बदमाशों ने मारी तीन गोली, जान बचाने के लिए दो किमी तक दौड़ता रहा खून से लथपथ शख्‍स

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

सिलाव (नालंदा) : बेन थाने के सिकरीपर गांव के बिंद केवट का पुत्र पंकज केवट शुक्रवार की शाम करीब सात बजे सिलाव के भूई बाजार से घर लौट रहा था. इसी दौरान अपराधियों ने उसे तीन गोलियां मारीं और मरा समझकर सड़क के किनारे गड्ढे में फेंक दिया. लगभग दो बजे रात को होश आया, तो जख्मी हालत में किसी तरह लगभग दो किलोमीटर चलकर सिकड़ीपर घर पहुंचा व परिजनों को आपबीती सुनायी.

इधर, पंकज के नहीं लौटने पर माता-पिता रात के लगभग 11 बजे तक उसकी खोजबीन की, लेकिन पता चल सका. जख्मी पंकज के अनुसार, जमीन विवाद में चचेरे भाई ने ही भाड़े के अपराधियों से हत्या कराने का प्रयास किया. उसने बताया कि अपराधियों ने गोली मारने के बाद चचेरे भाई शिवबालक केवट को फोन कर बताया कि तुम्हारा काम हो गया है. इसके कुछ देर बाद मैं बेहोश हो गया. लगभग दो बजे रात को होश आया, तो जख्मी हालत में किसी तरह लगभग दो किलोमीटर चलकर सिकड़ीपर घर पहुंचा व परिजनों को आपबीती सुनायी.

इसके बाद तत्काल परिजन धोबड़ी गांव निवासी चौकीदार सुंदर पासवान को जानकारी दी और बेन थाने ले गया. बेन थानाध्यक्ष पिंकी प्रसाद ने थाने कि गाड़ी से जख्मी युवक को बिहारशरीफ सदर अस्पताल में भर्ती कराया. फिलहाल बिहारशरीफ के एक निजी अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में जख्मी का इलाज चल रहा है. पुलिस ने अस्पताल पहुंच कर घायल का बयान दर्ज कर लिया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें