1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. bihar got upsc topper after 20 years know when where and how did shubham study asj

Shubham Kumar: बिहार को 20 साल बाद मिला यूपीएससी टॉपर, जानिये शुभम कुमार की कब, कहां और कैसे हुई पढ़ाई

शुभम ने बिहार से संबंधित परीक्षार्थियों के अंक लाने के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिये हैं. इस साल के रिजल्ट की खास बात यह भी रही कि इस साल टॉप टेन में दो और बिहारी हैं. सातवें पर जमुई के प्रवीण कुमार और दसवें पर समस्तीपुर के सत्यम गांधी हैं. बिहार से सफल हुए शुभम, प्रवीण, अनिल और आशीष ये सभी आईआईटियन हैं.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
शुभम कुमार
शुभम कुमार
प्रभात खबर

पटना. आईएएस परीक्षा का टॉपर 20 साल बाद एक बार फिर बिहारी बना है. यह स्थान वापस पाने में बिहार को 19 साल लग गये. इस साल कटिहार के शुभम कुमार ने पूरे देश में पहला स्थान प्राप्त किया है.

इससे पहले वर्ष 2001 में आलोक रंजन झा टॉपर बने थे, जबकि 1997 में गया के सुनील कुमार बरनवाल ने शीर्ष स्थान प्राप्त किया था. 1987 में आमिर सुबहानी ने टॉप किया था, जो अभी बिहार के विकास आयुक्त हैं.

शुभम कुमार ने टॉप करने के साथ-साथ एक रिकार्ड भी बनाया है. शुभम ने बिहार से संबंधित परीक्षार्थियों के अंक लाने के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिये हैं. इस साल के रिजल्ट की एक खास बात यह भी रही कि इस साल टॉप टेन में दो और बिहारी हैं. सातवें पर जमुई के प्रवीण कुमार और दसवें पर समस्तीपुर के सत्यम गांधी हैं. बिहार से सफल हुए शुभम, प्रवीण, अनिल और आशीष ये सभी आईआईटियन हैं.

यूपीएससी परीक्षा में देशभर में प्रथम आने वाले शुभम कुमार की प्राथमिक पढ़ाई कटिहार जिले के कदवा प्रखंड के कुम्हरी गांव में ही हुई. पूर्णिया जिले के परोरा स्थित विद्या विहार से कक्षा 6 से 10 तक शिक्षा लेने के बाद शुभम ने आगे की पढ़ाई चिन्मयानंद, बोकारो से की. साल 2014 से 18 तक आईआईटी मुंबई में सिविल इंजीनियरिंग से बीटेक का पढ़ाई पूरी की.

पत्रकारों से बात करते हुए शुभम अपनी शिक्षा यात्रा को लेकर कहते हैं कि गांव में उनके एक शिक्षक ने एक सवाल का गलत जवाब दिया था, जिससे वो काफी दुखी हुए थे. इसी प्रकरण ने उनको पढ़ाई के लिए गांव से बाहर जाने को प्रेरित किया. फिर शुभम ने पटना जाना तय किया. शुभम कहते हैं कि मैंने अपने घर वालों से बात की और कहा कि मुझे पटना जाना है और अच्छे से पढ़ाई करनी है. मेरे पिता ने मेरी बात मान ली और वहीं से मेरी लाइफ ने टर्न लिया. उसके बाद से आगे की पढ़ाई पटना और दूसरे शहरों में हुई और आज यह सफलता मिली है.

शुभम ने पहली बार सिविल परीक्षा में सफलता हासिल नहीं की है. वे वर्ष 2019 में ही यूपीएससी में 290 रैंक लाकर सफल हो गये थे. फिलहाल वो इंडियन डिफेंस अकाउंट सर्विस, पुणे में पदस्थापित हैं.

शुभम कुमार के बारे में एक खास बात यह है कि उन्होंने 2019 की परीक्षा में 290 रैंक लाया था. यह उनका दूसरा प्रयास था और उन्होंने देश भर में टॉप कर न सिर्फ अपने माता-पिता या परिजनों का बल्कि पूरे बिहार का मान बढ़ाया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी उन्हें बधाई दी है. उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी हैं.

सीएम नीतीश ने ट्वीट के जरिए बधाई देते हुए लिखा है कि UPSC सिविल सेवा परीक्षा में प्रथम स्थान हासिल करने पर बिहार के श्री शुभम कुमार को बधाई एवं शुभकामनाएं. उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना है. बिहार के विकास आयुक्त, श्री आमिर सुबहानी जी ने भी पूर्व में प्रथम स्थान प्राप्त किया था.

बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने सिविल सर्विस परीक्षा, 2020 में टॉपर बनने पर बिहार के कटिहार निवासी शुभम कुमार को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ दी हैं. विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि इनकी सफलता ने एक बार फिर से बिहार का गौरव बढ़ाया है. शुभम लाखों युवाओं की प्रेरणा हैं.

कटिहार के शुभम को IAS टॉपर होने पर बिहार के उप मुख्य मंत्री तार किशोर प्रसाद ने भी बधाई दी है. श्री प्रसाद ने भी कहा है कि शुभम की सफलता ने एक बार फिर से कटिहार और बिहार का गौरव बढ़ाया है.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें