंभीर रूप से घायल हो गये. सभी घायलों को इलाज के लिए स्थानीय पीएचसी और सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है. डीएम अरशद अजीज ने बताया कि सुबह में किसान धनरोपनी के लिए खेतों में निकले थे. इसी दौरान तेज बारिश के साथ हुए वज्रपात की चपेट में आ गये और किसानों की मौत हो गयी. डीएम ने मृत किसानों के पीड़ित परिजनों से बात की. उन्होंने किसानों के आश्रितों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की. साथ ही डीएम ने मौसम विभाग से जानकारी लेने के बाद गोपालगंज के लोगों को अगले 48 घंटे तक बारिश में बाहर नहीं निकलने की अपील की है.

गोपालगंज जिले में ठनका गिरने से बरौली के बखरौर की 35 वर्षीया रीना देवी, बरौली के ही बघेजी की 35 वर्षीया चंपा देवी, कटेया के भेड़िया की 42 वर्षीया मुन्नी देवी, विजयीपुर के चरखिया टोला की 12 वर्षीया अफसाना खातून, बरौली के सोनबरसा में 40 वर्षीय आनंद महतो, बरौल के ही खजुरिया के 45 वर्षीय राजाराम यादव, मांझा के शेख परसा के 55 वर्षीय गणेश साह, थावे के नारायणपुर में 22 वर्षीय मुस्ताक आलम व 28 वर्षीय अफरोज आलम, उचकागांव के लुहसी में 21 वर्षीय कृष्णा कुमार, उचकागांव के ही नौतन हरैया में 40 वर्षीय अजीम आलम, बैकुंठपुर के कतालपुर निवासी 25 वर्षीय मुर्शीद आलम और हथुआ के विशुनपुरा में 22 वर्षीय निरंजन साह की मौत हो गयी है. वहीं, करीब 13 लोग घायल बताये जा रहे हैं.

सिवान में वज्रपात से दो महिलाओं समेत आठ लोगों की मौत

सिवान जिले के विभिन्न प्रखंडों में गुरुवार को आकाशीय बिजली गिरने से दो महिला सहित आठ लोगों की मौत हो गयी. बताया जाता है कि सभी लोग ठनके की चपेट में उससमय आ गये, जब वे बारिश के दौरान खेतों में काम कर रहे थे. मृतकों में हुसैनगंज प्रखंड के बड़रम टोला पांडेयपुर निवासी देवानारायण राम के 40 वर्षीय पुत्र शंभूनाथ राम, रशीद चक निवासी विनोद प्रसाद का 16 वर्षीय पुत्र सन्नी कुमार, हसनुपरा प्रखंड के पड़ौली के टोला निवासी ब्रजकिशोर सिंह के 16 वर्षीय पुत्र विपुल कुमार सिंह, मैरवा प्रखंड के खदरा टोला निवासी रामविलास खरवार का 20 वर्षीय पुत्र दुर्गेश कुमार, बड़हरिया प्रखंड के सुर्यवलिया निवासी बाबुराम राम की पत्नी पार्वती देवी तथा गुठनी प्रखंड के बिसवार गांव निवासी फेंकू राम का 20 वर्षीय पुत्र विशाल कुमार शामिल है.

वहीं, बड़हरिया प्रखंड की कुड़वां पंचायत के सुरवलिया दलित बस्ती के बाबूराम राम के परिजन धनरोपनी कर रहे थे. बाबूराम राम दूसरे खेत में धान का बिचड़ा लेने गये थे. जबकि, उनकी पत्नी पार्वती देवी (50), पुत्री बबुंती कुमारी (14), पुत्र अरविंद कुमार (25) और गुलशन कुमार (16) धान की रोपनी कर रहे थे. उसी समय अचानक आकाशीय बिजली गिरने से पार्वती देवी की मौत मौके पर ही हो गयी. जबकि, बाबूराम राम की 14 वर्षीया पुत्री बबुंती कुमारी घायल हो गयी. घायल बबुंती का इलाज सीवान सदर अस्पताल में चल रहा है. इधर, गुठनी थाना क्षेत्र के विसवार गांव निवासी फेंकू राम का पुत्र विशाल कुमार राम (20 वर्ष) गांव के बाहर खेत में धान का बिचड़ा उखाड़ रहा था, इसी दौरान तेज गरज के साथ ठनका गिरा और वह गंभीर रूप से घायल हो गया. गंभीर रूप से घायल होने के बाद परिजन उसे लेकर मैरवा रेफरल अस्पताल पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया. घटना की सूचना पर सीओ राकेश कुमार ने मौके पर पहुंच कर जांच-पड़ताल की. वहीं थाने के एसआई विनोद कुमार ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सीवान सदर अस्पताल भेज दिया.

मधुबनी में वज्रपात से सात लोगों की मौत

मधुबनी जिला मुख्यालय सहित विभिन्न इलाकों में गुरुवार को जमकर बारिश हुई. इससे खेतों से लेकर शहरों की गलियों तक जलजमाव हो गया. वहीं, बारिश के साथ कई इलाकों में ठनका गिरने से जिले भर में करीब सात लोगों की मौत हो गयी. इनमें तीन लोगों की फुलपरास में मौत हुई है. तीनों मृतक एक ही परिवार के बताये जा रहे हैं. फुलपरास के मृतक की पहचान सुगापत्ति निवासी 65 वर्षीय मूसन यादव, 30 वर्षीय संतोष यादव और संतोष की 28 वर्षीय पत्नी सुभकला देवी हैं. वहीं, घोघरडीहा के बेलहा गांव में 55 वर्षीय सोतीलाल मंडल और उनकी 48 वर्षीया पत्नी राहुलिया देवी की ठनका की चपेट में आने से मौत हो गयी. जबकि, मधेपुर में भखरैन गांव निवासी सुरेंद्र मुखिया की ठनका से मौत हो गयी. इधर, बेनीपट्टी की बिरौली में 24 वर्षीय परितोष पासवान की भी मौत ठनका की चपेट में आने से हो गयी.

दरभंगा में तीन नाबालिगों समेत चार लोगों की वज्रपात से मौत

दरभंगा जिले के बहादुरपुर प्रखंड के बिरनिया गांव की 16 वर्षीया लड़की की वज्रपात से मौत हो गयी है. वह ललन राय की पुत्री अर्पिता कुमारी बतायी जा रही है. वहीं, दरभंगा जिले के ही बिरौल प्रखंड क्षेत्र की उछती पंचायत में चलितर साह की 45 वर्षीया पत्नी चंद्रकला देवी की की मौत खेत में धनरोपनी के दौरान वज्रपात से हो गयी. साथ ही तीन महिला बुरी तरह से झुलस गयीं. सभी घायलों को इलाज के लिए बिरौल सीएचसी में भर्ती कराया गया है. मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए डीएमसीएच भेज दिया है. इधर, जिले की सिनुआरा पंचायत के हिछौल गांव के लालबाबू पासवान के 11 वर्षीय पुत्र मिथुन पासवान और मोरोटेनुआ गांव के रामसुख पासवान के 13 वर्षीय पुत्र रामप्रवेश पासवान की मौत वज्रपात से हो गयी. बताया जाता है कि गुरुवार को भैंस चराने के दौरान हादसा हुआ. मालूम हो कि रामप्रवेश पासवान अपने बहन-बहनोई के यहां रहता था.

पूर्वी चंपारण में ठनका गिरने से तीन लोगों की मौत

पूर्वी चंपारण के विभिन्न इलाकों में तेज बारिश के साथ ठनका गिरने के कारण तीन लोगों की मौत गुरुवार को हो गयी. घटना में करीब आधा दर्जन लोग घायल हुए हैं. मृतकों में दो किसान हैं. जानकारी के अनुसार, चकिया के बर्दिया गांव में गणेश साह की ठनका गिरने से मौत हो गयी, वहीं तीन लोग घायल हो गये. दूसरी घटना, पताही थाने के मोहम्मदपुर गांव में घटी, जहां 30 वर्षीय युवक शाहबाज आलम बारिश में बांध पर टहलने के दौरान ठनका का शिकार हो गया. एक अन्य घटना सुगौली के सुकुलपाकड़ गांव की है. यहां 34 वर्षीय शमशुल हवारी की मौत ठनका गिरने से हो गयी. सुगांव के लमउनिया में ठनका की चपेट में आने से तीन लोग घायल हो गये. विभाग के अनुसार मृतक के आश्रितों को स्थानीय सीओ की रिपोर्ट के बाद चार लाख रुपये का मुआवजा मिलेगा. घटना के बाद मृतकों के घरों में कोहराम मचा है.

पश्चिम चंपारण के नरकटियागंज में दो लोगों की ठनका गिरने से मौत

पश्चिम चंपारण में तेज गरज के साथ बारिश होने के साथ ठनका गिरने से नरकटियागंज में दो लोगों की मौत हो गयी है. जिले में गुरुवार की सुबह से ही तेज गरज के साथ बारिश शुरू हो गयी है. लगातार बारिश होने से शहर से लेकर गांव तक जलजमाव हो गया. पहाड़ी नदियों का भी जलस्तर बढ़ गया है. वहीं, नरकटियागंज में ठनका की चपेट में आने से दो ग्रामीणों की मौत हो गयी है. मृतकों में भसुरारी पंचायत के विशुन पुरवा गांव का 35 वर्षीय दीपू राम और शिकारपुर पंचायत के मालदा गांव निवासी विजय मिश्र 50 वर्ष शामिल हैं.

शिवहर में वज्रपात से 45 वर्षीय अधेड़ की मौत

शिवहर जिले के कुशहर वार्ड नंबर-1 मे वज्रपात से 45 वर्षीय सोनफी सहनी की मौत गुरुवार को हो गयी. बताया जाता है कि वे धनरोपनी के लिए खेत तैयार कर रहे थे. इसी दौरान वज्रपात की चपेट में आने से उनकी मौत हो गयी. शिवहर अंचलाधिकारी रवि रंजन जमियार ने वज्रपात से मौत की पुष्टि करते हुए कहा है कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा देय अनुदान की राशि चार लाख रुपये भुगतान के लिए आगे की प्रक्रिया शुरू कर दी जायेगी.

मौसम विभाग ने बिहार के पांच जिलों के लिए अलर्ट जारी किया

पटना : राजधानी पटना में बुधवार को पूरे दिन आसमान साफ रहा, जिससे अधिकतम तापमान सामान्य के करीब पहुंच गया. वहीं, वातावरण में सुबह से शाम तक नमी की मात्रा में अंतर काफी कम था. इससे पूरे दिन ऊमस भरी गर्मी अधिक महसूस की गयी. हालांकि, शाम होते ही आसमान में बादल छाने लगे. लेकिन, लोगों को गर्मी से राहत नहीं मिली. मौसम विज्ञान केंद्र की मानें, तो अगले तीन दिनों तक बादल छाये रहने के साथ-साथ हल्की बारिश की संभावना है. लेकिन, 28 जून को राजधानी व आसपास के इलाके में भारी बारिश हो सकती है. मौसम विभाग ने बिहार के पांच जिलों के लिए अलर्ट जारी किया है अलर्ट पर रहने वाले जिले दरभंगा, सुपौल, सीवान, पूर्णिया और खगड़िया हैं, यहां अगले कुछ दिनों में भारी बारिश की आंशका व्यक्त की गयी है

बांका में वज्रपात से पांच की मौत, मचा कोहराम

 बांका जिले में बारिश के साथ आसमान से मौत भी बरसा. गुरुवार को वज्रपात से जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्र में पांच लोगों की मौत हो गयी. मृतकों में रजौन थाना क्षेत्र से तीन, बाराहाट और कटोरिया के एक-एक व्यक्ति शामिल हैं. वहीं, वज्रपात में पांच अन्य लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गये. जानकारी के मुताबिक रजौन में तीन बच्चों की मौत हो गयी. मृतकों में धनंजय दास का 16 वर्षीय पुत्र शशिकांत दास, दीपक दास का करीब 10 वर्षीय पुत्र रघुनंदन दास एवं समीर दास का 12 वर्षीय पुत्र वासुदेव दास शामिल है. सभी मृतक महादलित परिवार से हैं, जो कठचातर गांव के रहनेवाले हैं. घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि सभी अपने गांव के ही बगल के बहियार में गाय चराने गये थे. इसी बीच तेज बारिश के बीच वज्रपात हो जाने से चपेट में आ गये. वहीं, बाराहाट थाना क्षेत्र के खड़ीहारा गांव निवासी 65 वर्षीय मोहम्मद रुस्तम की मौत हो गयी. खेत में बिचड़ा लगाने के दौरान रुस्तम वज्रपात की चपेट में आ गये. इधर, कटोरिया के सूइया थाना क्षेत्र अंतर्गत दक्षिणी कसबा वसीला पंचायत के हरदेडीह गांव में वज्रपात से एक युवा किसान की मौत हो गयी. मृत किसान की पहचान 32 वर्षीय दिलीप यादव, पिता स्व तुलसी यादव ग्राम हरदेडीह के रूप में की गयी है.

जहानाबाद में ठनका गिरने से पूर्व सरपंच के भाई समेत दो लोगों की मौत

जहानाबाद में स्थानीय थाना क्षेत्र के शाहोबिगहा पुराना टोला गांव में ठनका गिरने से एक व्यक्ति की मौत हो गयी. मृत व्यक्ति शाहोबिगहा पंचायत के पूर्व सरपंच विजय यादव के भाई अजय यादव बताये जाते हैं. बताया जाता है कि अजय यादव शाहोबिगहा पुराना टोला गांव में गुरुवार को शादी समारोह में टेंट शामियाना लगा रहे थे. इसी दौरान गिरे ठनके की चपेट में आ गये. इधर, मखदुमपुर प्रखंड के बिजलीपुर गांव में ठनका गिरने से मवेशी चरा रहे युवक हरेंद्र यादव की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी.

मधेपुरा में ठनका गिरने से पशुपालक की मौत

मधेपुरा के चौसा में गुरुवार को वज्रपात में एक पशुपालक की मौत हो गयी. घटना चौसा प्रखंड अंतर्गत चिरौंरी पंचायत के अजगैवा बहियार में दोपहर करीब ढाई बजे की बतायी जा रही है. मृत पशुपालक मूल रूप से भागलपुर जिले के नवगछिया थाना क्षेत्र के मिल्की निवासी अजय यादव के 25 वर्षीय पुत्र कुंदन कुमार बताया गया है. घटना के संदर्भ में बताया गया कि मृतक कुंदन कुमार चिरोरी के मिल्की-चिरौरी बहियार में अपने पशु के साथ दो तीन महीने से बथान बनाकर रह रहा था. गुरुवार को अपने दुधारू भेस को चराने के लिए बगल में अजगैवा बहियार गया था, अचानक बारिश के साथ गिरे ठनके की चपेट में आने से मोके पर ही पशुपालक की मौत हो गयी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें