1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. gaya
  5. more than 100 villages will be benefited by farmers old demand in gaya bihar asj

ढाढ़र अपसरण परियोजना का उदघाटन, किसानों की वर्षों पुरानी मांग पूरी, 100 से अधिक गांवों को होगा लाभ

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
प्रभात खबर

गया : जिले के फतेहपुर प्रखंड अंतर्गत सोहजना गांव में ढाढ़र अपसरण परियोजना का उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया. इस दौरान ढाढ़र नदी पर बने बराज के पास सांसद विजय कुमार, डीएम अभिषेक सिंह व अन्य पदाधिकारी मौजूद थे.

ढाढ़र अपसरण परियोजना के संबंध में डीएम ने बताया कि ढाढ़र नदी पर बराज का निर्माण किया गया है. बराज का जल ग्रहण क्षेत्र 349.65 वर्ग किलोमीटर है तथा नदी का अधिकतम जल स्राव 2012 क्यूसेक है. बराज की लंबाई 138 मीटर, बराज-वे स्पीलवे 8 की संख्या में है जो 12.19 मीटर का है.

बराज का शीर्ष तल स्पीलवे 142.38 मीटर तथा बराज का शीर्ष तल अंडरस्लुईस 141.77 मीटर है. उन्होंने बताया कि इस बराज के निर्माण से 6900 हेक्टेयर क्षेत्र लाभान्वित होंगे जिसके द्वारा लगभग 100 गांवों के किसानों को पानी मिलेगा. बराज के निर्माण से जिले के चार प्रखंड यथा फतेहपुर, मोहड़ा, वजीरगंज व टनकुप्पा लाभान्वित होंगे. उन्होंने बताया कि स्पीलवे गेट की ऊंचाई 2.5 मीटर तथा अंडरस्लुईस गेट की ऊंचाई 3.16 मीटर है.

उल्लेखनीय है कि पूर्व में यह प्रोजेक्ट तिलैया ढाढर सिंचाई परियोजना के नाम से जाना जाता रहा है. संयुक्त बिहार में 1982 में बनी यह योजना लंबे वर्षों से लंबित रही. 2000 में झारखंड के अलग हो जाने के बाद इस प्रोजेक्ट को लेकर और भी तकनीकी समस्याएं खड़ी हो गयी.

झारखंड सरकार ने तिलैया से पानी देने से इन्कार कर दिया, यह मामला ट्रिब्यूनल में सुनवाई की प्रक्रिया में है. इसी बीच सुखाड़ झेल रहे किसानों को पानी जल्द मुहैया कराने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने ढाढ़र नदी में वर्षा जल को संचय करने की योजना तैयार की. फतेहपुर में बराज तैयार कर उस पानी को स्टोर कर लिया गया जो अब किसानों के खेतों तक पहुंचेगा.

posted by ashish jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें