1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. cyber fraud company absconded by cheating three crore rupees in the name of giving loan rdy

Bihar News: लोन देने के नाम पर तीन करोड़ रुपये की ठगी कर कंपनी फरार, जानें कैसे बिछाया ठगी का जाल

कंपनी पटना की आरएमएस कॉलोनी रोड नंबर 14 स्थित अपने कार्यालय को बंद कर फरार हो गयी. इस संबंध में कंकड़बाग थाने में कंपनी के कई लोगों पर FIR हुआ है. लोगों को कार्यालय तक लाने के लिए इन लोगों ने वर्ष 2021 में विज्ञापन निकाल कर लोन सलाहाकर के पद पर कई लोगों को नियुक्त किया था.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
रुपये
रुपये
सोशल मीडिया

पटना. लोन देने के नाम पर सार इंडिया ग्रुप नाम की कंपनी द्वारा बिहार व झारखंड के सैकड़ों लोगों से तीन करोड़ रुपये से अधिक की ठगी करने का मामला सामने आया है. कंपनी पटना की आरएमएस कॉलोनी रोड नंबर 14 स्थित अपने कार्यालय को बंद कर फरार हो गयी. इस संबंध में कंकड़बाग थाने में कंपनी के लोन सलाहकारों -सहरसा के बनगांव निवासी सुनील कुमार मिश्रा, चतरा के नंद किशोर महतो व हारून खातून, गोपालगंज के पंकज रवि, गया के विशाल सिन्हा व सदानंद दास ने प्राथमिकी दर्ज करायी है. जिसमें कंपनी के निदेशक मुन्ना ठाकुर उर्फ टुटु सिंह, अभय सिंह, प्रवीण कुमार, दीपक कुमार, दिवाकर, पवन पांडेय, सुजीत सिंह व अविनाश कुमार को आरोपित बनाया गया है. कंकड़बाग थानाध्यक्ष रविशंकर सिंह ने बताया कि मामला दर्ज कर जांच की जा रही है.

लोन सलाहकारों की नियुक्ति की, बिछाया ठगी का जाल

खास बात यह है कि लोगों को कार्यालय तक लाने के लिए इन लोगों ने वर्ष 2021 में विज्ञापन निकाल कर लोन सलाहाकर के पद पर कई लोगों को नियुक्त किया था. लोन सलाहकार को वेतन व कमीशन देने के नाम पर उनके माध्यम से कई लोगों से 5050 रुपये ले लिये गये. लेकिन, इनमें से एक भी व्यक्ति को जब लोन नहीं मिला, तो लोन सलाहकारों पर स्थानीय लोगों ने दबाव बढ़ाया. इसके बाद लोन सलाहकार कंपनी के निदेशक व अन्य कर्मियों को खोजते हुए पटना पहुंचे. लेकिन, कार्यालय बंद मिला. इसके बाद लोन सलाहकारों ने कंकड़बाग थाने में मामला दर्ज करा दिया. लोन सलाहकारों ने बताया कि उन लोगों को कंपनी ने कैसे नियुक्त किया और फिर उनके माध्यम से कई लोगों से पैसे ले लिये गये. साथ ही यह भी बताया कि कंपनी की ओर से 16 मार्च के बाद सभी आवेदकों को लोन का चेक शिविर लगाकर देने की जानकारी दी गयी थी. लेकिन, इससे पहले ही कार्यालय बंद कर सभी भाग गये.

कागजी कार्रवाई करने के नाम पर प्रति व्यक्ति से लिये- 5050

जानकारी के अनुसार, कंपनी ने विज्ञापन के माध्यम से लोगों को लोन देने का वायदा किया था. इसके साथ ही लोन के एवज में सामान्य ब्याज लेने की बात बतायी थीं. इसके कारण कई लोग लोन लेने के लिए कंपनी की आरएमएस कॉलोनी अशोक नगर रोड नंबर 14 स्थित कार्यालय में पहुंच गये, जहां उन लोगों ने लोन देने के नाम कुछ कागजी कार्रवाई करने के नाम पर प्रति व्यक्ति 5050 रुपये ऐंठ लिये. लोगों ने एक लाख से लेकर पांच लाख रुपये के लोन के लिए आवेदन दिया था.

केवल है मोबाइल नंबर, घर की नहीं है किसी को जानकारी

कंपनी से जुड़े निदेशक व अन्य लोगों ने सारा काम इतनी चालाकी से की है, जिसके कारण किसी के पास उनलोगों के घर का पता तक नहीं है. केवल कुछ मोबाइल नंबर है, जिस पर बात होती थी. लेकिन, उक्त नंबर भी दूसरे के नाम व पते पर लिये जाने की आशंका जतायी जा रही है. पुलिस को कुछ बैंक एकाउंट भी मिले हैं, जिनमें लोन सलाहकारों ने रकम जमा की थी. उन बैंक एकाउंट के संबंध में भी पुलिस छानबीन कर रही है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें