25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

स्वास्थ्य अधिकारी क्षेत्र में भ्रमण कर स्वास्थ्य सुविधाएं दुरुस्त करें : डीएम

स्वास्थ्य अधिकारी क्षेत्र में भ्रमण कर स्वास्थ्य सुविधाएं दुरुस्त करें

-डीएम ने स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं की समीक्षा की -कहा-कुपोषित बच्चों को चिह्नित कर उन्हें अस्पताल भेजें मुजफ्फरपुर. स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं की समीक्षा डीएम सुब्रत कुमार सेन ने की. इस दौरान उन्होंने उत्कृष्ट एवं सराहनीय उपलब्धि हासिल करनेवाले अधिकारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया. न्यूनतम उपलब्धि हासिल करनेवालों से इसका कारण भी पूछा. उन्होंने पूर्ण टीकाकरण की समीक्षा की. सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को ड्यू लिस्ट व सेशन साइट के अनुरूप शत-प्रतिशत बच्चों को टीकाकरण करने के निर्देश दिये. डीएम ने परिवार नियोजन, जननी बाल सुरक्षा, प्रसव पूर्व जांच, ओपीडी, आइपीडी, संस्थागत प्रसव, एंबुलेंस, दवा की उपलब्धता, एइएस संबंधित किये जा रहे कार्य तथा डेंगू से बचाव आदि की समीक्षा भी की. डीएम ने सिविल सर्जन को योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के लिए क्षेत्र भ्रमण करने, माॅनीटरिंग करने व अधिकारियों के साथ बैठक कर कार्य में सुधार लाने का निर्देश दिया. अस्पतालों में प्रसव पूर्व जांच परीक्षण तथा कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य में सुधार लाने हेतु सभी पीएचसी की समीक्षा की. कुपोषित बच्चों को चिन्हित कर उन्हें अस्पताल लाने व स्वास्थ्य में सुधार लाने का निर्देश दिया. जिलाधिकारी ने बैठक में मुरौल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी द्वारा 150 प्रतिशत की सराहनीय उपलब्धि प्राप्त करने पर अन्य एमओआईसी को अपने अनुभव एवं कार्य के बारे में बताने को कहा. बैठक में उप विकास आयुक्त आशुतोष द्विवेदी, डाॅ. आकांक्षा आनंद, सिविल सर्जन डाॅ. अजय कुमार, जिला वीबीडी नियंत्रण पदाधिकारी सह एसीएमओ डाॅ. सतीश कुमार, डीपीओ चाॅंदनी सिंह, डीपीएम जीविका अनीशा गांगुली, व सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी उपस्थित थे. गर्भवतियों की सेहत का रखें ख्याल, उनकी रिपोर्टिंग भी हो- डीपीओ, आइसीडीएस को सीडीपीओ के कार्य की समीक्षा करते हुए प्रसव पूर्व जांच परीक्षण, कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य में सुधार लाने तथा शत-प्रतिशत बच्चों के टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपेक्षित कार्रवाई करने के निर्देश दिये. साथ ही गर्भवतियों का स्वास्थ्य परीक्षण करते हुए उनके हीमोग्लोबिन, शुगर, बीपी व अन्य संबंधित जांच करने व इसकी रिपोर्टिंग करने की बात डीएम ने कही. अस्पतालों में ही संस्थागत प्रसव कराने के लिए आशा कार्यकर्ता को समन्वय स्थापित कर प्रगति लाने के निर्देश दिये. कटरा में टीकाकरण सबसे ज्यादा हुआ समीक्षा में पाया कि कुढ़नी में 72 प्रतिशत, मुशहरी ग्रामीण में 72, पारू में 72, सरैया में 74, सकरा में 78, बंदरा में 77, मुरौल में 74 प्रतिशत, मीनापुर में 82, बोचहां में 82, अघोरिया बाजार में 58, मोतीपुर में 92 व कटरा में 94 प्रतिशत टीकाकरण हुआ है. डीएम ने डीआइओ को भ्रमण करने व लगातार माॅनीटरिंग करने को कहा. उन्होंने सीएस को कुढ़नी, मुशहरी, पारू, सरैया, बन्दरा के एमओआईसी, बीएचएम व सीडीपीओ से कम टीकाकरण करने पर जवाब तलब करने को कहा. ओपीडी की समीक्षा में कुढ़नी में 42 प्रतिशत, सरैया में 35, मुशहरी में 41, कांटी में 54 प्रतिशत, पारू में 55, बोचहां में 44, साहेबगंज में 50, बंदरा में 86 व मुरौल में 150 प्रतिशत हुआ है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें