25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

खरीफ बीज की होम डिलेवरी, 5 रुपये प्रति किलो लगेगा शुल्क

खरीफ बीज की होम डिलेवरी होगी. कृषि विभाग ने किसानों की सुविधा के लिए चालू खरीफ में बीज की घर-घर आपूर्ति करने की व्यवस्था बहाल की है.

मोतिहारी. खरीफ बीज की होम डिलेवरी होगी. कृषि विभाग ने किसानों की सुविधा के लिए चालू खरीफ में बीज की घर-घर आपूर्ति करने की व्यवस्था बहाल की है. किसानों को बीज की होम डिलेवरी के लिए तय राशि देनी होगी. इस योजना का उद्देश्य किसानों को गुणवत्तापूर्ण बीज उपलब्ध कराना है. इच्छुक निबंधित किसान होम डिलीवरी बीज के लिए विभाग के पोर्टल पर आनलाइन आवेदन करेंगे, जिसके बाद विभाग 15 जून तक किसानों के घर तक बीज पहुंचाने का काम करेगी. बीज पहुंचाने की जिम्मेदारी निबंधित बीज वितरक व कृषि समन्वयकों है. आनलाइन आवेदन करने वाले निबंधित किसानों के मोबाइल नंबर पर ओटीपी जाएगा, उसी ओटीपी नंबर के माध्यम से कृषि विभाग किसानों के घर तक बीज पहुंचाने का काम करेगा. किसानों को होम डिलीवरी बीज के लिए निबंधित नंबर अंकित कर बीज के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा. कृषि विभाग के पोर्टल पर ऑनलाइन बीज आवेदन के क्रम में ही किसान को बीज की होम डिलेवरी आपूर्ति के लिए ऑप्शन मिलेगा. जिसका चयन किसान को ऑनलाइन आवेदन के दौरान ही करनी होगी. प्रति किलो पांच रुपये की दर से करना होगा भुगतान बीज की होम डिलेवरी के लिए किसान को पांच रुपये प्रति किलो की दर से राशि भुगतान करनी होगी. विभाग द्वारा निर्धारित शुल्क का भुगतान किसान को बीज की राशि भुगतान के समय बीज विक्रेता को करना होगा. आनलाइन आवेदन करने वाले किसानों के घर 15 जून तक होम डिलीवरी के माध्यम से पहुंचाए जाएंगे. विभाग ने आवेदन के बाद निबंधित बीज विक्रेता व कृषि समन्वयक को आवेदन करने वाले किसानों के घर तक बीज पहूंचाने की जिम्मेवारी सौंपी है. ऑनलाइन आवेदन में ऑप्शन करना होगा चयन पिछले साल जिले के पांच हजार 8 सौ 41 किसानों को इस योजना का लाभ मिला है. वित्तीय वर्ष 2021-22 में कृषि समन्वयकों के माध्यम से जिले के विभिन्न प्रखंडों के लगभग 10 हजार और वर्ष 2022-23 में 12 हजार किसानों ने आवेदन किया. जिन्हें विभागीय व्यवस्था के तहत घर पर बीज की होम डिलेवरी की गयी थी. जिला कृषि पदाधिकारी प्रविण कुमार राय ने कहा कि डीबीटी और बीआरबीएन के पोर्टल पर बीज होम डिलेवरी के लिए आवेदन करना है. इसके बाद निबंधित बीज विक्रेता व कृषि समन्वयक ओटीपी के माध्यम से किसानों के घर तक बीज पहुंचाने का काम करेंगे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें