1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bus workers angry with the problems of bairia isbt patna update news no buses open patna

बसों का परिचालन ठप: मीठापुर बस स्‍टैंड बंद करने को लेकर बस कर्मी नाराज,नए टर्मिनल पर जाने को तैयार नहीं

राजधानी पटना के मीठापुर बस स्टैंड से खुलने वाले बसों का शनिवार को परिचालन ठप है. बैरिया आईएसबीटी बस स्टैंड में उचित सुविधा नहीं रहने से बस कर्मी नाराज हो गए हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
स्टैंड में ही खड़ी रहीं सारी बसें.
स्टैंड में ही खड़ी रहीं सारी बसें.
सोशल मीडिया

पटना. राजधानी पटना के मीठापुर बस स्टैंड से खुलने वाली बसों का परिचालन शनिवार को ठप हो गया. बैरिया आईएसबीटी बस स्टैंड में उचित सुविधा नहीं रहने के कारण बस कर्मी नाराज हो गए और उन लोगों ने अपने बसों का परिचालन ठप कर दिया. उनका कहना है कि जब तक उचित सुविधा नहीं मिलेगा हम लोग वहां नहीं जायेंगे. बताते चलें कि पटना जिला प्रशासन ने सभी बस मालिकों और चालकों को शनिवार की रात तक मीठापुर बस स्टैंड खाली करने का निर्देश दिया है.

यानी, शनिवार की रात में खुलने वाली सभी बसें रविवार की सुबह मीठापुर बस स्टैंड में नहीं लौटेंगी. इन बसों का नया स्टैंड बैरिया स्थित आईएसबीटी होगा. सदर एसडीओ नितिन कुमार सिंह ने आईपीसी की धारा 133 के तहत आदेश पारित किया है. इसमें कहा गया है कि मीठापुर बस स्टैंड में मूलभूत सुविधाओं का अभाव है. इसी कारण बस स्टैंड को यहां से हटाया जा रहा है.

इधर, बैरिया आईएसबीटी बस स्टैंड में उचित सुविधा नहीं रहने से बस कर्मी नाराज हो गए हैं और वे सभी हड़ताल पर चले गए हैं. सुबह से ही मीठापुर बस स्टैंड से कोई भी बसें नहीं खुल रही है. बस मालिकों का कहना है कि जब तक हम लोगों को बैरिया आईएसबीटी बस स्टैंड में मुल भूत सुविधा नहीं मिलती है तब तक हम लोग वहां नहीं जायेंगे. अपनी बसों को खड़ा कर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने को विवश हो जायेंगे.

बहरहाल शनिवार को बसों के परिचालन नहीं होने से यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. बहरहाल जक्कनपुर थाना प्रभारी का कहना है कि बस मालिकों से बात हो गई वे अपनी बसों को बैरिया आईएसबीटी बस स्टैंड ले जाने को तैयार हो गए हैं.

नए बस पड़ाव में जगह की कमी बता रहे बस मालिक

बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन की ओर से चंदन सिंह ने बताया कि नए अर्धनिर्मित बस पड़ाव में मुश्किल से 200 से 250 बसें खड़ी की जा सकती हैं. 500 से 600 बसों के ठहराव की व्यवस्था करने की जरूरत है.न तो चालकों व खलासियों के रहने-खाने की व्यवस्था की गई है और न ही कार्यालयों की. अभी तक निर्माण कार्य पूरा नहीं हो सका है.

बस मालिक गिना रहे समस्‍याएं

बस मालिकों का कहना है कि प्रशासन जल्‍दबाजी कर रहा है. नए बस स्‍टैंड में निर्माण कार्य पूरा कराने के साथ ही यहां सीसी टीवी कैमरे सुरक्षा के लिए पुलिस पोस्ट, यात्रियों के बैठने के लिए शेड के साथ ही कैंटीन की व्यवस्था करनी होगी. मुख्य सड़क को चौड़ा कर बस स्टैंड तक अलग से व्यवस्था करनी होगी ताकि सड़क पर जाम न लगे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें