30.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

दूसरे की जगह परीक्षा देते पकड़े गये चार मुन्ना भाई, प्राथमिकी दर्ज

हिंदी टिप्पण प्रारूपण परीक्षा में दूसरे कर्मी के नाम पर परीक्षा दे रहे चार मुन्ना भाई गिरफ्तार हो गये. पकड़े गये सभी युवकों पर केंद्राधीक्षक ने प्राथमिकी दर्ज करायी है.

भभुआ नगर. हिंदी टिप्पण प्रारूपण परीक्षा में दूसरे कर्मी के नाम पर परीक्षा दे रहे चार मुन्ना भाई गिरफ्तार हो गये. पकड़े गये सभी युवकों पर केंद्राधीक्षक ने प्राथमिकी दर्ज करायी है. जानकारी के अनुसार, निदेशक मंत्रिमंडल सचिवालय राज भाषा के निर्देश के तहत जिले के विभिन्न कार्यालयों में कार्यरत कर्मियों का रविवार को शहर के शहीद संजय सिंह महाविद्यालय में हिंदी टिप्पण व प्रारूपण परीक्षा का आयोजन किया गया. परीक्षा में टोटल 331 परीक्षार्थियों को शामिल होना था, लेकिन परीक्षा के दौरान 309 परीक्षार्थी शामिल हुए. इधर, परीक्षा के दौरान ही इसकी निगरानी के लिए वीक्षक के पद पर तैनात पदाधिकारी द्वारा परीक्षार्थियों का फोटो मिलान करते हुए सिग्नेचर लिया जा रहा था. फोटो मिलान व सिग्नेचर के दौरान शंका होने पर परीक्षा दे रहे परीक्षार्थियों से पूछताछ की गयी. पूछताछ के दौरान फर्जी परीक्षार्थी घबराने लगे, जिस पर इस पर परीक्षा की ड्यूटी पर तैनात वीक्षकों द्वारा इसकी सूचना केंद्राधीक्षक को दी गयी. केंद्राधीक्षक द्वारा जांच-पड़ताल के बाद मामला सामने आया कि चारों परीक्षार्थी दूसरे के नाम पर परीक्षा दे रहे हैं. इस पर केंद्राधीक्षक ने चारों परीक्षार्थियों को परीक्षा से निष्कासित करते हुए स्थानीय थाने को सौंप दिया व उनके द्वारा चारों के खिलाफ थाने में प्राथमिकी दर्ज करने के लिए आवेदन दिया गया. = सिपाही नीरज के नाम पर रोहित दे रहा था परीक्षा निदेशक मंत्रिमंडल राजभाषा द्वारा आयोजित परीक्षा में पकड़े गये चारों फर्जी परीक्षार्थी दूसरे के नाम पर परीक्षा दे रहे थे. इधर, जिला स्थापना शाखा से जानकारी के अनुसार, सिपाही के पद पर कार्यरत नीरज कुमार सिंह के नाम पर भभुआ थाना के रतवार गांव निवासी नीरज कुमार परीक्षा दे रहा था. वहीं, सिपाही के पद पर कार्यरत मंटू कुमार सिंह की जगह पर मोहनिया के निवासी राहुल कुमार चौधरी परीक्षा दे रहा था. जबकि, सिपाही सुजीत कुमार के नाम पर मधुबनी के रहने वाला जितेंद्र कुमार परीक्षा दे रहा था. वहीं, राजेश कुमार दुबे के नाम पर भभुआ के वार्ड नंबर 11 के रहने वाला अश्वनी चौबे परीक्षा दे रहा था. इधर, पकड़े गये सभी परीक्षार्थियों को स्थानीय थाने को सौंप दिया गया है, थाने की पुलिस आगे की कार्रवाई में जुट गयी है. = परीक्षा पास करने पर कर्मियों को मिलता है वेतन वृद्धि का लाभ गौरतलब है की निदेशक हिंदी राजभाषा के निर्देश के आलोक में प्रत्येक वर्ष हिंदी टिप्पण व प्रारूपण परीक्षा आयोजित की जाती है. परीक्षा में जिले के पुलिस संवर्ग, समाहरणालय संवर्ग, शिक्षा विभाग, तकनीकी विभाग सहित अन्य विभागों के कर्मचारी शामिल होते हैं. परीक्षा पास करने वाले सरकारी कर्मियों को वेतन वृद्धि का लाभ मिलता है. परीक्षा कड़ी सुरक्षा के बीच व कड़ी निगरानी में ली जाती है. परीक्षा की निगरानी के लिए वरीय अधिकारी को केंद्राधीक्षक बनाया जाता है, तो वहीं परीक्षा की निगरानी के लिए वरीय उपसमाहर्ता की ड्यूटी वीक्षक के रूप में लगायी जाती है. बोले अधिकारी इस संबंध में पूछे जाने पर जिला परिवहन पदाधिकारी सह केंद्राधीक्षक चंदन चौहान ने कहा कि निदेशक मंत्रिमंडल राजभाषा द्वारा आयोजित हिंदी टिप्पण परीक्षा में चार फर्जी परीक्षार्थी दूसरे कर्मी के नाम पर परीक्षा दे रहे थे. चारों युवकों को भभुआ थाने को सुपुर्द करते हुए चारों के खिलाफ सुसंगत धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करा दिया गया है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें