नहाय-खाय के साथ आज से शुरू होगा लोक आस्था का महापर्व छठ

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
पटना : लोक आस्था के महापर्व छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान गुरुवार को नहाय-खाय से शुरू होगा. अनुष्ठान का समापन रविवार को छठव्रतियों द्वारा उगते सूर्य को अर्घ देने के साथ होगा. इस दौरान व्रती शुक्रवार की देर शाम खरना का प्रसाद ग्रहण करने के बाद निर्जला व्रत रखेंगे.
रविवार को अहले सुबह भगवान भास्कर को अर्घ देने के बाद ही अन्न-जल ग्रहण करेंगे. इससे पहले शनिवार की शाम में डूबते हुए सूर्य को व्रती द्वारा अर्घ दिया जायेगा. छठ पर्व ही ऐसा है, जिसमें व्रती डूबते हुए सूर्य को भी अर्घ देते हैं. छठ पूजन करनेवाले लोगों के घरों में इसकी तैयारी शुरू हो गयी है. गुरुवार को व्रती कद्दु-भात खायेंगे.
दूसरे दिन शुक्रवार को देर शाम में खरना का प्रसाद तैयार होगा. दूध में गुड़ (शक्कर) डाल कर खीर तैयार होने के साथ ही सोहारी (रोटी) बनेगी. छठ पूजन करनेवाले के घरों में कहीं-कहीं अरवा चावल का भात व चना दाल भी बनेगा. शनिवार को डूबते हुए भगवान भास्कर को अर्घ देने के लिए व्रती के घरों में खासकर महिलाएं सुबह से ही पूड़ी-पकवान तैयार करने में जुट जायेंगी. रविवार को सुबह का अर्घ देने के बाद पूजन संपन्न होगा.
चार दिवसीय छठ आज से
नहाय-खाय 31 अक्तूबर (गुरुवार)
खरना एक नवंबर (शुक्रवार)
पहला अर्घ दो नवंबर (शनिवार)
दूसरा अर्घ तीन नवंबर (रविवार)
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें