1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar police association demands to stop bihar police transfer posting in corona third wave skt

कोरोनाकाल में बिहार के पुलिसकर्मियों के तबादले पर सवाल, एसोसिएशन ने सीएम नीतीश कुमार को लिखा पत्र

बिहार के पुलिसकर्मियों के तबादले को रोकने के लिए पुलिस एसोसिएशन ने सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखा है. कोरोना संक्रमणकाल में तबादले को गलत बताते हुए इसपर रोक की मांग की गयी है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बिहार पुलिस
बिहार पुलिस
फाइल

बिहार के पुलिसकर्मियों के तबादले का मुद्दा एकबार फिर अब सुर्खियों में है. बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को एक पत्र लिखा है जिसमें उन पुलिसकर्मियों के तबादले पर रोक लगाने की मांग की है जिनका हाल में ही ट्रांसफर किया गया और रिलिविंग ऑर्डर जारी किया जा रहा है. एसोसिएशन ने कोरोना संक्रमण का हवाला देते हुए इस रोक की मांग की है.

बिहार पुलिस एसोसिएशन ने मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एक पत्र लिखा है. इसके जरिये मांग की गयी है कि कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए स्थिति समान्य होने तक पुलिसकर्मियों के स्थानान्तरण में जो रीलिव ऑर्डर जारी हुए हैं या होने वाले हैं उसपर रोक लगायी जाए. पत्र में लिखा है कि कोरोना संक्रमण के गहराते संकट के इस दौर में पुलिसकर्मियों में भयानक रुप से असुरक्षा का भाव पैदा हो गया है.

इस पत्र में कोरोना के पिछले दो लहर में संक्रमित हुए और जान गंवाने वाले पुलिसकर्मियों का भी जिक्र किया गया है और वर्तमान में भय के कारण पुलिस के मनोबल पर इसका प्रभाव पड़ने का जिक्र किया गया है.

बिहार पुलिस एसोसिएशन का पत्र
बिहार पुलिस एसोसिएशन का पत्र
प्रभात खबर

एसोसिएशन के पत्र में यह लिखा गया है कि कोरोना की तीसरी लहर में बिहार सरकार के द्वारा स्वास्थ्यकर्मियों को जहां अवकाश पर जाने से रोका गया है, शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर सरकारी व गैर सरकारी दफ्तरों पर भी पाबंदी लगायी गयी है वहीं इस संक्रमण के खतरे के बीच भी पुलिस अधिक्षकों/ वरीय पदाधिकारियों के द्वारा सामान्य दिनों की तरह ही पुलिसकर्मियों का ट्रांसफर किया जा रहा है. इससे पुलिसकर्मी बेहद चिंतित हैं.

बता दें कि हाल में ही बिहार पुलिस मुख्यालय आदेश के तहत एक ही जिले में लंबे समय से जमे पुलिसकर्मियों के तबादले किये गये हैं. इसे लेकर विवाद भी हुआ है जिसमें बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन ने अदालत के शरण में जाने की भी चेतावनी दी है. वहीं तबादले के दौरान पुलिसकर्मियों से पांच ऐच्छिक विकल्प मांगे जाने के बाद भी उसका अनुपालन नियमों के तहत नहीं करने की भी शिकायत की गयी है.

Posted By: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें