31.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बिहार की ये महिला थानेदार नौकर पर कहर बनकर टूटती रही, ASP खुद आए तो सस्पेंड करके केस दर्ज कराया…

बिहार में एक महिला थानेदार ने अपने नाैकर की बेरहमी से पिटाई की. उसे बंधक बनाकर रखा. बाढ़ एएसपी ने जाकर मामले में कार्रवाई की.

बिहार में एक महिला पुलिस पदाधिकारी पर गाज गिरी है और नौकर को पीटने के आरोप में उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है. हथिदह थानाध्यक्ष निधि मिश्रा पर निजी नौकर सूरज कुमार को दो दिनों तक बंधक बनाकर मारपीट का आरोप लगा है. 27500 रुपये चोरी का आरोप लगा नौकर को लगातार पीटा जा रहा था. इस मामले में पीड़ित नौकर के बयान पर थानाध्यक्ष निधि मिश्रा और उसके करीबी दीपक के खिलाफ एफआइआर भी दर्ज करायी गयी है. वहीं थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया गया.

नौकर और उसकी मां को बेरहमी से पीटा

पीड़ित नौकर सूरज हथिदह गांव का निवासी है. मिली जानकारी के मुताबिक सूरज को मुक्त कराने उसकी मां सीता देवी थाने पहुंची तो उसे भी बेरहमी से पीटा गया. बेटे की जान बचाने के लिए सीता देवी ने आला पुलिस अधिकारी के पास गुहार लगायी. मामला सामने आने पर बाढ़ एएसपी अपराजित लोहान हथिदह थाना पहुंचे और मामले की तहकीकात शुरू की.

ALSO READ: गिरिराज सिंह ने लालू यादव को ‘नीतीश लॉकेट’ पहनने की सलाह दी, बोले- पैर छूकर उन्हें प्रणाम किजिए क्योंकि…

निजी कमरे में रखा था बंद, चोरी का लगाया आरोप

सूरज को एक निजी कमरे में बंद कर रखा गया था. नौकर के खिलाफ चोरी की कोई शिकायत थाने में दर्ज नहीं थी. इसको लेकर एएसपी ने जिम्मेदार थाना अध्यक्ष पर आपराधिक मामला दर्ज करने का निर्देश दिया. साथ ही निलंबन की अनुशंसा कर दी. पीड़ित सूरज का कहना है कि चार माह पहले उसे काम पर रखा गया था. इधर थानाध्यक्ष उसे लेकर टूर पर कश्मीर गयी थी. वापस लौटने के बाद नौकर पर चोरी का आरोप लगाया गया.

एएसपी ने जाकर कराया मुक्त

सूरज को मुक्त करने के बदले 50000 रुपए की मांग की गयी. इसका विरोध करने पर सूरज की मां सीता देवी को भी बेरहमी से पीटा गया. विवश होकर सीता देवी ने आला पुलिस अधिकारी से घटना की शिकायत की. इस शिकायत के बाद थानाध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई की गयी. पीड़ित का कहना है कि 03 जुलाई की सुबह से उसे बेवजह बंधक बनाकर रखा गया था. बाढ़ एएसपी ने दबिश देकर उसे मुक्त कराया.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें