29.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बिहार में क्रांतिकारी किसान यूनियन की कमेटी गठित, 20 मार्च को होगी दिल्ली में किसान महापंचायत

केंद्र सरकार ने देश के किसानों के साथ विश्वासघात किया है. अगर सरकार किसानों की मांग को पूरा नहीं करेगी, तो देश भर में किसान एकजुट होकर संघर्ष करेंगे. अगले साल होनेवाले लोकसभा चुनाव में इसका खामियाजा भुगतना होगा.

Kisan Morcha MahaPanchayat एमएसपी की कानूनी गारंटी, किसानों का कर्ज माफी, किसान पेंशन, केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टैनी की बर्खास्तगी सहित अन्य मांगों को लेकर दिल्ली में 20 मार्च को किसान महापंचायत होगी. इसमें बिहार में मंडियों की बहाली, उत्तर बिहार में बाढ़, सूखा, किसानों को खेती के लिए मुफ्त बिजली सहित अन्य मांगें भी रखी जायेगी. यूथ क्लब हाॅस्टल के सभागार में क्रांतिकारी किसान यूनियन की राज्य स्तरीय किसान कंवेंशन के बाद आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में डॉ दर्शनपाल ने उक्त बातें कहीं. उन्होंने कहा कि बिहार में क्रांतिकारी किसान यूनियन के विस्तार के लिए 25 सदस्यीय राज्य सांगठनिक कमेटी गठित की गयी है. राज्य सांगठनिक कमेटी के कार्यक्रमों को संचालित करने के लिए पांच सदस्यीय वर्किंग कमेटी बनायी गयी है. इसमें बिंदेश्वरी सिंह, वीवी सिंह, मनोज कुमार, सुबोध कुमार व चंद्रमोहन पटेल शामिल हैं.

किसानों के साथ विश्वासघात हुआ

डॉ दर्शनपाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने देश के किसानों के साथ विश्वासघात किया है. अगर सरकार किसानों की मांग को पूरा नहीं करेगी, तो देश भर में किसान एकजुट होकर संघर्ष करेंगे. अगले साल होनेवाले लोकसभा चुनाव में इसका खामियाजा भुगतना होगा. उन्होंने कहा कि क्रांतिकारी किसान यूनियन के बिहार में विस्तार से संयुक्त किसान मोर्चा के राष्ट्रीय किसान आंदोलन को और मजबूती प्रदान करेगा. उन्होंने 20 मार्च को दिल्ली घेरने के लिए बिहार के किसानों का आह्वान किया.

यूनियन का किया गया विस्तार

इससे पहले क्रांतिकारी किसान यूनियन के राज्य स्तरीय कन्वेंशन में किसानों की समस्याओं पर चर्चा हुई. खासकर किसानों को उनकी पैदावार का सही मूल्य नहीं मिलना, कर्ज से किसानों की खस्ताहाल, बिहार में मंडियों की स्थिति, कहीं बाढ़ व कहीं सूखाड़, समय पर बीज, खाद आदि नहीं मिलने, खेतिहर मजदूरों की समस्याओं को रखा गया. समस्याओं की मांगों को बुलंद करने के लिए संगठन का विस्तार किया गया. सांगठनिक विस्तार के लिए 25 सदस्यीय कमेटी गठित की गयी. कन्वेंशन के आरंभ में राज्य कार्यकारी समिति के बिंदेश्वरी सिंह ने बिहार में यूनियन के विस्तार को राज्य में किसान आंदोलन की मजबूती के लिए एक महत्वपूर्ण कदम बताया.

राष्ट्रीय किसान मोर्चा के अध्यक्ष वीवी सिंह ने यूनियन में अपने संगठन के विलय की घोषणा की. कन्वेंशन का संचालन डॉ श्यामनंदन शर्मा ने किया. कन्वेंशन को यूपी प्रभारी शशिकांत, पंजाब से अवतार सिंह, रामनयन यादव, प्रो आनंद किशोर, सच्चिदानंद प्रभाकर, सिपाही यादव, अनिल सिंह, धर्मेंद्र कुमार, रामानंद तिवारी, वीरेंद्र सिंह, जवाहर निराला, पुपुल सिंह, गोपाल सिंह, टीएन यादव सहित अन्य किसान नेताओं ने संबोधित किया.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें