मंगोलिया में आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में बोले सुशील मोदी- विश्व की आध्यात्मिक राजधानी बनेगा बोधगया

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मंगोलिया / पटना :मंगोलिया की राजधानी उलानबटार में 'बौद्ध एवं हिंदू धर्म की पहल : वैश्विक संघर्ष का परिहार एवं पर्यावरण चेतना' विषय पर 6-7 सितंबर, 2019 से प्रारंभ अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व दलाई लामा द्वारा प्रदत्त भगवान बुद्ध की मूर्तियों के प्राण प्रतिष्ठा समारोह का उद्घाटन मंगोलिया के प्रधानमंत्री ने किया.इस सम्मेलन को आर्ट ऑफ लिविंग के श्रीश्री रविशंकर एवं धर्म गुरु अवधेशानंद गिरि समेत दो दर्जन से ज्यादा बौद्ध देशों के प्रतिनिधियों ने विभिन्न सत्रों में संबोधित किया.

मंगोलिया में आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में बोले सुशील मोदी- विश्व की आध्यात्मिक राजधानी बनेगा बोधगया

भारत सरकार के प्रतिनिधि के रूप में बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार सरकार एवं केंद्र सरकार बोधगया को विश्व की आध्यात्मिक राजधानी बनाने, भारत और बौद्ध देशों के बीच की सभ्यता की कड़ी के रूप में विकसित करना चाहती है. राज्य सरकार 145 करोड़ की लागत से 2,500 लोगों की क्षमता का ऑडिटोरियम और सांस्कृतिक परिसर का निर्माण बोधगया में कर रही है. यह बौद्ध सांस्कृतिक केंद्र के नाम से जाना जायेगा. मोदी ने कहा कि भगवान बुद्ध जिन स्थानों पर ठहरे, जिस मार्ग से यात्रा किया, तपस्या की, उन स्थानों को 101.41 करोड़ की लागत से विकसित किया जायेगा. भारत सरकार ने भी 2019 के बजट में बोधगया सहित देश के 17 पर्यटक स्थलों पर विश्वस्तरीय सुविधाएं विकसित करने की घोषणा की है.उद्धघाटन सत्र को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं 14वें दलाई लामा ने विडियो कांफ्रेंसिंग द्वारा संबोधित किया. जापान के प्रधानमंत्री का संदेश भी पढ़ कर सुनाया गया.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें