1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar vidhan sabha speaker election many traditions broken in chunav nda candidate vijay kumar sinha elected as speaker see the scenario changing from moment to moment smt

Bihar Speaker Election Update: विस अध्यक्ष के चुनाव में टूटीं कई परंपराएं, देखें कैसे पल-पल बदलता रहा परिदृश्य

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bihar Speaker Election Update
Bihar Speaker Election Update
Prabhat Khabar

Bihar Speaker Election Update: नयी 17 वीं बिहार विधानसभा के अध्यक्ष पद को लेकर हुए चुनाव की प्रक्रिया एतिहासिक बन गयी. अरसे बाद स्पीकर पद को लेकर मत विभाजन कराया गया. पहली बार सदन के नेता को मतदान के दौरान सदन से बाहर रहने की मांग की गयी.

अध्यक्ष के चुनाव को लेकर वेल में आना, हंगामा करना, मत विभाजन के लिए घंटी बजने के बाद हाउस को स्थगित करने की मांग और मतदान की मांग हुई. आसन पर बैठे प्रोटेम स्पीकर जीतन राम मांझी ने भी नियम व परंपरा को तोड़ते हुए सदस्यों की मांग पर मत विभाजन की घंटी बजने के बाद हाउस को पांच मिनट तक स्थगित कर दिया.

चार सदस्यों ने ली सदन की सदस्यता : अध्यक्ष पद के लिए चुनाव प्रक्रिया शुरू होने के पूर्व चार विधायकों को सदन की सदस्यता दिलायी गयी. कोरोना संक्रमित निर्मली के विधायक अनिरुद्ध प्रसाद यादव को सबसे पहले शपथ दिलायी गयी. इसके बाद जीरादेई के विधायक अमरजीत कुशवाहा, गोपालपुर के विधायक नरेंद्र कुमार नीरज और मोकामा के विधायक अनंत कुमार सिंह ने शपथ ली. इसके बाद प्रोटेम स्पीकर द्वारा विधानसभा के नये अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया आरंभ की गयी. निर्वाचन आरंभ होने के पूर्व ही एआइएमआइएम से नेता अख्तरुल ईमान ने सदन का ध्यान आकृष्ट करते हुए सर्वसम्मति से अध्यक्ष के चुनाव की मांग की.

टाइम लाइन

  • 11.00 बजे पूर्वाह्न : सदन की कार्यवाही आरंभ व चार सदस्यों का शपथ ग्रहण

  • 11.06 बजे : विधानसभा अध्यक्ष के निर्वाचन का कार्य प्रारंभ

  • 11.19 बजे : नीतिन नवीन का पहला प्रस्ताव आया

  • 11.23 बजे : ध्वनिमत से मतदान की प्रक्रिया आरंभ हुई

  • 11.27 बजे : विपक्ष वेल में आया और हंगामा आरंभ

  • 11.32 बजे : सत्ता पक्ष द्वारा भी सीट खड़ा होकर विपक्ष का विरोध

  • 11.39 बजे : विपक्षी सदस्य अपने आसन पर लौट गये

  • 11.48 बजे : फिर से विपक्षी सदस्य वेल में आये

  • 11.51 बजे : फिर से हेडकाउंट के लिए मत विभाजन

  • 11.55 बजे : तेजस्वी ट्रेजरी बेंच के पास पहुंचे, हंगामा

  • 11.58 बजे : विधानसभा सचिव भी वेल में पहुंचे

  • 12.05 बजे : पांच मिनट के लिए हाउस को स्थगित किया गया

  • 12.15 बजे : फिर से वेल बजा

  • 12.19 बजे : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सेंट्रल हॉल में पहुंचे

  • 12.21 बजे : हां पक्ष के सदस्यों की गिनती शुरू हुई

  • 12.25 बजे : ना पक्ष वालों की गिनती शुरू हुई

  • 12.33 बजे : माले सदस्य वेल में पहुंचे

  • 12.41 बजे : परिणाम की घोषणा, सत्ता पक्ष को 126, विपक्ष को 114 मत

स्पीकर पद को लेकर मत विभाजन कराया गया, 11.23 बजे आया ध्वनिमत का प्रस्ताव

विधानसभा अध्यक्ष को लेकर ध्वनिमत प्रोटेम स्पीकर द्वारा ध्वनिमत का प्रस्ताव 11.23 बजे लाया गया. प्रोटेम स्पीकर ने सदन से विजय कुमार सिन्हा के पक्ष में सदस्यों से हां कह ध्वनिमत लिया. साथ ही घोषणा की कि पक्ष में बहुमत है. इस विपक्ष ने तत्काल आपत्ति की और कहा कि ना पक्ष का ध्वनिमत नहीं लिया गया है. इस पर आसन की ओर से कहा गया कि अब ध्वनिमत से बात नहीं बनेगी. फिर 11.24 बजे हां पक्ष के सदस्यों को खड़ा होने को कहा गया. हेडकाउंट के पहले घंटी नहीं बजायी गयी. फिर सेंट्रल हॉल के अंदर के सभी दरवाजे बंद कर दिये गये.

मनमोहन सिंह व लालू का दिया गया हवाला

सदन का सदस्य नहीं रहने को लेकर संसदीय कार्यमंत्री विजय कुमार चौधरी ने बताया कि जब डाॅ मनमोहन सिंह के कार्यकाल में लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव हुआ था तो वह राज्यसभा के सदस्य रहते हुए लोकसभा में उपस्थित थे. इधर , प्रोटेम स्पीकर ने भी बताया कि राबड़ी देवी के कार्यकाल में अध्यक्ष के चुनाव होते समय लालू प्रसाद भी सदन में रहते थे. प्रोटेम स्पीकर ने विपक्ष को यह भी समझाया कि नये अध्यक्ष के चुने जाने के बाद मुख्यमंत्री ही अध्यक्ष को लेकर आसन तक जाते हैं. वह सदन के नेता है. ऐसे में वह कहीं भी रह सकते हैं.

मुख्यमंत्री, अशोक चौधरी व मुकेश साहनी की मौजूदगी पर विपक्ष का हंगामा

हेडकाउंट करने के लिए जैसे ही सभी दरवाजे बंद हुए कि विपक्ष के सदस्य मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, मंत्री अशोक चौधरी और मुकेश सहनी को सदन में रहने को लेकर विपक्ष द्वारा आपत्ति जतायी गयी. विपक्षी सदस्यों की मांग थी कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, मंत्री अशोक चौधरी और मुकेश साहनी विधानसभा के सदस्य नहीं हैं, तो मतदान के समय सदन में नहीं रह सकते. राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव खुद सचिव से नियम दिखाने की मांग करने लगे. एक समय हुआ कि ट्रेजरी बेंच छोड़कर विधानसभा के सचिव भी वेल में खड़ा होने चले गये.

पहली बार घंटी बजने के बाद सदन को 12.05 बजे करना पड़ा स्थगित

विपक्ष की मांग पर प्रोटेम स्पीकर ने 12.05 बजे हाउस को पांच मिनट के लिए स्थगित करना पड़ा. किसी भी सदन का सदस्य नहीं रहने वाले मंत्री अशोक कुमार चौधरी व मुकेश साहनी बाहर निकल गये. जब दोपहर 12.15 बजे भी सदन की कार्यवाही आरंभ हुई, तो हंगामे के बीच फिर से सदस्यों की दोबारा गिनती की गयी. सदन में मुख्यमंत्री आ चुके थे, जिसका फिर से तेजस्वी ने विरोध किया. अंत में 12.41 बजे मत विभाजन के परिणाम की घोषणा की गयी.

सीएम व विपक्षी दलों ने नवनिर्वाचित अध्यक्ष को दिया धन्यवाद

विजय कुमार सिन्हा के निर्वाचन के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद, उपमुख्यमंत्री रेणु देवी, संसदीय कार्यमंत्री विजय कुमार चौधरी, राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव, कांग्रेस नेता अजीत शर्मा, माले नेता महबूब आलम, वीआइवी नेता मुकेश साहनी, हम नेता जीतन राम मांझी, एआइएमआइएम नेता अख्तरुल ईमान, लोजपा नेता राजकुमार सिंह और सीपीआइ नेता राम रतन सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन किया.

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें