17.1 C
Ranchi
Wednesday, February 28, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

बिहार में ITBP का जवान लोन चुकाने बन गया किडनैपर, मोतिहारी से भी अगवा बच्चा बरामद, जानिए पूरी घटना..

बिहार में इन दिनों अपहरण की कई घटनाएं सामने आयी हैं. मुजफ्फरपुर से अगवा किए गए एक बच्चे को सकुशल बरामद किया गया. लोन लेकर आलीशान बंगला बना लिया और कर्ज के बोझ में दबा तो जवान किडनैपर बन बैठा. मोतिहारी से भी अगवा बच्चा बरामद हो चुका है. पढ़िए..

Bihar Crime News: बिहार में अपहरण की एक और घटना सामने आयी है और इस अपहरणकांड की हकीकत ने सबको दंग करके रख दिया है. मुजफ्फरपुर जिले के अहियापुर के रसूलपुर वाजिद से अपहृत तीसरी कक्षा के छात्र श्लोक कुमार सिंह (10) को सीतामढ़ी के रुन्नीसैदपुर रेलवे स्टेशन से बरामद कर लिया है. जिला पुलिस की विशेष टीम को 72 घंटे तक चले ऑपरेशन के दौरान गुरुवार को सुबह चार बजे बच्चे को बरामद करने में सफलता मिली. पुलिस ने एक अपहर्ता को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं पूरे मामले के बारे में जो जानकारी पुलिस को मिली वो हैरान करने वाली है. इस अपहरण कांड का मास्टर माइंड आइटीबीपी का एक जवान है.

अपहरण कांड का मास्टर माइंड है ITBP का जवान

गिरफ्तार अपहर्ता सीतामढ़ी जिले के रुन्नीसैदपुर थाना के गरगद्धा अथरी का कुमार सौरव उर्फ कन्हाई है. पुलिस ने उसके घर से बच्चे का स्कूल बैग, स्कूल ड्रेस, अपहरण में इस्तेमाल बाइक, अपहर्ता का हेलमेट, घटना के दौरान पहना गया कपड़ा और मोबाइल बरामद किया है. इस अपहरण कांड का मास्टर माइंड कन्हाई का बड़ा भाई आइटीबीपी जवान कुमार गौरव उर्फ मोइज रुन्नीसैदपुर रेलवे स्टेशन पर बच्चे को छोड़ कर भाग गया. जिला पुलिस की छह टीम उसकी गिरफ्तारी को लेकर छापेमारी कर रही है. गौरव प्रयागराज में हेड कांस्टेबल टेलिकॉम के पद पर कार्यरत है, वहां आइटीबीपी के वरीय पदाधिकारियों को भी एसएसपी राकेश कुमार ने पूरे मामले से अवगत करा दिया है.

Also Read: पटना में युवती के सामने प्रेमी की हत्या, खगड़िया में डबल मर्डर, पढ़े बिहार में क्राइम की बड़ी खबरें..
लोन चुकाने के लिए कर लिया अपहरण..

एसएसपी राकेश कुमार ने बताया कि आइटीबीपी जवान कुमार गौरव उर्फ मोइज व उसके भाई कुमार सौरव उर्फ कन्हाई ने लोन पर रुपये लेकर गांव में आलीशान घर बनाया था. इसके अलावा एक कार व बाइक भी खरीदी पूछताछ के दौरान गिरफ्तार कुमार गौरव उर्फ कन्हाई ने बताया कि वह जीरोमाइल चौक पर ही बहनोई के घर में रहकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा था. बच्चों को होम ट्यूशन भी पढ़ा रखा था. एक माह पहले उसका भाई जो आइटीबीपी का जवान है, वह छुट्टी में गांव आया था. घर बनाने के दौरान काफी रुपये बैंक से लोन ले रखा था. उसको चुकाने के लिए अपहरण करके फिरौती वसूल कर लोन चुकाने की साजिश रची थी.

चार जिलों से कॉल कर पिता से मांगी जा रही थी फिरौती

एसएसपी राकेश कुमार ने बताया कि अपहृर्ताओं ने 16 अक्तूबर की रात करीब 11.30 बजे हाजीपुर से पहली कॉल छात्र के पिता पप्पू सिंह को की थी. इसमें 50 लाख की फिरौती मांगी थी. 17 अक्तूबर को तीन बार कॉल किया. पहला कॉल मोतिहारी से शाम चार बजे, दूसरा कॉल छह बजे, फिर रात आठ बजे रक्सौल से किया था. 18 अक्तूबर को पिता के मोबाइल पर कॉल आया. इसमें कहा कि 2.30 बजे रामदयालु से ट्रेन में बैठ जाना, फिर सीतामढ़ी स्टेशन पर पार्किंग में पहुंच कर कॉल करना. कहां पैसा देना है, इसके बारे में आगे कॉल करके जानकारी दी जायेगी.

गोपालगंज के रेलकर्मी के लापता पुत्र का मिला शव

गोपालगंज के फुलवरिया गांव के निवासी रेलकर्मी जंगी लाल साह के 17 वर्षीय पुत्र चंदन कुमार का शव हाजीपुर स्थित गंगा नदी से पुलिस ने गुरुवार की सुबह बरामद कर लिया है. वह पिछले गुरुवार की रात से ही हाजीपुर स्थित रेलकर्मी आवास से लापता हो गया था. मृतक चंदन कुमार हाजीपुर स्थित उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के 12 वीं का छात्र था. परिजनों के अनुसार 8 दिनों पूर्व 11 अक्टूबर गुरुवार की रात सरकारी आवास से लापता हो गया था. जिसकी खोज बीन की जा रही थी.परिजनों ने चंदन कुमार का अपहरण करने के बाद हत्या की आशंका जताई है. पुलिस विभिन्न बिंदुओं पर छानबीन करने में जुट गई है.

मोतिहारी से अगवा किशोर बरामद, दो किडनैपर गिरफ्तार

मोतिहारी के चिरैया थाना क्षेत्र के हरबोलवा गांव से मंगलवार की रात अपराधियों ने फिरौती के लिए तेरह वर्षीय बालक का अपहरण कर लिया गया, जिसे चिरैया व ढाका की पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए ढाका के एक किराए के मकान से बुधवार को बरामद कर लिया है. वहीं पुलिस ने दो अपहर्ताओं को रंगेहाथ गिरफ्तार किया है, जिससे आवश्यक पूछताछ की जा रही है. अपहृत मो.आशिफ उर्फ बबलू उक्त ग्रामवासी मो.आशिक का पुत्र है. वहीं पकड़ा गया अपहर्ता उक्त गांव निवासी रामनारायण साह के पुत्र रूपेश कुमार व सुजित साह के पुत्र मंजीत कुमार है. रुपेश मो. आसीफ का दोस्त है. मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार की रात करीब साढ़े आठ बजे रूपेश कुमार आशिफ को बहला फुसलाकर गांव से दक्षिण एक निजी स्कूल के पास ले गया, जहां पहले से एक चार पहिया वाहन खड़ी थी. चार पहिया वाहन में बैठे युवकों ने आशिफ को जबरन गाड़ी में बैठा लिया तथा ढाका ले जाकर किराए के एक कमरे में बंद कर दिया था. इधर देर रात को अपहर्ताओं ने अपहृत के चाचा मो.खालिद को फोन कर कपूर पकड़ी गांव स्थित शिवजी साह के बालू गिट्टी दुकान पर दस लाख रुपये पहुंचाने को कहा था. इसके बाद से परिजनों की बेचैनी बढ़ गई और उसने पुलिस को सूचना दी, जिस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस खोजबीन में लग गई, जिसे बुधवार को ढाका स्थित किराए के मकान से बरामद कर लिया है. थानाध्यक्ष सुनील कुमार ने कहा कि अपहर्ता सहित घटना में शामिल चार पहिया वाहन को बरामद कर लिया गया है. वहीं गिरफ्तार अपहरणकर्ताओं से आवश्यक पूछताछ चल रही हैं.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें