कुशवाहा के समर्थन में उतरे पूर्व विधायक, हथियार लहराते हुए दी गोली चलाने की धमकी, गिरफ्तारी संभव

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा द्वारामंगलवारको वोट की रक्षा के लिए खूनी संघर्ष की बात कहे जानेको लेकर बिहार में सियासी पारा चढ़ने लगा है. वहीं, इन सबके बीच कुशवाहा के इस विवादित बयानकेसमर्थन में उतरे भभुआ के पूर्व विधायक और लोकसभा चुनाव में बक्सर लोकसभा सीट से निर्दलीय उम्मीदवार रामचंद्र यादव ने हथियार लहराते हुए यहां तक कह दिया कि हम लोकतंत्र को बचाने के लिए गोली चलाने को तैयार हैं. हमें बस महागठबंधन के नेता आदेश दें. वहीं इस घटना का वीडियो वायरल होने पर चुनाव आयोग ने संज्ञान लेकर कार्रवाई की है. रामचंद्र यादव पहले भी विवादों में रहे हैं.


गिरफ्तार हो सकते हैं पूर्व विधायक
पटना : लोकसभा चुनाव में बक्सर लोकसभा सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ने वाले भभुआ के पूर्व विधायक रामचंद्र यादव के खिलाफ चुनाव आयोग ने डीएम को कड़ी कार्रवाई के आदेश दिये हैं. आयोग के आदेश के बाद पूर्व विधायक के निवास स्थान पर छापेमारी की गयी. हालांकि, मिल रही जानकारी के मुताबिक पुलिस ने छापेमारी के दौरान प्रेसवार्ता के दौरान लहराये गये हथियार को बरामद कर लिया है. छापेमारी के दौरान वह घर पर नहीं मिले. पुलिस ने पत्नी से पूछताछ की. वहीं, एडीजी मुख्यालय कुंदन कृष्णन ने कहा है कि पूर्व विधायक का हथियार लहराते हुए वीडियाे सामने आया है. हथियार लहराना अपराध है. आर्म्स एक्ट का उल्लंघन है. उनकी गिरफ्तारी भी हो सकती है.

आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज
इसको लेकर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आपात बैठक हुई. बैठक में सभी बिंदुओं पर चर्चा हुई. इसके बाद कैमूर के डीएम और एसपी को आवश्यक कार्रवाई का निर्देश दिया गया. बैठक के बाद एडीजी मुख्यालय कुंदन कृष्णन ने कहा कि पूर्व विधायक रामचंद्र यादव के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. हथियार बरामदगी के लिए उनके सभी ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है.


गौर हो कि उपेंद्र कुशवाहा ने मंगलवार को आरोप लगातेहुए कहाथा कि एग्जिट पोल का बिहार में राजग को 40 में से 30 या उससे अधिक सीटों का पूर्वानुमान गुमराह करने वाला और हमारे कार्यकर्ताओं का उत्साह भंग करने का एकमात्र उद्देश्य है. कुशवाहा ने पत्रकारों से कहा कि पहले हम बूथ लूट के बारे में सुनते थे. इस बार, ऐसा संदेह है कि नतीजों को लूटने का प्रयास किया जा सकता है. यह ईवीएम से छेड़छाड़ या मतगणना केंद्र पर अन्य तरह की गतिविधियों द्वारा किया जा सकता है. राजग के नेताओं को ऐसे किसी भी गलत काम में लिप्त ना होने की चेतावनी दी जाती है. जबरदस्त जनाक्रोश से सड़कों पर खून की नदियां बह सकती हैं, जिसके लिए हम जिम्मेदार नहीं होंगे.

उधर, कुशवाहा के इस बायन पर जदयू ने पलटवार करते हुए कहा कि हमने चूड़ियां नहीं पहन रखी हैं तोवहींलोजपा प्रमुख रामविलास पासवान ने भी उसी तेवर में जवाबदेतेहुए कहा कि हमने अपने कार्यकर्ताओं से कहा कि डिफेंसिव होने की कोई जरूरत नहीं है, बल्कि लोकतंत्र कमजोर करने की किसी भी कोशिश के खिलाफ लड़ने की आवश्यकता है. पासवान ने उपेंद्र कुशवाहा पर सवाल उठाते हुए कहा कि अब कहते हैं हार जाएंगे तो खून खराबा होगा. यह तो सरासर चोर की दाढ़ी में तिनका वाली बात है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें